मैं काफी डायरेक्शन कर चुकी हूँ: दिव्या खोसला कुमार

1 min


-लिपिका वर्मा

दिव्या खोसला कुमार, अभिनेत्री, निर्देशिका, निर्मात्री है जो हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में एक अच्छी खासी पहचान रखती है। हालाँकि दिव्या जब केवल १७ वर्ष की थी तब उन्होंने,‘‘अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों‘‘ फिल्म से डेब्यू किया.किन्तु उसके तुरंत बाद, उन्होंने टी ‘सीरीज के हेड भूषण कुमार के साथ ब्याह रचा लिया। और वो बतौर कुछ वर्षों से म्यूजिक वीडियो निर्देशित करती रही और कुछ वीडियो में अभिनय भी किया। अब कुछ वर्षों बाद बड़े परदे पर दिव्या जॉन अब्राहम स्टार्रर फिल्म,‘‘सत्यमेव जयते 2 ‘‘ में नजर आऐगी। दिव्या का मानना है की क्यूंकि वो वीडियो डायरेक्ट और एक्ट भी कर रही थी इन वर्षो में तो यह फिल्म, उनके लिए कम बैक फिल्म नहीं है, ‘‘मैं तो हमेशा से यही रही हूँ, यहाँ काम करती रही, तो यह मेरा कम बैक कैसे हुआ? मैं कही गयी ही नहीं थी। मिलाप जवेरी निर्देशित फिल्म ‘‘सत्यमेव जयते 2 ‘‘ के निर्माता भूषण कुमार टी सीरीज, एवं मोनिशा अडवाणी, मधु भिजवानी निखिल अडवाणी एंव एंटरटेनमेंट की फिल्म है। 25 नवंबर 2021 को यह फिल्म रिलीज होगी।

आप को एक्टिंग या निर्देशन करना, क्या सरल लगता है आपको?

जी मैं काफी डायरेक्शन कर चुकी हूँ। और सच कहूं तो निर्देशन करना अभिनय करने से बहुत कठिन होता ै। पर मैं क्या बोलूं? आप लोग फिल्म देखने के बाद बतलायें कि मैंने  कैसे परफॉर्म किया है। मै अपना खुद जजमेंट कैसे दे सकती हूँ। डायरेक्टर मिलाप जवेरी ने मेरा रोल बहुत सशक्त लिखा है और मेरे काम से ,वो खुश भी बहुत हए। मुझे जॉन अब्राहम के साथ एक्शन फिल्म में ,काम करने का मौका मिला यह मेरा अहोभाग्य है। यह एक ऐसा किरदार है जो मेरे लिए आगे भी मौके दिलाता रहेगा।

 जॉन अब्राहम के साथ आपका किस तरह का एक्शन रहा सेट्स पर?

मेरा एक्वेशन जॉन के साथ सेट्स पर जाने के पहले ही दोस्ती जैसा हो गया था। और यह स्क्रीन पर नजर भी आएगा। हमारी  बेहतरीन केमेस्ट्री हाल ही में फिल्म का दूसरा गाना जो रिलीज हुआ है उसमें नजर भी आ रही है। हम दोनों में बेइन्तहा कम्फर्ट लेवल था। वो सेट पर पूर्णतः तैयारी करके आते और यदि सवेरे 5 बजे पहुंचना हो तो एकदम समय पर पहुँच जाया  करते। वो बहुत ही।वो अपना काम बेहद निष्ठा से करते है। उनका काम के प्रति निष्ठा देख उनके साथ काम कर बहुत कुछ सीखने को भी मिला।

क्या आप डायरेक्शन मिस कर फिलहाल?

जी शुरू में जैसे मैंने यह फिल्म साइन किया और एक्टिंग शुरू की तो ऐसा लगा कुछ तो मिस हो रहा है। किन्तु अभिनय करना है यह सोच कर ठीक लग रहा है अब.

क्या आप को मिलाप के संग सीओ-डायरेक्ट करने का मन नहीं हुआ?

जी नहीं। जब आप बतौर अभिनेता सेट्स पर जाते है तो आपकी मनोस्तिथि अलग हो जाती है। मिलाप जहावेरी के सेट पर थी सो उनके हिसाब से ही काम करना था मुझे और मैंने ऐसा ही किया।

 आप को नहीं लगता ऑडियंस का शादी-शुदा एक्टर्स के प्रति एक अलग विचार होता है?

ऐसा नहीं है। अब समय अब बदल चूका है। मेरे हाल ही में रिलीज हुए हिट सांग्स को  सभी का सपोर्ट मिला। आज के समय में जो भी किरदार आप निभा रहे हो उस में आप का ऑडियंस के साथ कनेक्शंस जुड़ाव, होना जरुरी होता है। वो आपको उसी किरदार के नजरिये से देखते है न की शादी-शुदा महिला के रूप में। किसी को आपके किसी भी रिश्ते से कोई फर्क नहीं पड़ता है। वैसे महिलाओं के लिए काफी कुछ ओपन हो चुका है यह करना है महिला सशक्तिकरण को महत्व मिल रहा  है। देखा जाए, तो दीपिका पादुकोण और अनुष्का शर्मा भी निर्माताध्अभिनेता दोनों भूमिका अच्छी तरह से निभा रही  है।

 आपके पति टी सीरीज, के हेड आपकी अभिनय क्षमता को कैसे देखते है? क्या उसकी सराहना करते है या आलोचना? 

भूषण कुमार मेरी अभिनय क्षमता की आलोचना नहीं करते है। हम यदा-कदा काम से जुड़ी बातें घर पर करते है। हमारी पूरी फैमिली का मुझे सपोर्ट है।

 आप किस से अपनी फिल्मों और किरदार के बारे में चर्चा करती है?

अक्सर जो भी इनपुट मुझे निर्देशक देते है मैं उस पर ही अम्ल करती हूँ।बस उनकी हर बात को जेहन में रख कर ही सेट पर जाया करती और  हिसाब से अभिनय करती। देखा जाये तो मैं किसी से कोई भी  सलाह मशवरा नहीं करती हूँ। आपके अंदर एक हद तक खुद में किरदार को अच्छी तरह से निभाने का  कॉन्फिडेंसख्आत्मविश्वास, भी होना चाहिए क्योंकि आपने वो किरदार निभाने की जिम्मेदारी जो ली है। हमें केवल निर्देशक के हिसाब से आगे चलना चाहिए और उससे हर तरह से सहयोग भी करना चाहिए। मैं बतौर अभिनेता सेट्स पर तयारी से पहुँचती हूँ। कोई भी निर्देशक एक्टिंग क्लासेस सेट पर न तो चलाना चाहेगा और न ही उसके पास इतना समय होगा।

SHARE

Mayapuri