बॉलीवुड में किस धूम और शान से मनाई जाती है दीपावली, तब भी और अब भी

1 min


दीपावली का त्यौहार बॉलीवुड में कुछ ऐसा रिलीफ लेकर आता है जिसका इंतजार बॉलीवुड स्टार्स पलक पावडे बिछा कर करते हैं। यह वो त्यौहार है जिसे फिल्म स्टार्स से ज्यादा धूमधाम से और कौन मना सकता है?  इसमें लेट नाइट कार्ड गेम्स और मस्ती अपने पूरे शबाब में होती है। इन जश्न भरी झिलमिलाती दीपावली पार्टियों की शुरुआत सब से पहले ऑरिजिनल शोमैन राज कपूर ने की थी, जहां से पार्टी और कार्ड गेम खेलने का दौर शुरू हुआ था।

शशि कपूर के साथ मिलकर राज कपूर हर वर्ष दीपावली उत्सव का आयोजन भव्य रूप से रखते थे, जहां बॉलीवुड के टॉप स्टार्स, फिल्मेकर्स, शिरकत करते थे, ताश खेलते और सौ प्रकार के बने लजीज भोजन का आनंद लेते थे। वाइन तो पानी की तरह बहता था। इसके बाद जब राजेश खन्ना का सुनहरा दौर शुरू हुआ तो उन्होंने डिंपल कपाड़िया के साथ मिलकर अपने घर में दीपावली उत्सव मनाना शुरू किया और वहां से शुरू हुआ सुपर स्टार्स द्वारा अलग-अलग दीपावली पार्टियों का आयोजन का दौर और फिर राज कपूर द्वारा आयोजित एक छत के नीचे पूरी बॉलीवुड के इकट्ठा होकर दीपावली मनाने का चलन धीमा पड़ने लगा। अब स्टार्स और फ़िल्म मेकर्स के अपने अपने दोस्तों का ग्रुप बनने लगा और कैंप का ट्रेंड चल पड़ा जो आज भी जारी है।

बॉलीवुड के कौन से स्टार, कौन से खेमे के हैं यह आप उनके दीपावली पार्टियों में शामिल होने को लेकर पकड़ सकते हैं। जितेंद्र, राकेश रोशन, ऋषि कपूर, प्रेम चोपड़ा और स्वर्गीय सुजीत कुमार का अपना ग्रुप बना जो हर दिवाली पर एकजुट होकर खूब मौज मस्ती करते रहे, लजीज खाना पीना, ताश खेलना, गप्पे लड़ाना इनके दिवाली गेट टुगेदर  में शामिल होती थी । सुजीत कुमार के निधन के बाद भी बाकी दोस्त आज भी दिवाली पर मिलते हैं लेकिन अब वे उम्र के हिसाब से खाने पीने में अच्छा खासा एहतियात रखते हैं। खबरों की माने तो अस्सी के दशक में यह ग्रुप पांच लाख तक के गेम भी खेलते थे और इस खेल में माहिर खिलाड़ी जितेंद्र जहां ज्यादातर बाजी जीत जाते थे वहीं ऋषि कपूर की किस्मत उन्हें अक्सर हार का मुंह दिखाती थी। उनकी दोस्ती के चालीस, पचास दशकों में पचास साठ लाख की हार जीत शामिल है।

अमिताभ बच्चन के ‘जलसा’ बंगले में आयोजित होने वाली दीपावली उत्सव की भव्यता इस बात से ही ज़ाहिर हो जाती है कि लोग उनके बंगले पर आयोजित पार्टी की तुलना राज कपूर की भव्यतम दीपावली उत्सव से करते है। इस दीवाली पार्टी की शान अनोखी होती है जहाँ हर तरह के मेहमानों की अलग अलग ढंग से खातिरदारी होती है। खुद अमिताभ, ज्यादा खाते भी नहीं और पीते भी बिलकुल नहीं लेकिन उस रात  खाने पीने का ऐसा छत्तीस सौ भोज का आयोजन होता है कि कई मेहमान तो सिर्फ खाने का आनन्द लेने वहाँ जाते है। ये आयोजन पूरी तरह जया भादुड़ी बच्चन तय करती है और मेनू भी। खुद अमिताभ सर, पत्ते नहीं खेलते पर वहां कार्ड गेम का टेबल जरूर लगता है, जो मेहमान चाहे वो खेले। वे और जया जी सब मेहमानों से मिलते बतियाते हुए घूम घूम कर सबका ख्याल रखतें हैं। आमिर खान ज्यादातर अपने परिवार, दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ दीपावली मनाते हैं और कार्ड भी खेलते हैं लेकिन जैसा कि उनका नेचर है परफेक्शनिस्ट होने का, तो वे बड़े एहतियात और परफेक्शन के साथ कार्ड खेलते हैं लेकिन इस खेल में वे कभी भी रौ में नहीं बहते, बल्कि बहुत ही कंट्रोल रखते हैं। यहां तक कि जब बाजी उनके हाथ में होती है तब भी वे खुश होकर जोश में नहीं आते बल्कि और ज्यादा संभलकर दाँव चलाते हैं।

शाहरुख खान के घर ‘मन्नत’ पर दीपावली की वह पार्टी मनाई जाती है जिसमें शामिल होने की मन्नत सभी मांगते हैं। इ स पार्टी की ए टू जेड आयोजन शाहरुख खान की वाइफ डियर गौरी करती है जो सिर्फ लैविश ही नहीं बल्कि बेहद स्टाइलिश और सुरुचिपूर्ण भी होती है। इस पार्टी में यूं तो बॉलीवुड के सभी टॉप दिग्गज शिरकत करते हैं लेकिन करण जोहर, संजय कपूर, महीप कपूर, सबीना खान, चंकी पांडे उनकी पत्नी भावना पांडे जमकर कार्ड खेलते हैं। खबरों की माने तो शाहरुख खान कोई स्पेशल गेम नहीं खेलते बल्कि अपने मूड के अनुसार खेलते हैं और वे बाजी उसी हिसाब से लगाते हैं जैसे सामने वाले की पॉकेट होती है। अमीर स्टार दोस्तों के साथ बड़ा दांव लगाते हैं तो सादे सिंपल पुराने दोस्तों के साथ छोटे-छोटे दांव लगाते हैं ताकि उनके दीपावली जश्न में सभी मेहमान कार्ड खेल सके और किसी को भी भारी नुकसान ना हो। सिर्फ यही नहीं, शाहरुख तो इस पर भी बेट लगाते हैं कि कौन कार्ड गेम जीतेगा और इस बेट की रकम ₹10 की होती है। अक्षय कुमार और ट्विंकल के घर पर भी दीपावली पार्टी की शान देखते ही बनती है। अक्षय जहां भारतीय जवानों और प्राकृतिक आपदा से पीड़ित आम जनता को दिल खोलकर मदद करते हैं वही अपने घर पर भारतीय त्योहारों का जश्न भी दिल खोलकर पारंपरिक तरीके से मनाते हैं। जहां कार्ड गेम की बात है तो अक्षय कुमार इस खेल के भी माहिर खिलाड़ी हैं। उन्हें तो ‘कार्ड गेम मास्टर’ और ‘कार्ड गेम जादूगर’ भी कहा जाता है। सबसे आश्चर्य की बात यह है कि दीपावली की रात उनकी किस्मत का जोर सौ गुना बढ़ जाता है और वे हर बाजी जीत जाते हैं। वे इतने गुरु है कार्ड गेम में कि पहले से ही प्रेडिक्ट कर सकते हैं कि कौन जीतेगा और कौन हारेगा। उनके रेगुलर कार्ड गेम दोस्त है बॉबी देओल, विपुल शाह, अनीस बजमी तथा कई गैर फिल्मी दोस्त। मजे की बात यह है कि बॉबी देओल कार्ड गेम में काफी अनाड़ी है और अक्सर हारते रहते हैं।

साजिद खान के घर पर भी दीपावली कार्ड पार्टी की टेबल बिछती है और वे कार्ड गेम के मामले में काफी रिस्क लेने वाले खिलाड़ी माने जाते हैं, जो दिल खोलकर दाँव लगाते हैं। उनके साथ जो कोई खेलने जाते हैं, जैसे फराह खान, साजिद नडियादवाला, रितेश देशमुख, अरबाज खान, अमृता अरोरा, मलाइका अरोरा वगैरा, वे भी ज्यादा माल मलीदा लेकर तैयार रहते हैं।  उधर रितिक रोशन, जायद खान, फरदीन खान, दीया मिर्जा, सुजैन खान का अपना दीपावली पार्टी ग्रुप है, वे  कार्ड खेलते भी हैं तो सिर्फ शगुन के तौर पर और कभी ज्यादा पैसा दांव पर नहीं लगाते। किशन कुमार के घर में शानदार दीपावली पार्टी का आयोजन होता है जिसमें ज्यादातर संगीत की दुनिया के दोस्त और मेहमान शामिल होते हैं जैसे सोनू निगम, मीका सिंह, शान। किशन कुमार दो तरह के कार्ड टेबल लगाते हैं, जिसमें एक सिर्फ उन दोस्तों के लिए जो शगुन के तौर पर कार्ड खेलते हैं और दूसरा वह जो बिना लिमिट के कार्ड खेलना चाहते हैं। शिल्पा शेट्टी कुंद्रा के घर पर भी दीपावली पार्टी बड़े ही धूमधाम से मनाई जाती है। खाने पीने का लैविश आयोजन के साथ साथ ताश के ढेर सारे गेम सजते है। फ़िल्म इंडस्ट्री के तमाम फ्रेंड्स से लेकर उनके पति के दोस्तों का जमावड़ा होता है और कार्ड गेम्स की धूम मचती है। शिल्पा कहती है, “मुझे तीन पत्ती खेलना बहुत पसंद है। जब मैंने ताश खेलना शुरू किया था तो अक्सर हार जाती थी लेकिन अब मैं इस खेल में प्रो हो गई हूं और ज्यादातर जीत जाती हूं।”

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

SHARE

Mayapuri