INTERVIEW!! मैं आज भी अभ्यास के लिए पूरी तरह से समर्पित हूं -सुनिधि चैहान

1 min


खूबसूरत व यंग गायिका सुनिधि चैहान एक अभिनेत्री के रूप में अपना करियर बनाने के लिए बिल्कुल भी इच्छुक नहीं है

म्यूजिक इंडस्ट्री ने रियलिटी शो के जरिए नए कलाकारों के लिए रास्ते खोले हैं,  क्या आप इस वजह से खुद को असुरक्षित महसूस करती है?

नहीं ऐसा बिल्कुल भी नहीं हैं, बल्कि सीनियर होने के नाते मुझे सभी नए युवाओं को देख खुशी होती है। वो सभी महान सिंगर्स है और मुझे उनके गाने बेहद पसंद है। मेरे लिए म्यूजिक कोई प्रतियोगिता नहीं है। मेरा ध्यान सिर्फ अपने काम सिर्फ और अपने काम पर होता है।

sunidhi-ch-3b2b702f9df1d41

जिस तरह से आप आधुनिक गानें गाती है क्या आपको फिल्मों में भी दिलचस्पी है?

मैंने हाल ही में 21 किलो वजन कम किया। इसका मतलब ये नहीं कि मैं फिल्मों में काम करना चाहती हूं। मैंने यह खुद को अच्छा महसूस कराने के लिए किया पर फिल्म में काम करने का ऑफर मिला तो मैं जरूर काम करना चाहूंगी।

आपने वॉयस ऑफ इंडिया की जज बनने का फैसला क्यों किया?

वॉयस ऑफ इंडिया अब तक का सबसे अनूठा और भिन्न रियलिटी शो है। बतौर सिंगर मैं प्रतियोगियों की आवाज की सराहना करती हूं इस शो में उनकी आवाज की महत्वता को पहचाना जाता है। जब इस शो को करने का मुझे ऑफर मिला तब तुरंत ही मैंने कोच बनने की हामी भर दी। पर मैं हमेशा से द वॉयस की अंतर्राष्ट्रीय फॉर्मेट की एक बहुत बड़ी प्रशंसक रही हूं।

इस शो कि यू.एस.पी क्या है इसके साथ ही ये शो बाकी के सिंगिग रियलिटी शोज से किस प्रकार अलग है?

शो का फॉर्मेट आश्चर्यजनक है। इंडियन टीवी पर इस तरह का शो पहले कभी भी नहीं दिखाया। यह पहला ऐसा शो है जिसमें जजेस आवाज सुन खुद की टीम का निर्माण करते हैं। शान, मीका, हिमेश और मैंने बतौर कोच बहुत ही अच्छा काम किया। यह इकलौता ऐसा शो जिसमें सिर्फ और सिर्फ प्रतिभागियों की आवाज पर फोकस किया जाता है।

इस शो में आपकी भूमिका किस प्रकार की है?

शो में मेरी भूमिका एक कोच व जज की है। प्रतिभागियों से मेरा रिश्ता जज के साथ-साथ व्यक्तिगत तौर पर भी है। कोच के रूप में मेरी भूमिका सलाहकार की है जो गायकों की आवाज की क्षमता को पहचानने में उनकी मदद करती है इसके साथ ही मैं उन्हें और अधिक तरह से उनके गायन के दृष्टिकोण को जानने में उनकी मदद करती है।

द वॉयस के कॉन्सेप्ट को आप किस तरह से देखती है?

आवाज के आधार पर प्रतिभागियों को आंकलन करने का आइडिया बेहतरीन है। हमारे लिए यह एक चैलेंज के समान है क्योंकि इस बात का अनुमान लगाना बहुत ही मुश्किल होता है कि प्रतिभागी शो के परफॉर्मेंस के दौरान किस प्रकार गाने को पेश करेंगे। सच तो ये है कि यह शो केवल प्रतिभागियों की आवाज पर फोकस करता है कि आकर्षण पर।

टीम की कोच होने के नाते आपकी रणनीति क्या है ?

मैं पहले रियेलिटी शो की प्रतिभागी रह चुकी हूं इसके साथ ही मैं फिल्म इंडस्ट्री के ईद-गिर्द रह चुकी हूं अब मैं अपने ज्ञान, को प्रतिभागियों के साथ बांट रही हूं साथ ही मैंने जो भी अपने अनुभव से सीखा वो भी मैं सबके साथ बाटंती हूं। इस शो में मेरी रणनीति यह है कि मै जैसी हूं वैसे ही रहूं व दूसरे सिंगर्स की मदद करने के लिए हमेशा मौजूद रहूं।

Sunidhi-Chauhan-e1431558856362

रियलिटी शो युवाओं के लिए वास्तव में फायदेमंद होते हैं ?

कोई भी अभिलाषी आर्टिस्ट एक प्लेटफॉर्म के जरिए अपने हुनर का प्रदर्शन करता है क्योंकि सही मौका मिलना महत्वपूर्ण है। इसी शो को दिमाग में रखते हुए मुझे लगता है कि रियलिटी शोज कुछ हद तक फायदेमंद होते हैं क्योंकि इन शोज के जरिए प्रतिभागियों को बड़े पैमाने पर एक मंच मिलेगा।

आजकल आप अपने गायन के अभ्यास को कितना समय देती हैं?

मैं आज भी अभ्यास के लिए पूरी तरह से समर्पित हूं जैसे कि मैं पहले हुआ करती थी जब मैंने बतौर सिंगर करियर की शुरूआत की थी। वास्तव में, मुझे लगता है मैं और अधिक मेहनती होती जा रही हूँ क्योंकि पहले की तुलना में अब ज्यादा अभ्यास करने लगी हूं।

555984

आप गानों का कौन-सा युग पसंद करती है – 60 के दशक का सुनहरा युग या फिर आजकल जो है वो?

मुझे हर युग के गाने पसंद है। गोल्डन युग के गाने म्यूजिक के गुरू कहलाते हैं पर बहुत से संगीतकार ऐसे भी है जो सच में बहुत महान है। जो संगीत आज बनाए जा रहे हैं। मेरे लिए वो रोमांचक है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये