INTERVIEW!! फिल्म ‘खूबसूरत’ का मेरा गाना नैना गलती से हिट साबित हुआ – अरमान मलिक

1 min


लेटेस्ट प्लेबैक सिंगर अरमान मलिक ने फिल्म ‘हीरो’ के ‘मैं तेरा हीरो’ गाने से प्रसिद्धि प्राप्त की। अरमान ने हिन्दी के अलावा तमिल, तेलुगु, मराठी क्षेत्रीय फिल्मों में बतौर प्लेबैक सिंगर काम कर खुद को साबित किया

ज्योति वेंकटेश

फिल्म ‘हीरो’ का गाना ‘मैं तेरा हीरो’ बतौर प्लेबैक सिंगर आपका पहला गाना है ?

‘मैं तेरा हीरो’ मेरा पहला हिट गाना है। फिल्म ‘जय हो’ के लिए मैंने दो गानों से बॉलीवुड में डेब्यू किया। ‘लव यू टिल द एन्ड’, ‘जय हो’ फिल्म का टाइटल सॉन्ग रहा। दुर्भाग्य से यह गाना ज्यादा नहीं चला। मुझे घर पर आठ महीने के लिए इंतजार करना पड़ा।

आपको ‘मैं तेरा हीरो’ गाना गाने का मौका कैसे मिला ?

सलमान खान इस बात से उदास थे कि फिल्म के गाने को लोगों द्वारा प्रसिद्धि नहीं मिल रही थी। जिसके बाद इस बारे में उन्होंने मुझसे व मेरे भाई अमाल से बात की। इस तरह मुझे इस फिल्म के गाने को गाने का मौका मिला। हालांकि शुरू में मेरी आवाज फिल्म के गाने के लिए रिकॉर्ड की गई थी। सलमान ने महसूस किया कि इस गाने से स्टारडम का उपयोग करना चाहिए। इस गाने के हिट होने से फिल्म को तो सहायता मिली ही साथ ही इससे मुझे भी बहुत मदद मिली।

salman-armaan-malik-759

‘खूबसूरत’ फिल्म का आपका गाना ‘नैना’ एक बड़ा हिट साबित हुआ ?

‘खूबसूरत’ फिल्म से एक्टर फवाद खान ने डेब्यू किया था। इस फिल्म का गाना ‘नैना’ जो मेरे द्वारा गाया गया, वो गलती से हिट साबित हुआ। या यूं कहूं कि मैं गलती से सिंगर बना। फिल्म रिलीज से दो दिन पहले ही इस फिल्म का गाना लॉन्च किया गया था।

क्या ‘यूथ’ मराठी फिल्म बतौर प्लेबैक सिंगर आपकी पहली फिल्म है ?

दरअसल ‘यूथ’ मेरी दूसरी मराठी फिल्म है। इस फिल्म के निर्माता सुन्दर सेतुरमन हैं व निर्देशक योगेश पवार हैं। फिल्म के निर्माता व निर्देशक के लिए यह पहली फिल्म है जिसमें मैंने गाना गाया है। इस फिल्म में मेरा यह दूसरा मराठी गाना है। सबसे पहली बार मैंने ‘कॉल मनचा’ मराठी फिल्म के लिए गाना गाया था।

A619996_gal_20160121170054

आप हमेशा ही मराठी फिल्म के गाने के लिए हां कह देते हैं। ऐसा क्या है मराठी फिल्म के गानों मे जो आपको आकर्षित करता है ?

मराठी मेरे लिए विशेष भाषा है क्योंकि मेरा जन्म मुम्बई में हुआ है। यह हमारे राज्य की भाषा है। मुझे मराठी भाषा में बात करना नहीं आता, लेकिन आश्चर्यजनक रूप से मराठी में गा सकता हूं। यह गाना मेरे लिए एक बड़ी संपत्ति है। मेरे लिए मराठी गाने मेलोडी होते हैं जो कि गायक के रूप में प्रधान गुण है।

मराठी में गाना आपके लिए कितना कठिन है ? मैंने शब्दों के उच्चारण के साथ कुछ कठिनाइयों का सामना किया। जिसके लिए मुझे बार बार रिटेक करना पड़ता है। मराठी फिल्म के गानों में एक ग्राफ होता है, यह स्लो से शूरु होते हैं व यह ऊंची पिच के साथ तेज होते हैं। बतौर सिंगर सभी गानों को गाना काफी कठिन होता है। चाहे वो भाषा हम जानते हो या नहीं। मैं किसी भी भाषा में किसी भी गीत पर समझौता नहीं कर सकता।

आपने आज तक कितनी भाषाओं में गाने गाये हैं ?

मैंने तमिल, कन्नड, तेलुगु में गाने गाये हैं। तमिल फिल्म ‘पयुम पुली’ से अपने करियर की शुरुआत की व इसके म्यूजिक डायरेक्टर डी इमान थे। तमिल सबसे कठिन क्षेत्रीय भाषा है। मैंने कन्नड़ फिल्म ‘सिद्धार्थ’ के लिए तीन गाने गाये हैं।

Amaal-Mallik

आप महान संगीत निर्देशक सरदार मलिक के पोते हैं। अपने परिवार की विरासत को आगे तक ले जाना आपके लिए कितना मुश्किल रहा ?

एक समय था जब मैं अपने दादा के साथ बहुत समय व्यतीत करता था। उन्होंने मुझे शास्त्रीय संगीत सिखाया था। उन्होंने मुझे ‘हां दीवाना हूं मैं’, ‘सारंगा तेरी याद’ गाना सिखाया। मैं अपने दादा के सपने के साथ जीना चाहता हूं।

बता दें कि अरमान मलिक संगीतकार डब्बू मलिक के बेटे हैं और मशहूर गायक अनु मलिक के भतीजे।

 

SHARE

Mayapuri