‘‘मैं अपने आपको सिर्फ फिल्मों तक सीमित नहीं रखना चाहता ।’’-भावेश कुमार

1 min


Bhavesh-Kumar

बॉलीवुड के सर्वाधिक उंचे कद के अभिनेता के रूप में शुमार किए जाने वाले अभिनेता भावेश कुमार ने 2019 में मनोज तिवारी निर्देशित फिल्म ‘प से प्यार फ से फरार’ में अभिनय कर अपने करियर की शुरूआत की थी। रोहतक, हरियाणा निवासी भावेश कुमार के पिता अंतर्राष्ट्रीय स्तर के बाक्सर है। 16 साल की उम्र तक वह एथलिट बनना चाहते थे, मगर उसके बाद अचानक उनके सिर पर अभिनेता बनने का भूत सवार हो गया और अब वह बतौर अभिनेता व्यस्त हैं। ‘‘प से प्यार फ से फरार’’ में अभिनय करने के बाद उन्होंने योगेश वत्स निर्देशित फिल्म ‘हवाएं’ के अलावा सोनिया वर्गीज के साथ निर्देशक युधिष्ठिर सिंह की फिल्म ‘‘भाई की शादी’’ भी की है। उन्हें इन दोनों फिल्मों के प्रदर्शन का इंतजार है।

 सुना है कि आप पहले अभिनेता की बजाय अपने पिता की ही तरह बॉक्सर बनना चाहते थे?

– जी हाँ! जैसा आप जानते हैं कि  मैं एक स्पोर्ट्स बैकग्राउंड से आता हूं। मेरे पिता अंतर्राष्ट्रीय स्तर के बाक्सर है। मैंने राष्ट्रीय स्तर पर डिस्क थ्रो इवेंट्स में भाग लिया है। पर अचानक ही मैं फिल्मों की तरफ मुड़ गया।  जब मैंने अपने परिवार वालों को बताया कि मैं एक हिंदी फिल्म ‘‘प से प्यार फ से फरार’’ में अभिनय करने जा रहा हूँ, तो सभी को झटका लगा। लेकिन उन्होने फिल्म के निर्देशक मनोज तिवारी से बात करने के बाद मुझे इजाजत दे दी थी।

bhavesh kumar interview

 आपको पहली फिल्म ‘प से प्यार फ से फरार’ कैसे मिली थी?

– मैं रोहतक के ही एक स्टेडियम में हर दिन अभ्यास करता था, जिसके पास में एक फिल्म और टीवी संस्थान था। मैंने शौकिया वहां कुछ वर्कशॉप की। एक दिन फिल्म की कास्टिंग टीम वहां आई थी, उन्हें एक एथलेटिक की तलाश में थी। मैं एथलिट होने के साथ साथ अभिनय की ट्रेनिंग ले रहा था, इसलिए मेरा चयन हो गया।

 फिल्म के प्रदर्शन के बाद आपके परिवार की क्या प्रतिक्रिया रही?

– सभी को फिल्म ‘‘प से प्यार फ से फरार’’ काफी पसंद आयी। सभी बहुत खुश थे। मेरे दोस्तों और परिवार ने वास्तव में मेरे काम की सराहना की। एक शुरुआत के रूप में यह एक अच्छा अनुभव था।

 पहली फिल्म के बाद?

– दो फिल्में की हैं। योगेश वत्स निर्देषित फिल्म ‘‘हवाएं’’ के अलावा सोनिया वर्गीज के साथ निर्देशक युधिष्ठिर सिंह की फिल्म ‘‘भाई की शादी’’ भी की है। पर कोरोना महामारी की वजह से इनका प्रदर्षन लटका हुआ है।

 इन दिनों लोग ओटीटी प्लेटफार्म पर वेब सीरीज भी कर रहे हैं. आप भी करना चाहेंगें?

– मैं अपने आपको सिर्फ फिल्मों तक सीमित नहीं रखना चाहता। मैं मनोरंजन के हर प्लेटफार्म, माध्यम को भी एक्सप्लोर करना चाहता हूं। अगर मुझे अच्छे प्रस्ताव मिलते हैं, चाहे वह फिल्में हों या टीवी या वेब, मैं निश्चित रूप से इस पर विचार करूंगा।

bhavesh kumar interview

 क्या आप टीवी सीरियल देखते हैं?

-जी हाँ! सिनेमा व टीवी सीरियल देखते देखते ही मेरे अंदर अभिनय के प्रति रूचि पैदा हुई थी। मुझे ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है‘ और ‘कुमकुम भाग्य‘ देखना बहुत पसंद है। मेरी मां और दादी टीवी सीरियलों की  बड़ी प्रशंसक हैं और यह दोनों सीरियल उनके भी पसंदीदा सीरियल हैं।

 आपका छः फुट छः इंच ऊंचा कद समस्या पैदा नहीं करता?

– जब मैं 9 वीं कक्षा में पढ़ रहा था, तब मेरा कद 6 फुट 4 इंच था। पर जब मैं 12 वीं पहुॅचा, तब मेरा कद 6 फुट 6 इंच हो गया था। जब मैंने पहली बार कैमरे का सामना किया, तो अपने उंचे कद की ही वजह से मैं बहुत नर्वस था। क्योंकि मेरे लिए यह पहला मौका था, जब मेरा कद समस्या थी। मगर निर्देषक व कैमरामैन ने सब कुछ संभाला। लोगों को आश्चर्य होता है जब उन्हें पता चलता है कि मैं 6 फुट 6 इंच ऊंचाई का हूं।

bhavesh kumar interview

 आपके सह-कलाकारों के साथ जोड़ी?

– इस सबंध में मैंने कभी सोचा ही नहीं था। लेकिन मैं यह उल्लेख करना चाहूंगा कि अमिताभ बच्चन और जया बच्चन की ऑन-स्क्रीन और ऑफ- स्क्रीन जोड़ी अभी भी दर्शकों की पसंदीदा है। बॉलीवुड के अन्य कलाकार हैं, जो बहुत लंबे हैं, वह भी सफल है। इसलिए मुझे भी लोग स्वीकार करेंगे, ऐसा मुझे यकीन है।

 कोई खास किरदार करने की इच्छा है?

– मैं 2018 में अर्जुन पुरस्कार से नवाजे जा चुके नीरज चोपड़ा की बायोपिक फिल्म में उनका किरदार निभाना चाहूंगा। भाला फेंक में उनका राष्ट्रीय रिकॉर्ड है।

– शान्तिस्वरुप त्रिपाठी


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये