INTERVIEW!! मैं सिंगल हूं और अपने “कुत्ते” के साथ ही रहता हूं ! – सिद्धार्थ मल्होत्रा 

1 min


स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर से फिल्मों में कदम रखने के बाद सिद्धार्थ ने फिर कभी पीछे मुड  कर नहीं देखा। उनका यह मानना  है कि लक और मेहनत दोनों ही साथ – साथ चलती  है। सफलता की सीढ़ी  सिद्धार्थ बहुत ही जल्दी चढ़ गए है किन्तु वो बहुत ही सिंपल व्यक्ति है। अक्षय कुमार के साथ फिल्म,”ब्रदर्स ” करने  के बाद उन्हें अक्की से बड़े भाई सा प्रेम मिला और वो अपने और अक्की के बीच बहुत सारी  समानताएं देखते है। हमारी संवाददाता लिपिका वर्मा को सिद्धार्थ  ने ढ़ेर सारे  सवालों के जवाब दिए

ब्रदर्स और कपूर्स एंड संस में क्या फर्क महसूस करते है आप ?

अब मैं जिम  से बाहर हूं, फिल्म ब्रदर्स के लिए लगभग 4 महीने के लिए बहुत ट्रेंनिंग लेनी पड़ी थी मुझे, मुझे करीब 10 किलो वजन बढ़ाना था जबकि अक्षय को कुछ किलो वजन  घटाना  था। किन्तु अब मैं कपूर एंड संस  फिल्म्स के लिए कुछ वजन घटा रहा हूं सो में योगा कर रहा हूं।  आजकल के दर्शक अपने हीरो को अलग अलग किरदार में देखना पसंद करते है यह एक अच्छी बात है, और इस लिए भी मैं कुछ रिस्क उठा रहा हूं, अलग -अलग  किरदार करके। बस उन्हें मेरा हर किरदार समझ आना चाहिए यही  मैं उम्मीद करता हूं। एक और बात तय है हम लोगों को किरदार में समानताएं लाने  के लिए बहुत मेहनत  करनी पड़ती है सो वजन घटना या बढ़ाना भी उसी का एक अंश होता है।

Sidharth-Malhotra_20150730-035534_1

फिल्मी सफर कैसा रहा आपका?

दरअसल मेरा फिल्मी सफर अभी तक बहुत ही छोटा रहा है। मुझे अभी रेस में बहुत आगे जाना होगा। मैंने विलेन में भी एक बेहतरीन और अलग किस्म का किरदार निभाया है और अब ब्रदर्स में भी कुछ अलग ही कर रहा हूं। साथ – साथ लुक पर भी बहुत मेहनत करनी पड़ती है ताकि अपने फैंस को उस किरदार को हूबहू दिखला पाऊं। मुझे इस बात की खुशी है की निर्देशक एवं निर्माता मुझे हर किरदार में फिट पाते  है।  मेरा ऐसा मानना है की लक और हार्ड वर्क दोनों ही साथ साथ चलते हैं।

इतना काम और नो आराम सिद्धार्थ को एक सुस्त ब्वॉय बना देता होगा?

देखिये मुझे फिल्म ब्रदर्स के लिए बहुत वजन बढ़ाना था सो जिम करते करते में थक जाया करता और फिर उसके बाद मुझे सोने के सिवाए कुछ नजर नहीं आता  था। बस जिम ट्रैनिंग, खाना और सोना यही  सब मेरा रोजमर्रा का रूटीन हो गया था। किन्तु इसका यह मतलब नहीं है कि मैं सुस्त हो गया या फिर  अपनी पर्सनल चीज़ नहीं कर पाता था ? सच  कहूँ तो जैसे मुझे क्रिकेट खेलना  बहुत पसंद है तो शूटिंग के दौरान जब कभी समय मिलता तो मैं यह इच्छा भी पूरी कर लेता। हमारे लिए काम एवं आनंद लेना  दोनों साथ साथ चलने चाहिए  तभी आदमी खुश रहता है।

कुछ सोच  कर सिद्दार्थ बोले, “मुझे आज भी याद है अक्षय और मैं दोनों ही खाने के बहुत ही शौकीन  है और जब हम इंदौर में शूटिंग कर रहे थे तो हम चाट खाने नीचे उतरे किन्तु लोगों ने वापस हमे गाड़ी में भी नहीं चढ़ने दिया। फिर हमे गाड़ी के ऊपर चढ़ना  पड़ा। किन्तु एक पत्रकार ने हमे चाट पैक करवाकर दिया जो हमने अपनी फ्लाइट में खाया और उसका लुत्फ उठाया।

Brothers-Sidharth-Malhotra-02269-540x304

अक्षय के साथ काम किया, कैसा रहा ?

फिल्म ब्रदर्स  में काम करने के बाद मुझे अक्षय मेरे भाई  जैसे ही लगने लगे है। वो भी दिल्ली से यहाँ पर आये  थे, पंजाबी है, उनके भी कोई गोड फादर नहीं है और मेरा बहुत  ख्याल रखा उन्होंने।  जब उन्हें पता चला कि मैं एक घर की तलाश कर रहा हूं तो तुरंत बोले, “तू चार रूम वाला फ्लैट लेना या फिर पूरा फ्लोर खरीदना। “मैंने उनसे कहा की मेरे पास इतने पैसे कहा से आएंगे?” तो वह तुरंत बोले,” जब तू घर खरीदने की सोचेगा ना  तो तेरे पास पैसे खुद ब खुद आ जायेंगे। “यह उनके मुंह से सुनकर इतना अच्छा  लगा कि मैं क्या बताऊं। अक्षय बहुत ही सरल स्वाभाव के व्यक्ति है और सबकी भलाई  सोचते है। फिल्म इंडस्ट्री में उनकी शुरुआत भी मेरे जैसे ही हुई थी और उन्होंने मेहनत की है आगे बढ़ने के लिए, सो वो हम न्यू कमर्स के स्ट्रगल को अच्छी तरह से जानते हैं। ”

ei-248673

आपके भी बचपन में अपने भाई के साथ लड़ाई -झग़डे होते होंगे ?

जी हाँ हम दोनों छोटी छोटी बातों में भी झगड़ पड़ते थे। या कपड़ो के ऊपर झगडे होते थे या फिर खाने -पीने पर और तो और कभी कभी मेरा बड़ा भाई  जो उस वक़्त मुझ से काफी बड़ा था मुझे कमरे के बाहर निकाल दिया करता और मेरी  बेचारी माँ हम दोनों को बहुत समझाती  रहती थी। किन्तु अब में ३० साल का हो गया हूं और यहाँ  पर अकेला रहता हूं तो परिवार को बहुत ही मिस करता हूं। अब यह इच्छा है कि एक घर खरीदूं और मम्मी -पापा को भी पर यहाँ बुला लूं। यह फिल्म भी भाईयों के बारे में बतलाती है, मेरा दावा है कि इस फिल्म को देखने के  बाद पहली बार पुरुष वर्ग भी बहुत भावुक हो जायेगा। ”

आलिया  के साथ वाला  कमर्शियल  बहुत अच्छ दिख रहा है जब वो कहती है, ” तुम भी उतने ही अच्छे “क्या कहना चाहेंगे?

देखिये इसके निर्देशक को ही यह क्रडिट जाता है। उन्होंने  बेहतरीन ढंग से उसे फिल्माया है।

पर फिर आलिया  के साथ आप का नाम जोड़ा जा रहा है इस बारे में क्या कहेंगे आप ?

वो सब झूठ है। में सिंगल हूं और मेरे घर में केवल मैं और मेरा एक कुता है जो साथ रहता है !!

 

 

 

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये