INTERVIEW!! अभी तक सेटल होने के बारे में मैंने सोचा नहीं है – कटरीना 

1 min


कटरीना कैफ अपने फिल्मी सफर से बहुत ही खुश नजर आती  है और क्यों खुश ना  हो? उनकी पहली फिल्म, “बूम” भले ही बॉक्स ऑफिस पर अपना जलवा नहीं  बिखेर पाई हो किन्तु ज्यों ही सलमान का हाथ उनके सर पर पड़ा तो मानो  उनके करियर को  एक, “मीदास टच” मिल गया हो और बस कैटरीना के  करियर में चार चाँद लग गए हो

हमारी संवाददाता लिपिका वर्मा को कुछ  सीधे सीधे सवालो  का जवाब दिया कटरीना कैफ ने –

आपका फिल्मी सफर कैसा रहा?

मेरा फिल्मी सफर बहुत ही अच्छा रहा।  में बहुत ही भाग्यशाली  मानती हूं अपने आप को- कि मुझे बॉलीवु+ ड में खुले हाथों से सब ने अपनाया। बहुत सारे  एक्टर्स बहुत ही टैलेंटेड होंगे और बहुत मेहनत  भी करते होंगे किन्तु उन्हें यह मुकाम नहीं मिला होगा। मुझे जनता का प्यार  और मान  सम्मान भी मिला है। सो यह मेरा भाग्य  ही है जो मुझे इस मुकाम पर ले आया है। मेरा ऐसा मानना है यदि मैंने  अपना 10 % भी दिया होगा अपने किरदार को तो जनता ने और निर्देशकों ने मुझे उनका 20 % जरूर दिया है। यह  मेरे साथ ही नहीं हुआ होगा किन्तु कुछ कम टैलेंटेड एक्टर्स को भी उनके भाग्य  ने उनका साथ दिया होगा [हंस कर बोली कैट्स। ”

Phantom Katrina & director kabir khan

अब देखिये ना  फिल्म, “मेरी ब्रदर  की दुल्हन” एक नपे तुले बजट और टाइम में खत्म हुई। इस फिल्म के लिए हम सब ने बड़ी मेहनत की थी और हमे इस बात की ख़ुशी है कि ऑडियन्स ने इस फिल्म को पसंद किया था। तो जनता का प्यार  और सराहना जो हम सभी को समय समय पर मिलती रहती है उसके हम सभी शुक्रगुजार है। उनके प्यार  की वजह से मैं यहां पर हूं  सो उनको में अपना ढेर सारा प्यार देना चाहती हूं। उनके प्यार और चाह के बिना हमे यह सब नहीं मिल पाता और क्या कहू मेरी जर्नी फिल्मी दुनिया में बेहतर से बेहतर होती गयी।

फिल्म फैंटम’ में आप के किरदार पर कुछ रोशनी डालिये ?

मैं एक पारसी अवतार में जरूर हूं। मैं फिल्म में एक एनजीओ के साथ कार्यरत हूं। बॉर्डर पर हूं और एक डॉक्टर भी  हूं बॉर्डर पर क्या कुछ चलता है एक अभिनेता होने हेतु मुझे सब कुछ नहीं मालूम होगा किन्तु निर्देशक  कबीर खान को सब कुछ ज्ञान है सो उन्होंने हमे बहुत कुछ समझाया। यह लड़की फिल्म में उग्रवादियों  के सम्पर्क में रहती है। इस फिल्म की कहानी अन्य स्पाई कहानियों की  तरह ही है। फिर यह लड़की सैफ अली खान के सम्पर्क में आती है, शुरआती दौर में यह लड़की उसकी मदद नहीं करना  चाहती है किन्तु कुछ समय बाद इसका मत  बदल जाता  है। अब यह दोनों मिलकर किस तरह अपने मिशन को आगे बढ़ाते है यही सब कुछ कहानी का हिस्सा है।

katrina kaif and saif ali khan in film phantom

कैटरीना अपने एक्शन सीन खुद करती हैं क्या?

जी हाँ मैंने हाल ही में धूम ३ में भी ढेर सारे एक्शन सींस खुद ही किये है और अभी भी मैं इस से बाहर नहीं आई हू. पर इस फिल्म में,  फाइट मास्टर मुझे लड़की समझ कर मुझे गाड़ी के पीछे छुपने को बोलता है। लड़की हूं कमजोर नहीं। मैंने तुरंत नीचे उतर कर  उसे कहा – सर मैं कमजोर नहीं हूं और एक्शन में भी इन मर्दों के मुकाबले में बराबरी की टक्कर दे सकती है, उसी समय निर्देशक कबीर भी सेट पर पहुंचते है और कहते है – कैटरीना के हाथ में भी एक बन्दूक देनी होगी, बस मेरी ख़ुशी का ठिकाना ही नहीं रहा और एक्शन सीन करने में मुझे बहुत ही  मजा आया।

katrina kaif desi salwar suit in phantom

आप नारी प्रधान फिल्म करना चाहेंगी ?

जब कभी सही समय होगा और मेरे पास नारी प्रधान कोई भी किरदार आएगा, जो की मुझे भी पसंद होगा तो जरूर करना चाहूंगी। कोई भी किरदार  जब तक मुझे आवेशपूर्ण ना  लगे तो मैं उसका हिस्सा नहीं बनती हूं। कई दफे मेरे पास ऐसे किरदार आये  होंगे जिन्हे  मैंने करने से इंकार कर दिया होगा शायद यह मेरी गलती होगी। किन्तु जब तक किरदार मेरे जेहन में फिट ना   बैठे मै उसे नहीं करना चाहती हूं। मेरे देखना का अंदाज गलत हो सकता है। अभी तक जो कुछ मैंने किरदार किया है बस इस लिए उसे चुना है कि -वह मेरी पसंद है।

Phantom movie stills

आपका कोई ड्रीमरोल  है क्या?

जी नहीं मेरा कोई भी ड्रीम रोल नहीं है। हर कहानी  मेरे पास जो आती है वह अतिउत्तम होती है। मेरे दिमाग में ऐसा कोई ड्रीम रोले करने जैसा किरदार फिलहाल नहीं है। यदि कोई किरदार जो कैंसर से पीड़ित हो और मरने वाला हो तो यह किरदार करने की लालसा होगी मुझे। या फिर कोई लड़की जिसने ज़िन्दगी में अपना दिल टूटते हुए देखा होगा ऐसा किरदार भी करने की  चाह हो सकती है मेरी। कोई लड़की जो पागलपन की हद से गुजर कर एक मर्डरर बन जाये वैसा किरदार भी मै करना चाहूंगी ।

lipika varma with katrina kaif

अभिषेक कपूर की फिल्म, “फितूर” कर रहे हैं क्या कहना है

हाँ ! मै भाग्यशाली हूं कि अभिषेक  के साथ फिल्म कर रही हूं। उन्होंने इस रोल के लिए मेरे बारे में सोचा मुझे बहुत अच्छा लगा।

“अभिषेक बहुत ही अच्छी तरह से हम सब को गाइड करते है और इससे हम किरदार में अपना 100% दे पाते है। यदि मुझे कुछ ठीक ना लगे तो वह मुझे उस बारे में अपना प्वाइंट ऑफ़ व्यू समझाते है। निर्देशक फिल्म का कर्ता धर्ता होता है सो उसके हिसाब से ही चलना चाहिए हमें।

रेखा के बारे में क्या  कहना है ?

रेखा जी इस फिल्म को पूरा करती तो बहुत अच्छा लगता लेकिन हर फिल्म की एक डेस्टिनी होती है। यह सब हमारे हाथ में नही होता है।

आजकल आप कम फिल्में कर रही है -सेटल होने का इरादा है क्या?

कहाँ कम फिल्मे कर रही हूं ? जग्गा जासूस है और  भी दो फिल्मे हैं। अभी तक सेटल होने के  बारे में मैंने सोचा नहीं है। यह शुद्ध हिंदी में कटरीना खुद बोली।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये