INTERVIEW!! “दोस्ती में सब कुछ जायज है, गाली – गलौज भी” – अमिताभ बच्चन

1 min


लिपिका वर्मा

श्री अमिताभ बच्चन ने, “एनीथिंग बट खामोश” किताब का विमोचन किया ख़ास तौर पर इस मौके पर दोनों दोस्त   और दुश्मन शत्रुघ्न सिन्हा एवं अमिताभ बच्चन मौजूद रहे। अमितजी ने बहुत ही सरलता से बड़े होने हेतु शॉटगन को गाली तक देने की अनुमति दे दी –

तो जानिए शत्रुघ्न सिन्हा ने और अमिताभ बच्चन ने एक दूसरे के लिए क्या कहा प्रेस मीट के दौरान –

शत्रुघ्न – बिग बी के बारे में बोले

जो कुछ भी मेरा अनुभव रहा इस किताब द्वारा आप तक पहुँचाने की कोशिश कर रहा हूँ, यह अनुभव मेरी पिछली ज़िन्दगी से जुड़े हैं। मैंने अपनी दुश्मनी को भी जाहिर किया है इस किताब में, पर यह केवल इसलिए ताकि बायोग्राफी सच्चाई पेश कर सके। यदि मैंने अमित और मेरी लड़ाईयों के बारे में लिखा है इसका यह मतलब नहीं है कि मुझे उनके प्रति कोई भड़ास निकालनी है, यह हमारी जवानी के दौरान के हादसे हैं। हम दोनों के विचार नहीं मेल खाते थे कई मर्तबा बस वही कुछ पेश किया गया है बायोग्राफी में। हम स्वतंत्र विचार पेश करने के हक़दार तो हैं ही। ”

cover_1455951667

कुछ सोच कर और बोले शॉटगन, ” हम दोस्त रह चुके हैं सो लड़ाई होना तो जायज होता है दोस्ती में। किन्तु इसका यह मतलब नहीं है कि अभी तक हमारी लड़ाई वहीं की वहीं बनी हुई है। उस समय हम जवान थे स्टारडम का भूत भी सवार था हम पे और गर्मजोशी भी रहती है जवानी में। बस इतना ही कहना चाहूंगा जो कुछ भी काला  ..पिला  ….. सफेद और ग्रे सबकुछ आपको इस बायोग्राफी में पढ़ने को मिलेगा आप सब को। अमिताभ बच्चन स्टार ऑफ़ दी मिलेनियम तो हैं ही किन्तु इस से ऊपर वह एक बहुत ही बेहतरीन ह्यूमन बीइंग हैं।

सिन्हा अपने लव अफेयर्स के बारे में बोले – लव अफेयर्स आप जो फील करते हैं वह जाहिर करते हैं। वो सारी चीज़ जो कुछ हम अनुभव करते हैं जिंदगी में बस वही होता है। एक अबला की इज्ज़त को जहन में रखते हुए, आज अपनी पत्नी, बेटी और बेटों की भावनाओ को भी जहन में रखते हुए, किसी को बुरा ना लगे और कोई भी मुद्दा उछालने की भावना से ऐसा कुछ नहीं लिखा गया है।

Shatru

अमिताभ ने सिन्हा पर टिप्पणी की – शत्रुघ्न मुझ से छोटे हैं, सो उन्हें पूरा हक़ है मेरे को गाली दे सके और मुझ से लड़ाई भी कर सके। दोस्ती में आवन – जावन की गुंजाईश होती है जिस दोस्ती में ऐसा ना हो वह दोस्ती नहीं कहलाती है। आप यदि छोटे है तो बडों को कुछ भी कहने का अधिकार होता है – शमा बड़न को चाहिए ….. छोटन को उत्पात। दोस्ती में सब कुछ जायज है – गाली – गलौज भी”

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये