INTERVIEW!! लोकप्रिय एक्टर पंकज त्रिपाठी से एक मुलाकात

1 min


पिछले दिनों मेरी मुलाकात बॉलीवुड के चर्चित और पॉपुलर एक्टर पंकज त्रिपाठी से करवाई प्रचार निर्देशिका स्मिता सिंह ने। बॉलीवुड वो जगह है जहां बाहर से आये कलाकारों, जिनकी यहाँ कोई छत्रछाया नहीं होती, कोई कैंप या कोई गॉड फादर, गॉड मदर या पथ प्रदर्शक नहीं होता, उन कलाकारों को संघर्ष का वो दरिया डूब कर पार करना पड़ता है जिसमें कई बार लोग या तो डूब जाते हैं या बर्बाद हो जाते हैं, गुम हो जाते हैं या लौट जाते हैं। लेकिन पंकज उन कलाकारों में से हैं जिन्होंने अपनी कड़ी मेहनत, लगन, और बेहतरीन अदाकारी से बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने में कामयाबी हासिल की, हालाँकि उनके अनुसार मंजिल अभी दूर है। पंकज एक किसान परिवार में पंडित बनारस त्रिपाठी तथा हेमंती के घर, एक छोटे से गाँव, गोपाल गंज, पटना बिहार के उस क्षेत्र मे पैदा हुए थे जहां आज भी घर घर में टीवी नहीं है और सबसे नजदीक का सिनेमा थिएटर पच्चीस किलोमीटर दूर है। लेकिन बचपन से ही प्रतिभा से ओत-प्रोत पंकज हमेशा कुछ हटकर करते रहते थे। पढ़ाई के दिनों मे स्टूडेंट मूवमेन्ट के तहत वे कुछ दिन जेल में भी गए थे, वहीं उन्हें कविताओं और इमोशनल उपन्यासों की आदत लगी।

थिएटर का शौक भी उन्हीं दिनों की देन थी। उन्होंने कई प्लेज भी किये और जाना की एक्टिंग ही उनका प्यार और तमन्ना है,  तब दिल्ली में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से अभिनय प्रशिक्षण के पश्चात मुम्बई बॉलीवुड मे किस्मत आजमाने आ गए। यहाँ बिना किसी पहचान, बिना किसी कैंप या गॉड फादर, उन्हें संघर्ष तो बेहिसाब करना पड़ा लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। शुरुआत छोटी भूमिकाओं से की, फिर अपने बलबूते और टेलेंट से बेहतरीन फिल्मों में सशक्त भूमिकाये करते हुए लोकप्रियता की मंजिले तय करने लगे। उनकी फिल्में मसान, गैंग्स ऑफ वासेपुर पार्ट वन, पार्ट टू, मांझी द माउंटेन मैन, फुकरे, मंजिल, अग्निपथ, गुंडे, ए. बी. सी. डी, रंगरेज,  दिलवाले, तेलुगु में एक फिल्म, काफी लोकप्रिय और हिट रही। सुनने में आया था की पंकज एक टीवी सीरियल ‘सरोजिनी एक नयी पहेली’ में भी बेहतरीन भूमिका निभा रहे हैं, इसी बारे में बातें उठी तो सवाल जवाब का सिलसिला शुरू हो गया।

411951509136882690741509031549367944001481186161n

आप टीवी सीरियल सरोजिनी एक नई पहेली में क्या कर रहे हैं ?

मैं मायापुरी के जरिये सबको ये खबर देना चाहता हूँ कि अब मैं ये सीरियल नहीं कर रहा हूँ। कुछ दिन पहले ही मैंने यह शो छोड़ दिया है। हालांकि इसमें मेरी भूमिका (दुष्यंत की) बेहद दमदार और रेयर किस्म की थी, जिसमें मैं एक बेहद डॉमिनेटिंग इंसान की भूमिका कर रहा था, लेकिन यह सीरियल मुझे समय की कमी के कारण छोड़ना पड़ा, क्योंकि मैं फिल्मों में बहुत व्यस्त हो गया हूँ और टीवी तथा फिल्मों को एक साथ संभालना मेरे लिए मुश्किल हो रहा था।

यानी, आप टीवी में नहीं फिल्मों में अपना करियर आगे बढ़ाना चाहते हैं ?

जी हाँ मैं फिल्मों में ही अपना करियर आगे बढ़ाना चाहता हूँ।

आपने कई फिल्मों में बेहतरीन भूमिकायें निभाई है, आगे क्या?

जी हाँ, मैंने कई सारी बेहतरीन फिल्म जैसे गैंग्स ऑफ वासेपुर पार्ट वन एंड टू, फुकरे, मांझी- – -, दिलवाले जैसी फिल्मों में काम किया, आगे भी मैं अच्छी फिल्मों में अच्छी भूमिकायें ही करते रहना चाहता हूँ। मेरी आने वाली फिल्में हैं ‘ग्लोबल बाबा’, ‘निल बटे सन्नाटा’, ‘लाइफ बिरयानी’, ‘गुडगाँव’, ‘जूली टू’, वगैरा।

 क्या आगे कभी टीवी में काम करने की मंशा रखते हैं?

फिलहाल तो मैं सिर्फ और सिर्फ फिल्मों में अपना ध्यान लगाना चाहता हूँ, मैं इतना अच्छा काम करना चाहता हूँ फिल्मों में कि मैं सबके दिलों में बस जाऊं। मैं अपनी इमेज को बैलेंस करते हुए मासेस के बीच लोकप्रियता का शिखर छूना चाहता हूँ।

Pankaj-Tripathy

क्या बतौर फिल्म एक्टर आपको अपना जॉब सेटिसफैक्शन लग रहा है ?

बिल्कुल, लेकिन मैं इस क्षेत्र में बतौर एक्टर और अच्छे काम करना चाहता हूँ। होप, आने वाले सालों मे मुझे और अच्छे मौके मिलेंगे।

क्या आपने कभी मायापुरी पत्रिका पढ़ी है?

अरे, बचपन से मैं मायापुरी पढ़ रहा हूँ और मायापुरी के जरिये ही मैंने बॉलीवुड को पहचाना और उसके प्यार मे पड़ गया। मायापुरी हमेशा मेरी फेवरेट पत्रिका है और रहेगी।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये