हॉकी के महान खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर का निधन, अक्षय कुमार ने फिल्म गोल्ड में निभाया था ‘हॉकी लेजेंड’ का किरदार

1 min


बलबीर सिंह

हॉकी ‘लेजेंड’ बलबीर सिंह सीनियर का 96 की उम्र में निधन , पिछले दो हफ्तों से चल रहे थे बीमार

पूर्व हॉकी कप्तान ,तीन बार ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट और महान हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर का सोमवार को 96 की उम्र में निधन हो गया। वह पिछले दो हफ्तों से कई स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे थे। बलबीर सिंह के परिवार में बेटी सुशबीर और तीन बेटे कंवलबीर, करणबीर और गुरबीर हैं।

8 मई को हुए थे अस्पताल में भर्ती

बलबीर सिंह

Source – Twitter

फोर्टिस अस्पताल मोहाली के निदेशक अभिजीत सिंह ने कहा कि उन्हें 8 मई को यहां भर्ती कराया गया था। सोमवार सुबह लगभग 6:30 बजे उनका निधन हो गया। उनके नाती कबीर ने बाद में पुष्टि की। ‘आज सुबह नानाजी का निधन हो गया। 8 मई को उन्हें फेफड़ों में निमोनिया और तेज बुखार के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

पिछले दो साल में चौथी बार उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया । पिछले साल जनवरी में वह फेफड़ों में निमोनिया के कारण तीन महीने अस्पताल में रहे थे। लेकिन इस बार उन्हें बचाया ना जा सका।

अक्षय कुमार ने जताया दुख

बलबीर सिंह

Source – Twitter

इस दुखद खबर पर बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार ने शोक जताया है। अक्षय ने ट्वीट कर लिखा, ‘हॉकी लेजेंड बलबीर सिंह जी के निधन की खबर सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ है। मुझे अतीत में उनसे मिलने का मौका मिला था और इस बात के लिए मैं खुद को सौभाग्यशाली समझता हूँ। वे बहुत बेहतरीन व्यक्तित्व वाले इंसान थे। उनके परिवार के लिए मेरी दिल से संवेदनाएं।

बता दें कि साल 2018 में आई फिल्म गोल्ड में अक्षय कुमार ने बलबीर सिंह का रोल निभाया था। ये कहानी 1948 के ओलंपिक पर आधारित थी, जब बलबीर सिंह की कप्तानी में भारत ने अपना पहला हॉकी गोल्ड मेडल जीता था। इस फिल्म का निर्देशन रीमा कागती ने किया था और इसमें अक्षय के साथ मौनी रॉय, अमित साध, विनीत कुमार सिंह और सनी कौशल थे।

बलबीर सिंह

Source – Twitter

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हॉकी ‘लेजेंड’ बलबीर सिंह सीनियर के इस दुनिया से चले जाने पर दुख जाहिर किया है।

हॉकी ‘लेजेंड’ बलबीर सिंह सीनियर की उपलब्धियां

देश के महानतम ऐथलीट्स में से एक बलबीर सिंह सीनियर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा चुने गए आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महानतम ओलिंपियनों में शामिल थे।

हेलसिंकी ओलंपिक (1952) फाइनल में नीदरलैंड के खिलाफ पांच गोल का उनका रिकॉर्ड आज भी कायम है। उन्हें 1957 में पद्मश्री से नवाजा गया था। बलबीर सीनियर ने लंदन (1948), हेलसिंकी (1952) और मेलबर्न (1956) ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीते थे। इसके अलावा वह वर्ल्ड कप 1971 में ब्रॉन्ज और वर्ल्ड कप 1975 में गोल्ड जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के मुख्य कोच थे।

ये भी पढ़ें– लॉकाडाउन में सलमान खान ने लॉन्च किया पर्सनल केयर ब्रांड FRSH, सैनेटाइजर से की शुरुआत


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये