मैं हार मानने वालों में से नही हूँ..’’ -सृष्टि जैन

1 min


Srishti Jain interview

-शान्तिस्वरुप त्रिपाठी

भोपाल में जन्मी और फिल्म ‘वार छोड़ ना यार’ में बतौर बाल कलाकार अभिनय करने के बाद टीवी सीरियल ‘एक सुहानी सी लड़की’ से छोटे परदे पर कदम रखने वाली अदाकारा सृष्टि जैन की अपनी एक अलग पहचान बन चुकी है। ‘एक सुहानी सी लड़की’ के बाद ‘मेरी दुर्गा’, ‘मैं मायके चली जाउंगी’, ‘‘एक थी रानी एक था रावण’’, ‘‘लाल इश्क’’ जैसे सीरियलों में अभिनय कर अपनी एक अलग पहचान बनाने के साथ खुद को एक उत्कृष्ट अदाकारा के रूप में स्थापित करने के बाद सृष्टि जैन अब ‘जीटीवी’ पर 20 अक्टूबर से जीटीवी पर प्रसारित होने वाले सीरियल ‘हमारी वाली गुड न्यूज’ में नव्या के किरदार में नजर आने वाली है। वैसे गत वर्ष वह फिल्म ‘पेनल्टी’ में पूजा के किरदार में नजर आयी थीं।

हाल ही में सृष्टि जैन उस वक्त भी चर्चा में आयी थीं,जब अपने नए ब्रांड के नए फोटोशूट से लोगों के दिलों की धड़कनें बढ़ा दी। उन्होने खाकी शर्ट के साथ ऊबड़ खाबड़ जॉगर्स की जोड़ी हो या सफेद जींस और हरे रंग की क्रॉप टॉप वाली एक समर आउटफिट की तस्वीरें अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट करते हुए दावा किया था कि उन्होने न्यूनतम मेकअप किया हैं।

लगभग छह वर्षों से अभिनय जगत में अपने झंडे गाड़ती आ रही अभिनेत्री सृष्टि जैन का दावा है कि अभिनय का सपना तो उनके लिए दूर की कौड़ी जैसा था। खुद सृष्टि जैन कहती हैं- ‘मैं हमेशा अभिनय को लेकर रोमांचित थी। सच कहूँ तो मैं सदैव अभिनेत्री बनना चाहती थी। लेकिन उसी समय यह हमेशा एक दूर की कौड़ी लाने के सपने जैसा लगता था। क्योंकि मेरे घर में कला या अभिनय का कोई माहौल ही नहीं था।मैं इंजीनियरों और डॉक्टरों के परिवार से सम्बंध रखती हूं। पर अचानक मेरे पिता को मुंबई में नौकरी मिल गई और हम मुंबई रहने आ गए। तब मुझे लगा जैसे नियति ने मुझे अपने सपने के करीब ला दिया है। तभी मैंने अपने माता-पिता से बात करने की हिम्मत पैदा की।’’

Srishti Jain interview

माता पिता से इजाजत मिल जाने भर से सृष्टि जैन का संघर्ष खत्म नहीं हुआ था। उनका असली संघर्ष तो तब षुरू हुआ था, जब उन्होने ऑडिशन देना शुरू किया। खुद सृष्टि बताती हैं- ‘सच कहूं तो मेरा असली संघर्ष तब शुरू हुआ, जब मैंने ऑडीशन देना शुरू किया। मुझे फिल्म व टीवी इंडस्ट्री के बारे में कुछ नहीं पता था। मुझे नही पता था कि किस तरह लोगों से संपर्क करके अभिनय करने का काम मांगा जाए। मैं अपनी कॉलेज की पढ़ाई को भी नुकसान नहीं पहॅुचाना चाहती थी। फिर मैने योजना बनायी,जिससे मैं ऑडीशन देने जाती थी,पर कालेज के हर लेक्चर में भी मौजूद रहती थी। मैने अनगिनत ऑडीशन दिए। मुझे याद है कि मैं उन दिनों मेट्रो से यात्रा करती थी। यह आसान नहीं था और ऐसे समय थे जब मेरे आस- पास के लोग मुझ पर हंसते थे। वह मुझे बेवकूफ मानते हुए मुझे पर किसी ऐसी चीज के लिए पीछा करने के लिए ताना देते थे, जिसकी गारंटी नहीं थी।मैने काफी रिजेक्षन भी झेले। पर मैने हार नही मानी। तभी तो इस मुकाम तक पहुँच पायी हूँ।

पहला ब्रेक मिलने की चर्चा करते हुए सृष्टि जैन कहती हैं- ‘‘जब मुझे अपना पहला ब्रेक मिला, तो मैंने डिजाइन कॉलेज छोड़ दिया। यह एक बहुत बड़ा निर्णय था। जबकि हर किसी ने मुझसे ऐसा करने से मना किया था। लेकिन उस वक्त मेरे माता-पिता ने मेरा समर्थन किया। आज मुझे खुशी है कि मैंने यह कदम उठाया था। उसके बाद सीरियल की षूटिंग करते हुए मैने पत्रचार से पढ़ाई जारी कर मनोविज्ञान विषय में स्नातक की डिग्री हासिल की। भगवान मेरे लिए महान हैं और मैं बहुत शुक्रगुजार हूं।‘

Srishti Jain interview

अपने नए सीरियल ‘मेरी वाली गुड न्यूज’ शो और नव्या की भूमिका के बारे में बात करते हुए सृष्टि जैन कहती हैं-‘‘‘यह सीरियल काफी दिलचस्प,अद्वितीय,ताजा और प्रगतिशील है। मैं इसमें नव्या का रिकदार निभा रही हूँ, जो कि नेक्स्ट-डोर लड़की है। वह मजबूत -नेतृत्व वाली हैं। वह हमेशा जो सही है, उसी को आवाज देती है उसके लिए खड़े होने में विश्वास करती है। परिवार के दबाव के कारण उसने बहुत जल्दी शादी कर ली। वह 23 साल की है और अभी भी दिल से वह बच्चा है। लेकिन साथ ही वह परिपक्व है। वह हमेशा खुश रहती है और कभी भी परेशान नहीं होती है। सभी से प्यार करती है। ”


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये