जानिए अब्बास-मुस्तान को क्यों पसंद है ‘बर्मावाला’

1 min


अब्बास-मुस्तान के बैनर का नाम है ‘बर्मावाला पार्टनर्स है। लोग जो नहीं जानते हैं, सोचते हैं ‘खिलाड़ी’, ‘बाजीगर’, ‘रेस’ जैसी कामयाब फिल्में देने वाले निर्देशक-भाई जो बॉलीवुड के सफल नाम हैं और 14 हिट फिल्में दे चुके हैं, उनको ‘बर्मावाला’ शब्द क्यों पसंद है। पाठकों की जानकारी के लिए बता दें कि इस निर्देशक जोड़ी के दादाजी बर्मा में रहते थे जहां उनका फर्नीचर का व्यापार था। उनके पिताजी ने भी मुंबई आकर कोलाबा में फर्नीचर का कारोबार ही किया। इनके मामाजी फिल्मों में एडिटर थे। अब्बास  को स्कूली पढ़ाई के दौरान ही पिताजी की दुकान पर बैठना कम पसंद था और मामू के एडिटिंग रूम में जाकर फिल्मों की कांट-छांट देखना ज्यादा पसंद आता था। जब फिल्मों में करियर बनाने का ख्याल आया तब बड़े भाई ने नाम लिखना शुरू किया अब्बास अली बर्मावाला और छोटे भाई ने नाम लिखा-मुस्तान बर्मावाला। गुजराती निर्देशक गोविन्द भाई पटेल (जिनके ये लोग सहायक थे) ने इनको सलाह दी कि ये लोग बर्मावाला सहित इतने लम्बे नाम को छोटा कर दें और निर्देशक जोड़ी बनाये ‘अब्बास-मुस्तान’  के नाम से। फिर ये नाम कामयाबी के साथ ‘अब्बास-मुस्तान’ बन गया। जब इन्होंने अपना प्रोडक्शन हाउस शुरू किया तो ‘बर्मावाला’ को बैनर के नाम के साथ जोड़ दिया।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये