INTERVIEW: मैं काफी हद तक ‘बढ़ो’ की तरह ही हूं: रिताशा राठौर

1 min


लिपिका वर्मा

पेश है रिताशा राठौर – (रील नाम-कोमल) से लिपिका वर्मा के सवाल जवाब के कुछ अंश –

“बढ़ो बहु “एक ऐसा टेलीविज़न शो है जिस में हर एक लड़की अपनी शादी के सपनो को साकार होते देखना चाहती है। इस शो में रिताशा राठौर -कोमल का किरदार निभा रही है। कोमल किस तरह अपने पति का प्यार जीतना चाहती है उसके लिए क्या कुछ कर रही है यही शो में दिखलाया गया है …पर अकसर जो कुछ भी वह अच्छा करने की सोचती है वह उल्टा ही पड़ जाता है। और इन सब से गुजर कर क्या कुछ कोमल कर रही है यह आप शो में देख सकते है –

आप जैसी रियल ज़िन्दगी में है यानि, “मोटी” वैसा किरदार भी मिला है। क्या कहना है किरदार के बारे में आपको?

जी हाँ, यह एक हरियाणा की लड़की की कहानी है जिसका दिल भी बहुत बड़ा है और शरीर भी हंस कर बोली रिताशा। यह दिल से कोमल तो है ही किन्तु हमेशा यही चाहती है कि- किसी भी तरह दूसरों को खुश कर सके। और जो कुछ भी उनकी पीड़ा हो, उसे हर ले। कुछ लोग इसी वजह से उसे कई बारी गलत समझ बैठते है।rytasha-rathore

आप रियल लाइफ में किस तरह है की है ?

मैं काफी हद तक बढ़ो की तरह ही हूं। मैं दरअसल मन और बुद्धि से बहुत प्रबल हूँ। मेरा किरदार हैप्पी एवम बबली भी है। और मैं रियल ज़िन्दगी में भी किसी की ज्यादती नहीं सहती हूँ। ठीक उसी तरह कोमल भी पेश की गयी है। सो मुझे यह किरदार करने में बहुत मजा आया। यह एक हैप्पी और बबली किरदार है और मैं निजी जीवन में भी हमेशा खुश ही रहती हूँ।

आपने यह किरदार क्या सोच कर चयन किया ?

निजी जीवन में भी मैं कुछ अलग ही करने की कोशिश करती हूँ। सो मुझे इस किरदार को करने में किसी भी तरह की हिचकिचाहट नहीं थी। दरअसल में, कुछ कूल करना चाहती थी और यह किरदार जैसे मानो मेरी गोद में गिर गया हो। इससे बेहतर रोल और क्या होता? यही सोच कर मैंने यह किरदार को करने के लिए हामी भर दी।rity

थिएटर और टेलीविजन पर काम करना कितना अलग है आपके लिए?

स्टेज पर अभिनय करना एवम कैमरे के सामने अभिनय करना – काफी फर्क तो है ही। मेरे लिए पहली बार कैमरे पर अभिनय करना एक बहुत बड़ा चैलेंज था। किन्तु यहाँ पर सब लोग बहुत अच्छे है और सबने मेरी सहायता भी की। टेलीविजन करना मुझे मजा आ रहा है क्योंकि कई टेक्निकल चीज़ भी सीखने को मिल रहे है मुझे। हर दिन मैं कुछ न कुछ सीखती हूँ। एपिसोड खत्म करने के लिए कुछ ज्यादा घंटे काम करना होता है पर ठीक है,काम करना है तो जी जान लगा कर ही कार्टन अच्छा लगता है मुझे।

आप एक वजनदार लड़की का किरदार निभा रही है, आप क्या सन्देश देना चाहती है ?

किसी भी व्यक्ति को बाहरी दिखावे या वह शारीरिक तौर से कैसा लगता है।— उस हिसाब से उसके बारे में एक विचार बना लेना सही नहीं होगा। आप को किसी के बारे में बिना उसे जाने कुछ कहना या सोचना गलत होगा।badhu-bahu

क्या आपके किरदार के बाद अब वह स्टीरियो टाइप लड़कियों के किरदार को टेलीविजन पर जगह मिल पायेगी?

हंस कर बोली -देखिये यह अच्छी बात है कि मुझे इस तरह का किरदार मिला। मेरा वजन काम आया और एक वजनी किरदार कर रही हूँ मै। लोग मोटापे को कमी समझते होंगे तो उनके लिए यह एक बहुत बड़ा प्रूफ है कि किसी को भी कम न समझा जाये। लोग प्रगति की ओर बढ़ चुके है और मेरा किरदार छोटे पर्दे पर इस बात की है। लोगों को कुछ अलग परोसा जाये तो हर कोई पसन्द ही करता है उसे


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये