INTERVIEW!! ब्रेक पाना आसान है पर उसे बनाए रखना मुश्किल है – पलक मुच्छल

1 min


यंग व जिंदादिल गीतकार पलक मुच्छल ने कहा कि वह भाग्यशाली है जो उन्हें ‘प्रेम रतन धन पायो’ फिल्म का टाइटल ट्रैक गाने का मौका मिला-

आपने बतौर सिंगर अपनी जर्नी की शुरुआत कैसे की ?
मैं मानती हूं कि मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे बहुत से हिट गाने गाने का मौका मिला। मैं मारवाड़ी परिवार से हूं और मेरा फिल्म इंडस्ट्री से कोई कनेक्शन नहीं है। मैं सिर्फ 2 साल की थी जब मैंने इंदौर के एक फंक्शन में ‘सजनी सजनी अब क्या होगा’ गाना गाया था। मेरी माँ ने संगीत में मुझे प्रशिक्षित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी थी। मैं शुरू से ही एक सफल गायक बनना चाहती थी। मैं खुद को भाग्यशाली मानती हूं कि मुंबई आने के बाद मुझे सलमान खान सर से मिलने का मौका मिला, इसके लिए मैं तहे दिल से रूमी जाफरी अंकल का धन्यवाद करती हूं। उन्होंने मेरा समर्थन किया व फिल्म में गाना गाने का मौका भी दिया। मैंने फिल्म ‘वीर’ के गाने (मेहरबानीयां) की एक लाइन गायी थी।

Palak-Muchhal

आपने कौन कौन-सी फिल्मों के लिए गाने गाये है?

मैंने हिमेश रेशमिया जी के लिए ‘दमादम’ गाना गाया है। मैंने सलमान खान के साथ बातचीत की थी। सलमान सर ने आदित्य चोपड़ा को मेरा नाम सुझाया था। इसके बाद फिल्म ‘एक था टाइगर’ के लिए सुहेल सेन ने कॉल किया। मैंने एक बार गाना सुना व रिहर्सल किया उसके बाद 17 मिनट का गाना रिकॉर्ड किया। इन सब के बाद मुझे फिल्म ‘बाहुबली’ के लिए ‘पंछी बोले है क्या’ गाने का मौका मिला।

निर्देशक सूरज बड़जात्या की तरफ से आपको किस तरह की तारीफ मिली?

सूरज जी से मिलना मेरे लिए स्टार स्टक मूमेंट था। बहुत से निर्देशक रिकॉर्डिंग के समय मौजूद नहीं होते पर सूरज जी फिल्म के गाने की रिकॉर्डिंग के समय मौजूद थे। साथ ही उन्होंने मेरी मदद भी की थी। फिल्म का टाइटल ट्रैक सूरज जी के लिए बहुत स्पेशल था। जब मैंने गाने की रिकॉर्डिंग की तो उन्होंने कहा कि यह पल फिल्म के मुहूर्त के जैसा है। उन्होंने यह भी कहा कि मैंने इस गाने को मैच्योरिटी व ग्रेस के साथ गाया। उन्होंने मेरी तारीफ करते हुए कहा कि मुझे संगीत में महारत हासिल है।

palak-mucchal

फिल्म के टाइटल ट्रैक के बारे में आपकी गट फिलिंग क्या है?

सलमान सर और सूरज जी का एकसाथ आना एक इतिहास रहा। दोनों मधुर संगीत के साथ आए सभी के दिलों को जीतने। मुझे खुशी है कि इस परंपरा को मेरे द्वारा गाये हुए टाइटल ट्रैक के साथ बरकरार रखा गया। मैं आशा करती हूँ यह गाना जल्द ही लाखों लोगों के दिलों पर राज करेगा।

आपको कभी ऐसा नहीं लगा कि आपको एक्टिंग मे अपना करियर बनाना चाहिए?

मैंने कभी एक्टिंग करने के बारे में नहीं सोचा। फिल्म आशिकी-2 ने मेरी जिंदगी बदल कर रख दी थी। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे 2-3 फिल्मों के लिए गाना गाने का मौका मिलेगा। फिल्म इंडस्ट्री में ब्रेक पाना आसान है पर उसे बनाए रखना मुश्किल है।

2Palak-Salman-1

आपके पसंदीदा सिंगर कौन कौन से है?

लता जी मेरी पसंदीदा सिंगर ही नही बल्कि मेरी आईडल भी हैं। लता जी के साथ-साथ आशा जी, श्रेया जी, अलका जी और सुनिधि जी भी मेरी पसंदीदा सिंगर है। मैं ए आर रहमान, शंकर महादेवन, विशाल शेखर, अमित त्रिवेदी के लिए काम करना चाहती हूं। आज के संगीत निर्देशक बहुत ही खुले विचारों वाले है। एक संगीत निर्देशक दूसरे के लिए गाते है। मैंने पलाश के लिए फिल्म ‘अमित की लिस्ट’ व ‘आशिकी-2’ के लिए गाना गाया था।

आपके पांच पसंदीदा गाने कौन-कौन से है?

मेरे आज तक के 48 गानों गाए है। उनमें से मेरे पांच पसंदीदा गाने- फिल्म आशिकी-2 का ‘चाहूं मैं या ना’, फिल्म किक ‘जुम्मे की रात है’, फिल्म गब्बर इज बैक का ‘तेरी मेरी कहानी’, आशिकी-2 का ‘तुम ही हो’, लापता का ‘एक था टाइगर’। मैं आशा करती हूं कि इन गानों की लिस्ट में मुझे प्रेम रतन धन पायो गाना भी शुमार करने का मौका मिलेगा।

CStAnn7U8AAwmjw

आप गाने भी लिखती हैं ?

गाने मेरे लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मैं इस बात का पूरा ध्यान रखती हूं कि मैं कोई अभद्र गाने ना गाऊं और न मैं कोई आईटम सॉन्ग्स गाना पसंद करती हूं। मैं उन गायकों का अपमान नहीं कर रही जो इस तरह तरह के गाने गाते है बल्कि इस तरह के गाने को गाना बहुत ही हिम्मत व शक्ति की जरूरत होती है।

प्रेम रतन धन पायो के बाद आगे आपका क्या प्लान है?

ट्रैफिक, सनम रे, टी.पी अग्रवाल की शादी में लड्डु दिवाना जैसी फिल्मों के गाने के ऑफर मेरे पास आए है। सच कहूं तो अब तक मेरे 197 गाने रिकॉर्ड हो चुके है। मैं बीकॉम की स्टूडेंट हूं और और पीएचडी करना चाहती हूं। फुरसत के लम्हों में मुझे गाना सुनना पसंद है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये