INTERVIEW: सिंगल डिस्ट्रीब्यूटर्स का दौर वापस आएगा – राकेश ओम प्रकाश मेहरा

0 151

Advertisement

लिपिक वर्मा 

राकेश ओम प्रकाश मेहरा ने हमेशा से ही बड़े कैनवास की फिल्मों को ही निर्देशित कर अपना दम ख़म  आजमाया है। उनकी फ़िल्में कुछ अलग ही होती है। अपनी पहली फिल्म, “अक्स” में अमिताभ बच्चन के साथ काम किया और फिर, “देहली सिक्स” जो बाद में एक कल्ट फिल्म साबित हुई। हाल ही में, कुछ दो  वर्षों पहले, “भाग मिल्खा भाग” फिल्म  से भी ढेर सारी वाह  वाही बटौरी  है उन्होंने। अब नए चेहरे   हर्षवर्धन कपूर और सैयामी को लेकर उनकी फिल्म, “मिर्जिया” को लेकर फ़िल्मी दुनिया में काफी कौतूहल मचा  हुआ है, हाल ही में “मिर्जिया” फिल्म का म्यूजिक  एक बहुत ही बड़े पैमाने पर रिलीज हुआ और इससे लोगों की उम्मीदें और बढ़ गयी है। गुलज़ार साहब की स्क्रिप्ट है सो यह तो जैसे सोने पे सुहागा जैसा मामला हो गया है। खेर प्रोमोज बेहद अच्छे लगे सबको – राकेश ओम प्रकाश के साथ लिपिका  वर्मा की  अन्य पेशकश

फिल्म मिर्जिया अनिल थडानी द्वारा विदेशी देशों एवं पूर्ण भारत में रिलीज़ पर क्या कहना चाहेंगे?

 जी हाँ मेरी फिल्म, ‘मिर्जिया” ऑल ओवर वर्ल्ड मेरे दोस्त अनिल थडानी द्वारा रिलीज की जा रही है। आपको बतला दूँ -फिल्म कुछ कम्पलीट होने के बाद मैं सबसे पहले अपने मित्र अनिल के पास गया। उन्हें फिल्म दिखलाई और सीधे सीधे कह दिया कि कुछ चार माह का काम बाकी है, सो उस में भी आपको कुछ अलग मिलेगा। यह आपके सामने है सो अब आपको इसका वितरण देखना होगा। अनिल के लिए यह पहली बारी होगा कि- वह मिर्जिया से वर्ल्ड वाइड डिस्ट्रीब्यूशन शुरू कर रहे है। मुझे इस बात का भी अंदेशा हो रहा है, जैसी की हमारी फिल्म ट्रेड की हालात है और काफी सारे कॉर्पोरेट डिस्ट्रीब्यूटर्स बन्द हो रहे है, अब सिंगल डिस्ट्रीब्यूशन का समय  लौटते हुए दिखाई दे रहा है मुझे। यह ख़ुशी की बात है की सिंगल डिस्ट्रीब्यूशन की वापसी से हम निर्माताओ का कुछ फ़ायदा होगा।rakhysh-mehra

अनिल थडानी ही क्यों चुना आपने ?

सीधी सी बात है, मैं  विश्वास के साथ ही अपने काम को आगे बढ़ता हूँ। अनिल पर पूर्ण विश्वास है। मैंने अपनी फिल्म टेबल पर यानि, “आउट राईट” पर नहीं बेचीं है। हम प्रॉफिट शेयर करेंगे। मैं भी एक प्रोड्यूसर ही हूँ और यदि मेरी फ़िल्में ठीक-ठाक  व्यापार  नहीं कर पायी तो मैं  अपनी अगली फिल्म कैसे बनाऊगा? सो बिज़नेस तो करना ही है। ऊपर से मै चार  साल के  बाद एक फिल्म बनाता हूँ यह भी एक बहुत बड़ी बात है मेरे लिए बिज़नेस में बने रहने के लिए मैं अपनी स्क्रिप्ट पर सशक्त कार्य करता हूँ। सो इसके लिए मुझे समय भी लगता है। मेरा ऐसा मानना है कि – यदि स्क्रिप्ट में दम नहीं तो फिल्म अच्छी नहीं चलेगी। वैसे तो यह एक टीम वर्क होता है। मेरे लिए मेरा स्पॉट बॉय भी मेरी ही टीम का है। फिल्म “मिर्जिया” में मेरे स्पॉट बॉय ने मुझे -18 डिग्री सेल्सियस पर चाय भी पिलाई, खाना भी खिलाया और समय समय पर नींद से उठाया भी। सो यह उसकी फिल्म है। हाँ बतौर निर्देशक मुझे अपना बेस्ट देना होता  है सो उसके लिये ठोक बजा  कर ही काम करना होता है।

सफलता एवं असफलता को किस तरह देखते है आप

भाग्यवश, मेरे लिए सफलता एवं फेलियर एक सिक्के  के दो पहलूँ की  तरह ही है। सफलता या फिर असफलता जो कुछ भी हमें मिले वह एक टीम की वजह से ही हासिल होती है। और यह भी सही है – कहानी  से लेकर, फिल्म प्रदर्शन  से लेकर जनता  के आने तक फिल्म की किस्मत,यह एक साइकिल है। जैसे ही यह सब फिट बैठे है  तब जा कर बॉक्स ऑफिस के अच्छे या बुरे रिजल्ट पर ही फिल्म की सफलता या असफलता निर्धारित होती है।

जनता से अपने फिल्मों के लिए की अपेक्षा रहती है आपको?

सच कहूँ तो, ऑडियंस ने कभी भी मुझ से कुछ भी डिमाण्ड नहीं किया है। हमेशा से ही मुझे फ़िल्में बनाने की परमिशन दी है। बस फिर मेरा यही काम  होता है- बतौर निर्देशक मुझे उन्हें अच्छी कहानी  पेश करनी होती है ऑडियंस थिएटर  में एंटरटेन होने के लिए आती है। सो हमें उनकी यह मनोकामना पूरी करनी चाहिए। मुझे उनकी टिकट  की कीमत देनी ही है।mirzya

हिंदी फ़िल्में भी सम्पूर्ण विश्व में अपना झंडा फहराये इस के लिए क्या कर  रह है आप?

देखिये, फिल्म फेस्टिवल्स सिर्फ एक तबके की ऑडियंस के  लिए ही होता है। मेरी मनोकामना है- जिस तरह हम सब हॉलीवुड फ़िल्में देखते है – उस तरह – मैं  चाहता हूँ, ख़ास कर एक आम आदमी को   भी हमारी तरह पूर्ण विश्व की हर भाषाओं  में बनी फ़िल्में देखने का सौभाग्य प्राप्त हो।  वर्ल्ड मैप पर समय समय पर हिंदी फिल्मों का प्रदर्शन हो, इस ओर मैंने काम शुरू कर दिया है और हो सकता है मेरे शुरू किये हुए काम को अन्य फिल्म मेकर्स भी आगे बढ़ा  सकते है। पूर्ण विश्व  के मैप पर हिंदी फिल्मों का भी समय समय पर प्रदर्शन हो तो हमारे लिए यह गर्व की बात होगी।

राकेश ओम प्रकाश की बहुचर्चित फिल्म, “मिर्जिया” इस सप्ताह 7 अक्टूबर को बड़े परदे पर अपना जलवा दिखलाने आ रही है। फिल्म में अपना दम खम दिखलाने नए कलाकार – हर्षवर्धन और सैयामी खेर भी अपनी पहली पारी  शुरू करेंगे।

Advertisement

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.