‘‘मैं अभिनय करना भूल गयी थी’’ – दृष्टि धामी

1 min


कुछ लोग जन्मजात एक्टर होते हैं। दृष्टि धामी ऐसी ही एक कलाकार हैं जिन्होंने अपनी प्रतिभा से हर नये किरदार में जान डाल दी है। फिलहाल ‘परदेस में है मेरा दिल’ में नैना के आम लड़की वाले किरदार के लिये उन्हें ढेरों तारीफें हासिल हो रही हैं और दृष्टि अपनी शादीशुदा जिंदगी और नये किरदार को लेकर बेहद खुश हैं।

लेकिन कुछ महीनों पहले जब दृष्टि ने शादीशुदा जिंदगी का आनंद लेने के लिये अपने शोज से ब्रेक लेकर घर पर रहने का फैसला किया था। वह ऐसे बिंदु पर पहुंच गयी थीं जहां से वह छोटे पर्दे की ओर लौटने की सोचतीं तो उन्हें घबराहट होने लगती। दृष्टि बताती हैं, ‘‘मैं रो रही थी कि मैं अभिनय करना भूल गयी हूं।’’

उनकी प्रतिभा और पर्दे पर उनके जादू को देखते हुये उन्हें उपयुक्त किरदार न मिलने की कोई वजह ही नहीं थी। एकता कपूर द्वारा अपने नये शो के लिये बुलाये जाने पर दृष्टि स्टार प्लस पर नैना का किरदार निभा कर बेहद खुश हैं। थोड़ी परेशानी हुयी क्योंकि उनकी जिंदगी ने फिर से घर से सेट और फिर अगले दिन वापसी वाले शेड्यूल पर वापसी कर ली थी। वह कहती हैं, ‘‘मैं नये शो में काम करने को लेकर तनाव में आ जाती हूं। फिर एक हफ्ते बाद मुझे अपने शो और अपने किरदार की गहराई महसूस होती है और फिर मुझे ऐसा लगने लगता है जैसे वही मेरी असली जगह है।’’

हम आपको हमेशा प्यार करते हैं दृष्टि !

देखिए दृष्टि धामी को नैना के किरदार में परदेस में है मेरा दिल में हर सोमवार से शुक्रवार रात 8 बजे सिर्फ स्टार प्लस पर !


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये