INTERVIEW!! 15 वर्ष की आयु में इमरान को प्यार में “डम्प” किया गया ?

1 min


लिपिका वर्मा

“टी सीरीज” म्यूजिक कंपनी के भूषण कुमार ने एक नया चलन शुरू किया है वीडियो एलबम बनाने का पहला  वीडियो, “धीरे-धीरे” रितिक का बहुत ही लोकप्रिय हुआ और अब “मैं रहूं या ना रहूं” इमरान को लेकर बनाया है। इस एलबम ने रिलीज़ के तुरंत बाद सोशल साइट पर ढेर सारे लाइक्स प्राप्त किये हैं। इस एलबम की खासियत यह है कि सीरियल किसर की इमेज वाले इमरान हाश्मी को जिस से प्यार होता है (ईशा गुप्ता) वह उन्हें छोड़ के किसी दूसरे मर्द से शादी कर लेती है। तो हमने भी इमरान से कुछ ऐसे ही सवाल पूछे जिसके जवाब इमरान ने बेधड़क दिए –

“मैं रहूं या ना रहूं”  एलबम में “लिप लॉक” नहीं कर रहे हैं क्या “अज़हर” में लिप लॉक की गुंजाईश है ?

बायोपिक्स में भी लोग किस जरूर करते हैं। मुझे यकिन है कि अज़हर ने भी किस (चुंबन) किया होगा ? दरअसल में बायोपिक्स में कुछ ज्यादा ही किसिंग होते है और यदि नहीं है तो हम कुछ किसिंग सीन्स और जोड़ देंगे।

esha-emraan480

अपने क्लीन शेव लुक के बारे में कुछ बोले ?

जी हाँ करीब 15 सालों के बाद मैंने शेव किया है। इस फिल्म में क्रिकेटर का किरदार निभा रहा हूँ आपका  अजरुद्दीन बना हुआ हूँ तो उनकी तरह ही तो लगाना है मुझे। फिल्म की आखिरी शूटिंग के पड़ाव पर हैं हम सभी। आशा है मेरी यह बायोपिक सब को पसंद आएगी मैंने इसके लिए काफी मेहनत भी की है। अजरुद्दीन से ही क्रिकेट सीख रहा हूँ और आशा करता हूँ कि मेरी बैटिंग और बोलिंग भी अब बेहतर हो गयी है।

“मैं रहूं या ना रहूं” कि तरह ही क्या किसी ने भी आप को डम्प किया था ?

“मेरे विचार से हर व्यक्ति इस दौर से जरूर गुजरता है। हर व्यक्ति का दिल किसी ना किसी मोड़ पर जरूर टूटता होगा। जी हाँ मेरा भी दिल टुटा था जब मैं केवल 15 साल का ही था। मेरे ख्याल से हर व्यक्ति को ज़िन्दगी में एक बारी तो अपने दिल को रौंद डालना चाहिए और में यह बात सही मायने में कह रहा हूँ। क्यूंकि ऐसा करने से आप दो बातें जरूर सीख लेते हैं कभी भी किसी भी लड़की को अपना नहीं मान लेना होता है जब तक उसे यह क़बूल ना हो और दूसरी बात यह कि समय से अपने प्यार का इजहार जरूर कर देना चाहिए। एक तरफा प्यार हो तो दूसरे को आप के दिल की ख्वाहिश के बारे में कैसे एहसास होगा?

Main-Rahon-ya-na-Rahoon-song-video-download

आज सेंसर की कैंची कुछ और तेज हो गयी है सो आपकी किसिंग सीरियल इमेज कुछ कम करनी होगी ?

फिल्म किसिंग पर ही चलेगी ? मैं ऐसा कभी नहीं सोचता हूँ कहानी अच्छी होनी चाहिए और केवल किसिंग की वजह से सेंसर की कैंची चले और कहानी पर असर पड़े यह अच्छी बात नहीं है।

खैर इमरान की किसिंग सीरियल इमेज 2000 से मशहूर हुई थी। अब देखना यह होगा कि यह इमेज इमरान की फिल्मों के आड़े आती है या नहीं ??

इमरान ने कुछ सोच कर आगे कहा, ” देखिये, सेंसर की कैंची अपना काम करती रहे, यह अच्छी बात है और हमारी फिल्म में यदि दम है और कहानी अच्छी है, फिल्म भी बेहतर निर्देशित की गयी है, तो ऐसी फिल्म हमेशा से ही अच्छा बिज़नेस करती है। फिर चाहे सेंसर की कैंची कितने भी कट्स क्यों ना दे फिल्म को !!

चलिए “मैं रहूं या ना रहूं” वीडियो ने अपना झण्डा तो म्यूजिकल चार्ट बस्टर पर बखूबी लहरा ही दिया है। आशा करते हैं कि इमरान की अगली बालाजी प्रोडक्शन द्वारा निर्मित, “अज़हर” भी अपना जलवा बॉक्स ऑफिस पर धड़ल्ले से जमाये !!

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये