“I hate politics” धर्मेन्द्र बोले।

1 min


Dharmendra-young-photos

 

एक पॉलिटिकल पत्रकार बोले। आज की स्थिति से तो लगता है कि हम गलत लाइन में आ गए हैं। जुबानों पर ताले पड़ गए हैं।

धर्मेन्द्र बोले आपको अगर गलत लगता है तो लाइन छोड़ दीजिए, मुझे खुशी होगी। हालांकि मैं समझता हूं कि आज जो कुछ हो रहा है, बहुत अच्छा हो रहा है। इस से पॉलिटिक्स में सुधार आ जाएगा। देश उन्नति करेगा।

इतने स्टार्स एक के बाद एक ‘फ्लॉप’ फिल्में देते हैं फिर भी लाइन छोड़कर नहीं जाते। हालांकि उन्हें चला जाना चाहिए। आप क्या समझते है?

अरे उम्मीद पर दुनिया कायम है। वह इस उम्मीद पर काम किये जाते हैं कि एक न एक दिन हिट हो जाएंगे। धर्मेन्द्र बोले।

छोड़िये, धरम जी यह बताइये की आपकी सबसे बढ़िया फिल्म कौन-सी है और आप कैसी एक्टिंग पर विश्वास करते हैं?

मेरी सबसे बढ़िया फिल्म अभी तक नहीं आई है। क्योंकि अगर कलाकार यह समझ लेता है कि यह मेरी बढ़िया फिल्म है तो यह उसकी खाम ख्याली है। संतुष्टि तो कलाकार की मौत है। हां, जहां तक अभिनय का सवाल है मैं स्वाभाविक अभिनय में विश्वास करता हूं। इस हिसाब से मैं फिल्म ‘गुड्डी’ को पसंद करता हूं। उसमें मुझे अभिनय नहीं करना पड़ा। मैं जो कुछ हूं जैसा हूं वहीं मैंने पोर्टर किया है। किंतु उस समय लोगों ने लिखा कि धर्मेन्द्र ने एक एंटीक हीरो भूमिका की है। हालांकि कि ऐसा न था। क्योंकि बाद में लोगों ने उस फिल्म में मेरे अभिनय की तारीफ की। धर्मेन्द्र ने बताया।

उस फिल्म में काम वाकई बहुत बढ़िया था, जैसा काम आप कर गए हैं कोई नहीं कर सकता। फिल्मों में हीरो धर्मेन्द्र का यह कहना है कि आजकल लड़कियां राजेश खन्ना पर मरती हैं। बहुत बड़ी बात है। कोई हीरो ऐसा संवाद नहीं बोल सकता। हकीकत है। उसे झुठलाया नहीं जा सकता। अमिताभ मुझसे अच्छे एक्टर हैं। उनके पास आवाज़ है, भावपूर्ण चेहरा है। इसलिए शोले में उन्होंने मुझसे अच्छा काम किया है। यह मैंने सुबह ही एक इंटरव्यू में कहा है।

आप चाहे कुछ कहें लेकिन आज आप से बड़ा हीरो नहीं हैं। हमने कहा।

नही, यह आप लोगों की दुआएं और मुहब्बत है वरना मैं ऐसा नही समझता। धर्मेन्द्र ने अपनी महानता का प्रमाण देते हुए कहा।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये