फिल्ममेकर फराह खान ने तो शपथ ले ली है

1 min


आज के बेदर्द जमाने में, जब सब लोग सिर्फ अपना ही अपना सोचते हैं, तब अगर कोई मानवता की एक मिसाल भी प्रस्तुत करे तो लगता है, अभी भी ऑल इज़ वैल। मैं बात कर रही हूँ सुप्रसिद्ध फ़िल्म मेकर और कोरियोग्राफर फराह खान की, जिन्होंने कुछ समय पहले अपनी आँखे दान करने का निश्चय किया था और उस ‘प्लेज’ के कुछ समय बाद ही उन्होंने अपने पूरे शरीर के हर ऑर्गन को अपनी मृत्यु के पश्चात दान करने का मन बना लिया है। फराह का कहना है ऑर्गन डोनेशन का निश्चय हर इंसान को करना ही चाहिये क्योंकि अगर हमने ऐसा नहीं किया तो मृत्यु के बाद हमारे ऑर्गन बेकार हो जायेंगे। इससे अच्छा कि वे किसी के काम आ जायें, आज हम किसी की सोचेंगे तो कोई हमारे बच्चों की सोचेगा।” फराह की एक चाहत यह भी है कि जब हम अपने बच्चों से अच्छा इंसान बनने को कहते हैं तो खुद पहले अच्छे इंसान बनकर दिखाना चाहिये, ताकि हमारे बच्चों को भी फक्र हो हम पर।

SHARE

Mayapuri