ड़र और इम्तियाज अली

1 min


भारत में औरतों के प्रति बढ़ रहे अत्याचार की काफी चर्चाएं हो रही हैं। बॉलीवुड से जुड़े तमाम लोग डर की बात कर रहे हैं मगर ‘सोचा ना था’, ‘रॉकस्टार’, ‘हाइवे’, ‘तमाशा’ जैसी फिल्मों के सर्जक इम्तियाज अली भी पिता हैं, पर वह डरे हुए नहीं हैं। वह अपने बच्चों पर बंदिश भी नहीं लगाते हैं। खुद इम्तियाज अली कहते हैं-‘‘जो हालात हैं, उन्हें देखते हुए भी मैं अपने बच्चों को लेकर खुद को असुरक्षित महसूस नहीं करता। हम अपने बच्चों को यह शिक्षा जरूर दें कि उनके साथ इस ढंग की चीजें हो सकती हैं और उससे वह कैसे बचें। पर हम उन्हें सड़क पर निकलने से मना तो नहीं कर सकते। स्कूल जाने से मना तो नहीं कर सकते। आप बच्चों की आजादी छीन नहीं सकते। फिर चाहे वह लड़की हो या लड़का। मैं अपने बच्चों को सशक्त बना रहा हूं’’ पर वह भी बहुत सी बातों को लेकर डरते हैं। वह अपने डर की चर्चा करते हुए कहते हैं – ‘‘मुझे सबसे ज्यादा डर झूठ बोलने व नकलीपना होने का है। अपने हथकंडों में फंस जाने का डर सताता है, दिल की बात न कह पाने का डर।’’

SHARE

Mayapuri