INTERVIEW!! मीरा के साथ साधारण वातावरण होता है घर में – शाहिद

1 min


“पिताजी के साथ काम करने में मुझे 14 साल लग गए – माँ निलिमा के साथ भी काम करना चाहूँगा  शाहिद

लिपिका वर्मा

शाहिद अपनी शादी के परमानंद समय को खूब एन्जॉय कर रहे हैं। हालांकि शाहिद अपनी शादी से जुड़े प्रशनों के जवाब देना नहीं चाहते हैं। पर अपनी पत्नी मीरा से जुड़े सवालों का जवाब बहुत ही बेबाकी हमारी संवाददाता लिपिका वर्मा को दिए –

क्या आपकी माताजी ने पहली बारी आपको मीरा से मिलवाया था ?

आप पहली बारी कैसे मिलते हैं यह महत्वपूर्ण नहीं होता है। आपकी भावना क्या है उस व्यक्ति के प्रति वह महत्वपूर्ण होता है। कब, किसने मिलाया और कैसे मिले- किसी को, यह महत्पूर्ण नहीं होता है। मेरे अंदर बहुत ही साधारण भाव है – हम मिले, एकदूसरे से बात-चीत की और साथ साथ कुछ समय बिताया और एक दूसरे को पसंद भी किया बस यही इम्पोर्टेन्ट बात है। फिर चाहे आप उन्हें किसी क्लब में, गार्डन में किसी दोस्त के यहाँ या फिर किसी परिवार के बन्दे द्वारा मिलाये गए हो, इन बातों की कोई एहमियत नहीं होती है मिलने के बाद आपको कैसा लगता है यही बात जानने लायक होती है। मीरा को मिलने के बाद मुझे सब ठीक लगा।

shahid-mira_640x480_41436776821

आपकी शादी अच्छी चल रही है क्या कहना है ?

शायद इसलिए अच्छी चल रही है क्यूंकि हम दोनों अलग अलग व्यक्तित्व के है। हम एक दूसरे से हमेशा सम्पर्क में रहते हैं। जब भी मैं घर जाता हूं तो मुझे बहुत ही साधारण फील करवाती है मीरा। घर का माहौल बहुत ही वास्तविक रहता है। वह अपने आप में एक व्यक्तित्व रखती है और सबसे बड़ी बात यह है कि वह फिल्मी दुनिया से नहीं है। यही सब कारण है जिनकी बदौलत हमारी गृहस्थी अच्छी चल रही है।

मीरा फिल्मों में काम करने वाली है, ऐसा हमने सुना है ?

वह मेरी पत्नी है एक्टर नहीं! सटीक सा जवाब दिया शाहिद ने

shahid-mira-759

शाहिद शादी के बाद कितना बदल गए हैं ?

शादी एक मर्द को बखूबी अपनी जिम्मेदारियां समझा देती हैं। मैं अब काफी जिम्मेदार हो गया हूं। कुछ भी करने से पहले यह विचार आ जाता है कि मेरे साथ एक और व्यक्ति जुड़ा है। जब से मैं 28वर्ष का हुआ था तब से में अकेले ही रह रहा हूं। आप कुछ और जमीन से जुड़ जाते है और आपको यह एहसास हो जाता है कि अब आप बस चुके हैं।

आप कभी डेस्टिनेशन वेडिंग में शामिल हुए हैं ?

जी नहीं मुझे कभी कोई डेस्टिनेशन वेडिंग में शामिल होने का मौका नहीं मिला है। दरअसल मैं जिस भी शादी में अभी तक शामिल हुआ हूं, वह बड़ी बोरिंग सी शादियां थी। ”

255285-shahid-503

पंकज कपूर (पिता) के साथ शानदार में आप की कैसी केमेस्ट्री थी ?

फिल्म में क्योंकि मैं उनकी लड़की से शादी के चक्कर में लगा हुआ हूं सो हमारा टशन चल रहा होता है, हमारे अपने अपने अहंकार है। सो हम एक दूसरे की टांग ही खींचते रहते है। किन्तु रियल जिंदगी में, मैं उनकी बहुत इज्जत करता हूं। उनसे कुछ ना कुछ सीखता ही रहता हूं। उनसे मेरी तुलना नहीं की जा सकती है।

सना भी है फिल्म शानदार में, उनके बारे में क्या कहना चाहेंगे?

सना ने भी ऑडिशन देकर यह रोल पाया है शायद हमारे खून में ही है यह। जब मैंने पहली फिल्म साइन की थी तब किसी को अपने परिवार के बारे में नहीं बताया था। काम मिलने के बाद लोगों को पता चला था कि मै पंकज कपूर और नीलिमा का बेटा हूं। अच्छी बात ही है हम अपने ही बलबुते पर आगे आये हैं।

shahid_story_650_101714050603

आप अपनी माताजी नीलिमा के साथ कब बड़े पर्दे पर नजर आयेंगे ?

अपने पिताजी के साथ पड़े पर्दे पर आते आते मुझे 14 साल लग गए। अब यदि कोई अच्छी स्क्रिप्ट होगी तो मैं अपनी माताजी के साथ भी जरूर काम करना चाहूंगा। वह एक अच्छी अभिनेत्री है और सुंदर तो बहुत है ही वो । ”

 


Mayapuri