INTERVIEW!! ‘‘अगर किसी चैनल से अच्छा प्रस्ताव आया तो मैं इस शो को जरूर टीवी पर देखना चाहूंगा’’ – कबीर बेदी

1 min


आज से तकरीबन चालीस पेंतालिस साल पहले एक पंजाबी नौजवान ने हिन्दी फिल्मों में प्रवेश किया था। लेकिन कबीर बेदी नामक जबरदस्त पर्सनेलिटी के उस नौजवान को उन दिनों लोकप्रिय स्टार्स के बीच जगह बनाने में खासी मशक्कत करनी पड़ी। उन दिनों उनकी जो भी तीन चार फिल्म आई उनमें उन्हें कोई खास सफलता नहीं मिल पाई। लिहाजा कबीर बेदी ने निराश हो विदेशी फिल्मों की तरफ जाने का सोचा था कि उन्हीं दिनों उन्हें पता चला कि इटली में एक मशहूर किताब पर सीरियल बनने जा रहा हैं जिसका नाम ‘संदोकन’ है। कुछ सोचते हुये कबीर बेदी ने उस धारावाहिक में कोशिश करने का निश्चय किया। लिहाजा किस्मत पर सब छोड़ते हुये उस शो के लिये उन्होंने ऑडिशन दे दिया और उन्हें उस वक्त बहुत हैरानी हुई कि जब वंहा के स्थानीय कलाकारों को नजरअंदाज करते हुये शो में उन्हें मुख्य भूमिका के लिये चुना। उस धारावाहिक ‘संदोकन’ की कहानी एक ऐसे राजकुमार की थी जिसके राज्य पर अंग्रेज कब्जा कर लेते हैं बाद में राजकुमार एक बागी बन अंग्रेजों से लोहा लेता है। धारावाहिक पूरे विश्व में बहुत ज्यादा पंसद किया गया। इस तरह कबीर बेदी की हॉलीवुड की फिल्मों में भी एन्ट्री हो गई।

Kabir-bedi-lanch-sandokan

उन्होंने हॉलीवुड में अपने पच्चीस साल के करियर में कई धारावाहिक और फिल्में की। जेम्स बांड सीरिज की फिल्म ‘ऑक्टोपसी’ में उनके नेगेटिव किरदार को देश विदेश में काफी सराहना हासिल हुई थी। परन्तु उन्हें उस वक्त भी भारतीय फिल्मों की याद आती रही, लिहाजा एक दिन उन्होंने एक बार फिर बॉलीवुड में किस्मत आजमाने का फैसला किया लेकिन इस बार यहां उनका जोरदार स्वागत हुआ। यहां उन्होंने कच्चे धागे, किस्मत, खून भरी मांग, क्रांति तथा ‘मैं हूं ना’ आदि फिल्मों में पॉजीटिव नेगेटिव दोनों तरह की भूमिकायें अभिनीत की ।

उन्हें एक दिन चालीस साल पहले बने अपने धारावाहिक ‘संदोकन’ की याद आई तो उन्होंने उसे हिन्दी में डब कर डीवीडी के रूप में रिलीज करने का निश्चय किया। वे चाहते थे पूरे विश्व की तरह इस धारावाहिक को हिन्दी भाषी दर्शक भी देखें। अपने आइडिया को सही रूप देते हुये उस धारावाहिक की डीवीडी का हाल ही में कबीर बेदी न अपने दोस्त अनिल कपूर के हाथों लांच किया।

Kabir Bedi in Sandokan
Kabir Bedi in Sandokan

इस अवसर पर अनिल कपूर का कहना था कि इस वक्त इस डीवीडी को लांच करते हुये आपकी तरह मुझे भी एक्साइटमेंन्ट हो रही है। काश इस तरह का कोई धारावाहिक मैं भी कर पाता। टी वी पर प्रसारित करने के सिलसिले में कबीर बेदी का कहना था कि ये शायद पहली बार ऐसा हो रहा है जब किसी धारावाहिक की डीवीडी लांच की गई क्योंकि लोग पहले अपने कार्यक्रम का टीवी पर दिखाते हैं लेकिन मैने पहले इसको डीवीडी के रूप में बाजार में उतारा है, लेकिन अगर किसी चैनल से अच्छा प्रस्ताव आता है तो मैं जरूर इस शो को टीवी पर प्रसारित करना चाहूंगा।

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये