INTERVIEW!! ‘‘वहां काम करने का फायदा मुझे ‘एयरलिफ्ट’ के रूप में हासिल हुआ’’ – निमरत कौर

1 min


देश विदेश में लोकप्रिय हुई  फिल्म ‘लंच बाॅक्स’ से एकाएक चर्चित हुई अभिनेत्री निमरत कौर ने अगली सफल छलांग लगाई अक्षय कुमार की हीरोइन बन कर । निमरत अक्षय के साथ फिल्म ‘एयरलिफ्ट’ में दिखाई देने वाली हैं । एक सच्ची घटना पर आधारित इस फिल्म में उसकी भूमिका क्या है। बता रही है इस मुलाकात में ।
लंच बाॅक्स के बाद ‘एयरलिफ्ट’ जैसी फिल्म में काम करने का कैसा अनुभव रहा ?
लंच बाॅक्स की अगर बात की जाये तो वो एक बहुत ही छोटी फिल्म थी जिसे हमने एक कोने में बैठकर चुपचाप बना लिया था लेकिन  मौजूदा फिल्म का केनवास बहुत ही बड़ा है । दूसरे अक्षय कुमार जिस फिल्म में होते हैं उस फिल्म के लिये दर्शकों का एक्साइटमेन्ट अलग होता है । लिहाजा इस फिल्म की डेस्टनी अलग है, इसका हाव भाव अलग है।  यहां मेरा किरदार से ज्यादा जरूरी था कि मैं स्क्रिप्ट को कैसे और कितना सपोर्ट कर सकती हूं । बाद में मैने कहानी के अनुसार काम करने की कोशिश की । इसके अलावा एक काम और भी किया कि मैने यहां अपने बालों का रंग कलर कर लिया क्योंकि मिडिल ईस्ट में रहने वाली औरतों के बाल ब्राउन या सुनहरे होते हैं । इसलिये मुझे लगा कि वंहा रह रही एक बेहद अमीर औरत के लिये ऐसा करना जरूरी था ।
 akshay, nimrat
अगर आपसे फिल्म में आपकी भूमिका के बारे में पूछा जाये तो…?
यहां मैं अक्षय कुमार यानि रंजीत कटयाल की पत्नि अमृता कटियाल बनी हूं जो शुरूआत में अपने पति का मॅाटिव नहीं समझ पाती कि वो क्यों इतना बड़े आॅपेरेशन से जुड़ रहा है । बाद में उसे उस वक्त  सब समझ आ जाता है जब  वो और उसका परिवार एक रात में ही उसे अर्श से फर्श पर आ जाता है यानि एक रात में उनकी लाइफ महलों से सड़क पर आ जाती है । दरअसल जिस रात सद्दाम हुसैन का कुवैत पर हमला होता है, उसी रात वो और उसका परिवार एक लग्जरी लाइफ जीते जीते अगले दिन बेघर हो जाता है ,तब उसे महसूस होता हैं कि उसके पति बिलकुल सही हैं ।
ऐसा बहत कम होता हैं कि अपनी पहली और वो भी आर्ट टाइप फिल्म के बाद अचानक एक लैविश फिल्म की हीरोइन बन जाना । ये करिश्मा  आप कैसे कर पाई ?
दरअसल इस फिल्म के एक प्रडयूसर निखिल आडवानी  कहानी को लेकर बहुत ज्यादा रोमांचित थे कि एक रीयल स्टोरी पर इतने बड़े पैमाने पर फिल्म बनाने का प्लान किया जा रहा था, उन दिनों ये फिल्म महिनों चर्चा में थी । मैं उन दिनों में कॅपटाउन में टहवी सीरियल ‘होमलैंड’ की शूटिंग कर रही थी । उस वक्त मुझे ये फिल्म आॅफर हुई थी, उसके बाद ही मुझे इस फिल्म की अहमियत समझ में आई थी कि एक रीयल स्टोरी को इतने बड़े पैमाने पर फिल्माया जा रहा था । इसका क्रेडिट में निखिल अडवानी के अलावा अक्षय को भी देना चाहूंगी क्योंकि उन्होंने इस फिल्म में अपनी दिलचस्पी दिखाई । दरअसल इतनी बड़ी फिल्म जो तीन साढ़े तीन हजार स्क्रीन में रीलीज होगी जबकि मेरी पहली फिल्म ‘ लंच बाॅक्स तो मुश्किल से छह सो सिनेमा घरों में रीलीज हुई थी। सो अपनी दूसरी ही इतनी बड़ी स्केल की फिल्म के लिये मैं भी कोई कम एक्साईटिड नहीं हूं ।
 Nimrat-Kaur-1
अक्षय कुमार की इस तरह की फिल्में भी अस्सी नब्बे करोड़ तक पहुंच जाती हैं, इसका आपको भी फायदा होने वाला है ?
बिलकुल होगा । दरअसल अक्षय हो या इरफान ये दोनों दर्शक को रिझाने में पूरी तरह माहिर हैं । और अगर में अक्षय जैसे स्टार के साथ कोई फिल्म करती हूं तो कल मैं कोई छोटी फिल्म करती हूं तो उसे इस बात का फायदा जरूर होगा कि उसमें एक बड़ी फिल्मों में काम करने वाली अभिनेत्री काम कर रही है ।
पिछले कुछ सालों के दौरान बाॅलीवुड में नायिका प्रधान फिल्मों को बहुत अहमियत दी जाने लगी है ?
 
जी हां और इसका क्रेडिट में विद्या बालन जी को देना चाहूंगी । इसके बाद ही कितनी ही हीरोइनों के बल पर कितने फिल्में हिट हुई हैं । यानि अब यहां बेहतर अभिनेत्रीयों को प्राथमिकता दी जाने लगी है ।
nimrat
लंचबाॅक्स के बाद आप टीवी सीरियल ‘होमलैंडं’ करने विदेष चली गई । इसका आप पर कितना असर पड़ा ?
बहुत अच्छा असर हुआ क्योंकि बाहर काम करने के बाद आपकी यहां और रस्पेक्ट बढ़ जाती है । लोग बाग आपको अलग नजरिये से देखना शुरू कर देते हैं । उन दिनों ‘होमलैंड’ को देखने के बाद यहां मुझे एक फिल्म आॅफर हई थी जिसे मैं डेट्स न होने की वजह से नहीं कर पाई थी, लेकिन उन्होंने सीरीयल में मेरा रोल देखकर ही मुझे आॅफर दिया होगा कि निमरत इस तरह के रोल भी कर सकती है । रही बात गैप होने के बाद नुकसान होने की, तो  मैं वहां  भी तो काम ही कर रही थी जिसका फायदा मुझे इस फिल्म के रूप में हुआ ।

Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये