NTERVIEW!! ‘‘ मेरा झगड़ा होता है, दुश्मनी नहीं’’ – नाना पाटेकर

1 min


नाना पाटेकर ने अपना कमबैक फिल्म अब तक छप्पन पार्ट टू से किया उस फिल्में में वे काफी उत्साह से भरे दिखाई दिये थे । लेकिन जल्द रिलीज होने जा रही फिल्म ‘‘वैलकम बैक’की प्रैस कान्फ्रैंस के दौरान तो उनके व्यक्तित्व में देखे गये भारी बदलाव को देखकर हैरानी हुई क्योंकि वे उस समय अपनी उम्र से दस साल छोटे दिखाई दे रहे थे । इस अवसर पर वह न कि खुशगवार मुड में थे बल्कि उनके जवाब भी ठहाके मारने पर मजबूर कर रहे थे । उसी अवसर पर श्याम शर्मा से हुई बातचीत के अंश कुछ यूं रहे ।

क्या कारण है कि इस उम्र में भी आप जवानों की तरह चमकते दिखाई दे रहे हैं ?

दुनिया में तीन लोगों की उम्र ढलती नहीं दिखाई देगी । सूरज, उदय मैं और मजनू यानि अनिल कपूर। बल्कि सूरज तो फिर भी शाम को ढल जाता है लेकिन हम नहीं ।

आपने इस फिल्म में अभी तक शादी नहीं की, कैसी भाभी चाहिये ?

भाभी तुम्हारी और पूछ मुझसे रहे हो। अरे कैसी भी चलेगी सुंदर सुशील वगैरह वगैरह । तलाश जारी हैं । हमारे पास धन दौलत शौहरत सब कुछ है लेकिन उसे खर्च करने वाली कोई औरत नहीं इसलिये तलाश जारी है ।

nana patekar 2

पहली फिल्म में आपका और अनिल कपूर का मल्लिका शेरावत को लेकर झगड़ा था, इस बार कौन है?

हर बार एक ही औरत थोड़ा न होगी। इस बार हमारे लिये एक नई नकोर लड़की अंकिता श्रीवास्तव का सैलक्षन किया गया है । जब मैने अंकिता के सलेक्ट होने के बाद उससे दिल से पूछा कि कैसा लग रहा है बच्ची । तो वो मुझसे तुनक कर कहने लगी, आप मुझे बच्ची क्यों कह रहे है फिल्म में मैं आपकी प्रेमिका बनी हूं। तो मैने कहा अरे बेटा वो फिल्म की बात हैं मैं तुझे फिल्म से बाहर आकर एक बुर्जुग की तरह पूछ रहा हूं । वहां सिर्फ तुझे या मुझे एक्टिंग करनी है जिसके लिये मुझे पैसे मिले है । वैसे भी मै तेरे साथ एक्टिंग ही कर सकता हूं और तो कुछ नहीं कर सकता ।

अकिंता की ये पहली फिल्म है। आपके सामने वो किस हद तक नर्वस थी ?

ऐसा कुछ नहीं था । शुरू शुरू में वो शरमाई शरमाई सी रहती थी । लेकिन बाद में तो हम उससे शरमाने लगे थे । लेकिन पहली फिल्म के मुताबिक बच्ची ने बहुत अच्छा काम किया । हालांकि उससे पहले मैने फिल्म के निर्देशक अनीस बज्मी को इस रोल के लिये दो तीन नाम सुझाये थे लेकिन इस बच्ची ने दो जवान बच्चों मैं और अनिल कपूर के सामने बेहतरीन काम करके दिखाया । इसके अलावा मैं फिल्म के प्रोडयूसर फिरोज नाडियाडवाला का बहुत शुक्रगुजार हूं फिल्म के खत्म होने के छ: महीने पहले ही मेरे सारे पैसे मिल गये थे इसलिये मैं बहुत खुश हूं ।

w-nanapatekar

अंकिता के अलावा फिल्म में हुए कुछ और बदलाव के बारे में क्या कहना है ?

जंहा रिप्लेसमेन्ट की बात की जाये तो मरहूम खान साहब यानि फिरोज खान साहब के बाद उनका कोई रिप्लेसमेन्ट नहीं हो सकता । फिर भी इस पार्ट में उनकी जगह नसीर साहब हैं जो हिन्दुस्तान के बेहतरीन अदाकार है । इनके अलावा जाॅन अब्राहम के साथ इससे पहले मैने फिल्म टेक्सी नबंर नो दोे ग्याराहकी थी उस वक्त में जाॅन राॅ मैटीरियल था,नया था । पता नहीं क्यों वो उस वक्त बार बार घबराता था लेकिन इस फिल्म में उसे देखकर मैं तो हैरान था ही ,लेकिन आप भी उसका काम देखकर तालियां बजाने पर मजबूर हो जायेगें ।

अनिल कपूर के साथ आपने एक अरसे बाद काम किया है ?

मुझे याद हैं जब मैने पहली बार अनिल के साथ परिंदा में काम किया था, उस वक्त वो बड़ा स्टार था जबकि मैं एक हद तक नया था । लेकिन उस फिल्म में हमारी इतनी गहरी दोस्ती हो गई कि उसके बाद हमने करीब उन्नीस साल बाद इस फिल्म में काम किया। दूसरी बात काम करने में जितना मजा परिंदा में मुझे अनिल के साथ आया था उससे कहीं ज्यादा आनंद उसके साथ काम करते हुए इस फिल्म में आया। मैं ये भी कह सकता हूं कि इस फिल्म में अनिल जैसे दोस्त को पाया, यही मेरी कमाई थी। इस फिल्म से मुझे एक बार फिर मेरा छोटा भाई मिल गया।

DSC_0009

आखरी सवाल कि आप की हर फिल्म में आपका झगड़ा जरूर हाता है बेशक सामने कोई भी हो ?

इसे आप मेरी आदत कह सकते हैं । यहां अनीस बज्मी से मेरा खूब झगड़ा हुआ लेकिन मैं उस झगडे़ को आगे तक नहीं ले जा पाता । मेरा झगड़ा होता है लेकिन दुश्मनी नहीं।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये