मैंने अपनी जिंदगी में कभी भी नृत्य का प्रशिक्षण हासिल नहीं किया: साहिल खट्टर

1 min


“200 हल्ला हो” में खतरनाक बल्ली चैधरी के किरदार को निभाकर षोहरत बटोर रहे अभिनेता साहिल खट्टर के अभिनय कौशल की लोग तारीफें करते हुए नहीं थक रहे हैं। कईयों का मानना है कि, उन्हे एहसास ही नहीं था कि, साहिल खट्टर में इतनी प्रतिभा है। अब बहुत जल्द साहिल खट्टर फिल्म ‘83’ में रणवीर सिंह के साथ नजर आने वाले हैं! वह एक शानदार एंकर और यूट्यूबर के अलावा साहिल एक बेहतरीन डांसर भी हैं! हाल ही में साहिल खट्टर ने नृत्य निर्देषक स्नेहा के साथ एक डांस कवर पोस्ट किया है! इस गाने को रजित देव ने कोरियोग्राफ किया था।

इस नृत्य के वीडियो की चर्चा करते हुए साहिल खट्टर कहते हैं- “हकीकत यह है कि मैंने अपनी जिंदगी में कभी भी नृत्य का प्रषिक्षण हासिल नहीं किया! मुझे याद है कि मैं अपने घर और माता-पिता के दोस्तों के घर पर डिनर पार्टियों में बेफिक्र होकर नृत्य किया करता था और लोग तारीफ करते थे। मैंने सबसे पहले फिल्म ‘बाजीगर’ के गीत ‘काली काली आंखें’ पर नृत्य किया था! मैं हमेषा शाहरुख खान से प्रेरणा लेता हूँ, क्योंकि मेरी नजर में वह एक जन्मजात मनोरंजनकर्ता हैं! उन्होंने अपने करियर की शुरुआत डर, बाजीगर, अंजाम जैसी फिल्मों में ग्रेट किरदार निभाकर की। जब मुझे ‘200 हल्ला हो’ में नकारात्मक किरदार निभाने का अवसर मिला,तो मुझे लगा कि मेरे दर्शकों को भी मुझमें डांसर दिखना चाहिए।”

गीत ‘राउडी बेब’ में मूलतः धनुष और साईं पल्लवी थे और इस गाने का निर्देषन प्रतिभाशाली नृत्य निर्देषक प्रभु देवा ने किया था। इस पर साहिल खट्टर कहते हैं-’जिस तरह से प्रभु देवा ने गाने को कोरियोग्राफ किया है, वह अद्भुत है! वाइब्स, गाने का फील बहुत अच्छा है। मैं साईं पल्लवी से अपनी नजरें नहीं हटा सका। उन्होंने और धनुष दोनों ने शानदार प्रदर्शन किया है। गीत की ऊर्जा बहुत संक्रामक है। हालांकि मैं एक पंजाबी मुंडा हूं लेकिन किसी तरह दक्षिण भारतीय संस्कृति से जुड़ा हूं। असल जिंदगी में मैं सबसे उपद्रवी बच्चा हूं। मैं जो कुछ भी कर रहा हूं उसमें जुनूनी हूं।’’

हिंदी फिल्मों में अपने पसंदीदा डांसिंग अभिनेता के बारे में साहिल कहते हैं- “रणवीर सिंह मेरे पसंदीदा अभिनेता हैं। वह जिस तरह से नृत्य करते हैं, वह सभी को इमोशनल कर देता है। सब कुछ पिक्चर परफेक्ट लगता है। फिल्म ‘83’ के शुरुआती प्रमोशन के दौरान हम चेन्नई गए थे और खूब मस्ती की और डांस किया। मुझे उनके साथ एक डांस कवर करना अच्छा लगेगा।”

साहिल आगे कहते हैं- “मुख्यधारा की हिंदी फिल्मों के कलाकार का एक अच्छा कुशल नर्तक होना आवष्यक है। वह अभिनेता ऑलराउंडर होना चाहिए। मुझे नृत्य पर आधारित फिल्में करने से कोई परहेज नहीं है। मुझे अपनी प्रतिभा को दिखाने के लिए हमेषा एक अच्छे किरदार का इंतजार रहता है।”

SHARE

Mayapuri