INTERVIEW!! “थिएटर में अभिनय से ज्यादा मैंने म्यूजिक दिया है” – राहुल शर्मा

1 min


लिपिका वर्मा

राहुल शर्मा हरियाणा से हैं लेकिन उनकी बुद्धि स्वस्थ है, हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्यूंकि हरियाणवी लोगों के लिए अक्सर एक जुमला बहुचर्चित है, छोरे तेरी बुद्धि गोड़े में है के? और वह बहुत ही मेहनती अभिनेता भी हैं। मेहनती होना अच्छी बात है और साथ ही राहुल अनुशासित भी हैं। मेहनत और अनुशासन यदि कलाकारों में एक साथ मिश्रित हो तो क्या बात- क्या बात- और क्या बात है।

राहुल, “औसम – मौसम” फिल्म से बतौर अभिनेता डेब्यू कर रहे हैं। इस शुक्रवार फिल्म रिलीज़ पर है राहुल ने अपने फिल्मी सफर की शुरुआत के बारे में लिपिका वर्मा से ढेर सारी बातें बताई –

अपने बैकग्राउंड के बारे में कुछ बोलें ?

दरअसल मेरा बचपन अमृतसर में गुजरा है और कुछ बड़े होने पर हमारा परिवार भोपाल चला गया। वहीं पर मेरी पढ़ाई लिखाई पूरी की मैंने और अब मुंबई आ गया हूँ।

आप को यह फिल्म कैसे मिली ?

मैंने कुछ थिएटर किया है और कमर्शियल्स भी किये हैं। मुझे बचपन से एक्टिंग का शौंक रहा है, यह कहना ज्यादा नहीं होगा कि अभिनय और म्यूजिक का मुझे बपचन से शौंक है। जबकि मेरे घर से कोई भी बॉलीवुड का हिस्सा नहीं है।

rahul-shamr

थिएटर ज्यादा पसंद है या फ़िल्में?

दरअसल में थिएटर में अभिनय से ज्यादा मैंने म्यूजिक दिया है। सो रिदम प्लेज में दिया है और बहुत आनंद मिला मुझे। कुछ सीरियल भी किए हैं लेकिन बड़े किरदार नहीं किये टेलीविज़न पर क्यूंकि फिल्मों में काम करने की इच्छा है।

फिल्म की कहानी के बारे में कुछ बताएं?

मैं एक हिन्दू लड़का हूँ और एक मुस्लिम लड़की से मेरा प्यार हो जाता है, प्यार भी जिन हालातों में होता है वह बहुत ही बेहतरीन तरह से दिखाया गया है। अंतत: इस प्यार को किस तरह का अंजाम दिया गया है फिल्म में वह देखना ही है आपको रील पर। पारिवारिक स्ट्रगल को झेलते हुए दोनों प्रेमियों का अंजाम क्या होता है? जी नहीं यह फिल्म, ” सम्मान हत्या हेतु” [ऑनर किलिंग] अक्सर हम यही कहते हैं कि फिल्म कुछ अलग हट कर है किन्तु मैं सचमुच कहना चाहूँगा कि, “ओसोम मौसम” न केवल अलग तरह की प्रेम कहानी है किन्तु सही मायने में बहुत अलग है “हंस कर बोले राहुल

Rahul-sharma-interview

तो क्या यह कहानी धर्म की लड़ाई है, इंटरकास्ट मैरिज को तूल नहीं देने की है?

हाँ, कुछ ऐसा ही मान सकते है, समाजिक नियमों के खिलाफ जाना और इंटरकास्ट मैरिज करना, यही सब के बारे में दिखाया है। किन्तु आप फिल्म देखें क्योंकि क्लाइमैक्स आप को बहुत अच्छा लगेगा।

आप के प्लेज के बारे में कुछ बताएं?

मैंने, “पिया बहरूपिया, पीटर पैन एवं “आज रंग” है प्लेज के लिए रीदम दिए हैं। मुझे प्लेज करने से म्यूजिकल किक मिल जाती है और फिल्मों में अभिनय करने से मैं अपनी अभिनय क्षमता को बेहतर कर सकता हूँ। बस “औसम मौसम” फिल्म जो इस शुक्रवार रिलीज़ होने वाली है उसका इंतज़ार है। बॉक्स ऑफिस पर यह फिल्म अपना जलवा दिखा पाती है या नहीं समय ही बतायेगा, फ़िलहाल मैं कुछ और स्क्रिप्ट्स भी पढ़ रहा हूँ।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये