विश्व महामारी में पत्रकारों की भूमिका पर इंटरनेशनल जर्नलिज्म सेंटर को गर्व है 

1 min


आज देश की परिस्थिति को देखते हुए हर इंसान दिल से दुआ कर रहा है की कोविड 19 जड़ से ख़त्म हो जाये ताकि पूरी दुनिया को शांति व् सुकून मिले और मै दिल से दुआ करता हु की भारत पूरी तरह इस से मुक्त हो जाये क्योंकि जिस तरह से यह फैल रहा है वो देश के लिए सही नहीं है, ये कहना है इंटरनेशनल जर्नलिज्म सेंटर के अध्यक्ष   संदीप मारवाह का जिन्होंने इंटरनेशनल जर्नलिज्म सेंटर द्वारा भारत को कई ऐसे पत्रकार दिए जो अपनी जान जोखिम में डालकर अपनी ड्यूटी पूरी कर रहे है। उन्होंने मीडिया की हौसला अफ़ज़ाई  करते हुए देश और दुनिया के उन तमाम पत्रकारों का धन्यवाद अदा किया जिन्होंने अपनी जान जोखिम में डालते हुए कॉविड 19 की जानकारी पूरी दुनिया को दी। उन्होंने बताया की  इस सेंटर की स्थापना 2007 में की गई ताकि पूरी दुनिया में सकारत्मक पत्रकारिता की शुरुआत हो।इस सेंटर द्वारा एक सामुदायिक रेडियो स्टेशन, एक सामुदायिक टेलीविजन, एक समाचार पत्र की शुरुआत की गई। साथ ही इस सेंटर के द्वारा पत्रकारों से जुड़ी संस्थाओं को  सदस्यता प्रदान करना, उनके हितों और आवश्यकताओं की रक्षा करना शामिल है। इसके अलावा पत्रकारिता के क्षेत्र में नए पत्रकारों को तैयार करना और उन्हें प्रोत्साहित करना भी इस जर्नलिज्म सेंटर का उद्देश्य है।इसी संदर्भ में ग्लोबल फेस्टिवल ऑफ जर्नलिज्म नोएडा की 2013 में स्थापना की गई जिसमें पत्रकारिता के क्षेत्र से जुड़ी तमाम गतिविधियों को शामिल किया जाता है। इस  फेस्टिवल में 12 फरवरी को इंटरनैशल डे ऑफ जर्नलिज्म डिक्लेयर किया गया है। संदीप मारवाह ने कहा ‘ हालाकि इसकी शुरुआत बड़े ही सामान्य तरीके से हुई थी लेकिन अब पूरी दुनिया इसे अंतरराष्ट्रीय जर्नलिज्म दिवस के रूप में मनाती है। इंटरनेशनल जर्नलिज्म सेंटर की सरपरस्ती में नोएडा शहर का पहला रेडियो नोएडा107.4 की शुरुआत हुई। आज इस रेडियो स्टेशन को चलते हुए 11 साल हो गए हैं। इंटरनेशनल जर्नलिज्म सेंटर द्वारा समय समय पर वर्कशॉप, सेमिनार, चर्चा और परिचर्चाओं का आयोजन भी किया जाता है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये