मैंने कभी किसी भेदभाव का सामना नहीं किया हैं!- ईशा देओल

1 min


ईशा देओल ने हेमा मालिनी की विरासत को आगे बढ़ाया

हेमा और धरम की बड़ी बेटी ईशा देओल तख्तानी अपनी माँ की तरह मल्टी-टास्किंग पसंद करती हैं जैसा कि उनके पहले के साक्षात्कारों में कहा गया था कि वह फिल्मों के निर्माण और अभिनय में भी काम करेंगी। साथ ही अपने घर बनाने के कौशल का सम्मान करते हुए दोनों को समय देगी ,और वैसा  ही किया ईशा ने। ईशा ने अपना वादा और परिवार की विरासत को आगे ले जाने की एवं  अपनी माँ की इच्छा को निभाया है। हेमा मालिनी माँ, ने हमेशा विरासत को आगे बढ़ाने के लिए ईशा पर अपनी आशाएं संजोय रखी थीं। दिए गए उनके बयानों के अनुसार ईशा ने अपनी पहली फिल्म, ‘एक दुआ’ के साथ प्रोडक्शन में कदम रखा है, निर्देशक राम कमल मुखर्जी के साथ एकजुट होकर, फिल्म केकवॉक, की और अब एक दुआ से बतौर अभिनेत्री और निर्माता कदम रख रही है ईशा  अपने प्रोडक्शन हाउस ‘भारत ईशा प्रोडक्शंस’से हाल ही में रिलीज हुई अपनी फिल्म की सफलता का आनंद ले रही हैं। ‘कोई मेरे दिल से पूछे’ के साथ अपनी बॉलीवुड यात्रा शुरू करने के बाद, ईशा ने एक लंबा सफर तय किया है। उसकी दूसरी पारी उसके लिए फलदायक साबित हुई क्योंकि अब ईशा दोनों अभिनेत्री और निर्माता के रूप में काम संभाल रही है।

फिल्म ‘एक दुआ’ को मिली-जुली समीक्षा मिल रही है, समीक्षाएं आपके लिए कितनी मायने रखती हैं?

समीक्षा पर मैं ज्यादा ध्यान नहीं देती हूँ।। दिन के अंत में दर्शक ही फिल्म के भाग्य का फैसला करते हैं। फिल्म विशेष रूप से किसी को बनाने या तोड़ने के लिए नहीं बनी है। यह उन लोगों के एक वर्ग के लिए बनाई गई है, जो शायद इसे पसंद कर रहे है और देख भी रही है। और उनके दिमाग में अच्छी बातें रखें जो मेरी बहुत स्पष्ट मंशा थी। जहां तक इस फिल्म का सवाल है तो यह बिल्कुल अलग इरादे से बनाई गई है। सामान्य लोगों के लिए उसकी या किसी भी चीज की आलोचना करने के लिए नहीं बनाई है। यह दर्शकों के लिए बनी है। और दर्शकों की प्रतिक्रिया अद्भुत रही है। मेरे लिए यह मायने रखती  है।

हमारे देश में बने कड़े चिकित्सा कानूनों के साथ, गर्भावस्था के दौरान बच्चे के लिंग की जांच करना अपराध है। लेकिन फिल्म में बच्चे के लिंग की पुष्टि के लिए मेडिकल टेस्ट किए जाते हैं। क्या इसका उल्टा असर नहीं होगा?

थोड़ा सा तथ्य दिखाते हुए, मुझे नहीं लगता कि यह किसी भी तरह से कुछ भी गलत है। भ्रष्टाचार हर जगह मौजूद है। और अगर कुछ लोग ऐसा कुछ खोजने का साधन चाहते हैं, तो वे ऐसा करते हुए आगे बढ़ेंगे। हालाँकि, क्या आप पूछ रहे हैं कि मैं सहमत हूँ या नहीं? सबसे पहले मैं आपको बता दूं- मैंने आगे बढ़कर इस फिल्म को प्रोड्यूस किया। तो कहने की जरूरत नहीं है कि मैं आगे बढ़ने और इसे बनाने के लिए काफी सहमत हूं। तो ऐसा कुछ भी नहीं है जिससे मैं असहमत हूं।

आपकी बॉलीवुड यात्रा कोई मेरे दिल से पूछे से शुरू हुई। आप अपनी यात्रा को कैसे देखते हैं?

वास्तव में मैंने उस यात्रा का अनुभव किया है जो मेरे लिए लिखी गई थी। यह जर्नी मेरे लिए एक उपलब्धि हूँ। मेरा मानना है कि हर एक की यात्रा उनके लिए है जो उनके लिए अब तक रही है। इन वर्षों में, हमारा उद्योग, मुझे लगता है कि सबको बहुत मजबूत करता है। मैं एक अचीवर हूँ – एक सपने देखना पसंद करती हूँ और उसे हासिल करना चाहती हूँ। मैं जिस तरह से काम करना चाहती हूं उसे हासिल करना जारी रखती हूं।

एक महिला अभिनेत्री के रूप में आपको किस तरह के भेदभाव का सामना करना पड़ा? आपने वेतन असमानता का अनुभव किया होगा या पुरुष अभिनेताओं के समान विशेषाधिकार नहीं प्राप्त किए होंगे?

मैंने कभी किसी भेदभाव का सामना नहीं किया है। मेरे साथ सब अच्छे थे, मेरा मतलब है कि मेरे साथ ऐसा कभी नहीं हुआ। सो मै इस पर टिप्पणी नहीं कर पाऊंगी। मुझे लगता है कि अगर मैंने इसका अनुभव किया होता तो मुझे बोलने का अधिकार होता। अगर मैंने यह सब अनुभव नहीं किया है, तो मुझे नहीं पता कि क्या कहना है?

हेमा मालिनी माँ, को हमेशा ईशा से बहुत उम्मीदें थीं कि वह अपनी विरासत को आगे बढ़ाएगी चाहे वह कला हो, फिल्म हो या डांस शो आदि? आप ने एक निर्माता के रूप में शुरुआत की हैं, भारत ईशा फिल्म क्या कहना चाहेंगी?

मेरी माँ ने ऐसा सोचा यह बहुत ही प्यारी बात है। दरअसल में सभी माता-पिता को अपने बच्चे जो कुछ भी करते हैं और हासिल करते हैं, उस पर गर्व होता है। मैं जो लक्ष्य निर्धारित करती हूँ और यह सुनिश्चित करती हूँ कि मैं अपने सपनों को हासिल करूं और पूरा करूं। यह मेरा फोकस है।

हम मांध्हेमा मालिनी, और बेटी, ईशा को सिल्वर स्क्रीन पर एक साथ कब देखेंगे?तीनों एक साथ काम कर रहे हैं धर्मेंद्रध्पापा,

मुझे नहीं पता कि यह इस बात पर निर्भर करता है कि हमें किस तरह की स्क्रिप्ट मिलती है। जो हम दोनों को सहयोग करने और एक साथ स्क्रीन पर आने के लिए उत्साहित करे… मैं पापाध् धर्मेंद्र, के बारे में नहीं कह सकती हूँ। आप उनसे पूछेंगे?

 धर्मेंद्रध्पिता, जल्द ही डायरेक्टर करण जौहर के साथ सिल्वर स्क्रीन पर वापसी कर रहे हैं, आपकी क्या राय है?

उन्हें इस फिल्म के साथ करण जौहर के साथ आते देखना बहुत अच्छा है। साथ ही उनके पास फिल्मों की एक अच्छी लाइन है। हम सभी जल्द ही आने वाली उनकी फिल्म को देखने के लिए उत्साहित हैं, यह एक प्यारा अनुभव होगा… पापा भी कैमरों के सामने काम करने को लेकर काफी एक्साइटेड नजर आ रहे हैं।

हमने सुना है धर्मेंद्र जया बच्चन के साथ रोमांस करते नजर आएंगे, क्या आप कंफर्म कर सकती हैं?

हंस कर बोली, मुझे नहीं पता। मुझे भी नहीं पता कि वह इस फिल्म में किसके साथ रोमांस करते नजर आएंगे। हालांकि हम उस सब को देखने के लिए इंतजार कर रहे हैं…।

कैमरों के साथ रोमांस करने के लिए धर्मजी के प्यार के बारे में उन्होंने कहा, मुझे यकीन है कि उन्हें कैमरों के साथ रोमांस करना पसंद है। टचवुड ने भगवान की कृपा से उसे जाने दिया है। वह एक नवागंतुक के उत्साह के साथ काम पर जाना पसंद करते है – यह बहुत अच्छा है।

आपके, “भारत ईशा प्रोडक्शन हाउस से आगे क्या?

हम ऐसे व्यक्ति हैं जो हर एक दिन काम  करके चीजों को आगे बढ़ाना पसंद करते हैं। यह बहुत व्यवस्थित तरीके से हुआ…हमारा प्रोडक्शन हाउस बना और हमने एक दुआ फिल्म बनाई। निश्चित रूप से हम कहानी सामग्री की तलाश कर रहे हैं जो दर्शकों पर सकारात्मक प्रभाव डाले।

क्या आपको लगता है कि इंडस्ट्री के माता-पिता से आपके ऊपर कम दबाव था?

सवाल ही नहीं पैदा होता! हमारी पहली फिल्म से ही हमारे माता-पिता से तुलना की जाती है। मैंने जब पहली फिल्म शुरू की मुझ पर भी कम दबाव नहीं था। दो लेजेंड्स माता-पिता, होने के कारण हम प्रेशर कुकर में डाल दिए गए थे। जोर से हंसते हैं, चाहे पुरुष अभिनेता हो या महिला अभिनेत्री, दबाव समान होता है।

SHARE

Mayapuri