“आपको ताज्जुब होगा कि – पहली बार मुझे कैटरीना कैफ ने सलमान ख़ान से मिलवाया था” रितेश देशमुख

1 min


रितेश देशमुख ने विभिन्न किरदारों को निभा कर समय समय पर यह साबित कर दिया है कि- वो एक बहुत ही सुलझे हुए एक्टर हैं। उन्हें राजनीति में रहना भले पसंद ना हो किन्तु वो राजनीति से जुड़े जरूर रहते है अखबारों द्वारा।

कॉमेडी किरदार हो या कोई भी भावुक किरदार हो रितेश ने हमेशा से सभी किरदारों में जान डाल दी हो जैसे। अपनी अभिनय क्षमता से किरदार को जीवंत करने की कोई भी कसर नहीं छोड़ते है रितेश।

पेश है एक अनूठी भेंटवार्ता हमारी संवाददाता लिपिका वर्मा के साथ

आपकी ग्रैंड -मस्ती ने तो बॉक्स ऑफिस पर झंडे गाढ़ दिए थे क्या कहना है ?

आप को इस बात का ताज्जुब होगा कि मैंने अभी तक ग्रैंड मस्ती फिल्म देखी ही नहीं है। जब यह फिल्म रिलीज़ हुई थी तब मैं लंदन में था। फ़िलहाल ग्रैंड मस्ती पार्ट -2 भी आधी खत्म हो गयी है। और यह पहली वाली ग्रैंड मस्ती से भी बहुत अच्छी लगेगी लोगों को।

तो यह क्या सेक्स कॉमेडी ही है?

नहीं यह डिवोशनल फिल्म है ! हंस के पुष्टि करते हुए बोले-“औरतों के प्रति भक्ति !

सलमान आपकी बहुत तारीफ कर रहे थे। आप पहली बार सलमान से कब मिले थे ?

सलमान इज़ ए स्वीट हार्ट ! हालांकि मैंने उनके साथ कभी कोई फिल्म नहीं की है। सिर्फ ,”लेह भारी” में एक सीन किया था उनके ही कहने पर। मुझे आज भी याद है कि- जब मेरे पिताजी का प्रचार चल रहा था तब सलमान ने सामने से कहा – क्या मैं आपके पिताजी के कैंपेन में शिरकत कर सकता हूं एक होता है ना – आप सामने से पूछ कर किसी की सहायता करें और दूसरा आप उन्हें बुलाकर उनसे मदद लें। सलमान ने सामने से कहा यह हमारे लिए बहुत बड़ी बात है। मेरे ख्याल से फिल्म इंडस्ट्री का हर एक व्यक्ति किसी न किसी तरह से उनसे जुड़ा हुआ है उनके पास सलमान की कोई न कोई मानवीय कहानी कहने को जरूर होगी। इस पर एक आर्टिकल लिखा जा सकता है।

salman-riteish_625x300_61410876042

आप पहली बार कब मिले थे सलमान से ?

आपको ताज्जुब होगा कि -पहली बार मुझे कटरीना कैफ ने सलमान से मिलवाया था। मैं कटरीना को सलमान से पहले जानता हूं। हम दोस्त है। हम लोग ,”ओलिव” में थे जब कैटरिना ने मुझे सलमान से मिलवाया । तब से लेकर आज 10 साल गुजर गए हैं हम एक दूसरे के अच्छे दोस्त हैं। वो होता है ना रिश्ते और दोस्ती मतलब की ना हो तो बहुत आगे तक चलती है। रिश्ते जोड़ना आपको आना चाहिए जैसे कि – मै कोई काम मांगने उनके पास जाऊं और उनकी शोहरत की वजह से कोई मतलब निकालूं तो वह दोस्ती दोस्ती नहीं होती है। हमने अपनी दोस्ती महज दोस्ती तक ही रखी है। अतः हम 10 सालों से ज्यादा अपनी दोस्ती कायम कर सके।

आपकी बंगीस्तान फिल्म आ रही है उसके बारे में कुछ बताएं ?

बंगीस्तान एक देश है जिसके दो पाट उत्तर एवं दक्षिण नदी द्वारा बांटे  गए है। हर जोन में से लड़को को लाकर उनका मन बदला जाता है। यह फिल्म एक व्यंग्य है और आतंकवाद को बड़े ही हलके फुल्के ढंग से बतलाती है। मेरा नाम हफिज़ बिन अली है और मैं एक कॉल सेंटर में काम करता हू। इस किरदार का व्यक्तित्व कुछ गुस्सैल भी है। जैकलीन फिल्म में है, तो शायद रोमांटिक एंगल भी हो, वह तो आपको फिल्म देखने के बाद ही पता चलेगा।

Riteish-Deshmukh-Bangistan (1)

आपका फिल्मी सफर कैसा रहा ?

मुझे इस बात की ख़ुशी है कि मुझे अलग अलग किरदार निभाने को मिल रहे हैं। पहली फिल्म करने के बाद मैंने सोचा भी नहीं था कि -में   इतने साल तक इस इंडस्ट्री का हिस्सा बना रहूंगा। जहां मैं विलन का किरदार करता हू तो वहीँ मैंने हमशक्लस एवं लेह भारी जैसे किरदार भी निभाये है। और आज बंगीस्तान में अलग किरदार निभा कर बहुत ही अच्छा लग रहा है। यदि यह किरदार 8 साल पहले मिलता तो शायद में नहीं कर पाता। आज इतना काम कर लिया है सो कुछ तो अभिनय में मै मंझ ही गया हूं । बंगिस्तान एक ह्युमरस कहानी है इस किरदार को बहुत मज़ा आया करने में मुझे।

कुछ सोच कर रितेश बोलें,”दरअसल मैनें इंटीरियर डिज़ाइनर की डिग्री हासिल की है, किन्तु वह होता है ना आप किसी शॉपिंग मॉल में कुछ ख़रीदने निकलते है और सुबह से शाम हो जाती है वहीं पर शॉपिंग करते करते। बस ठीक वही मेरे साथ भी हुआ है ,मैंने एक फिल्म की और उसके बाद कब दस साल निकल गए मालूम ही नहीं पड़ा ?

आज आप पिता बन गए है बच्चे के लिए क्या कुछ करते है और अपने पिता की भी याद आती होगी ?

वैसे तो मुझे ज्यादा वक़्त नहीं मिल पता है, किन्तु जब मुंबई में शूटिंग करता हूं तब शूटिंग खत्म होने के बाद सीधे घर भागता हूं, अपने बच्चे की मुस्कुराहट देखने। और पिता की हैसियत से जो कुछ भी कर सकता हूं अपने बेटे के लिए जरूर करता हूं । और जहां तक मेरे पिताजी का सवाल है- मैं आपको यह बता दूं कि वह मेरे साथ हर दिन ही रहते है। जब कभी में फिल्म सिटी जाता हं तो उनके बोर्ड को पढ़ कर उनकी याद आ जाती है। यह चित्रनगरी का नाम उन्होंने ही रखा था। और तो और कोई न कोई उनकी बात- उनके साथ जुडी बातें करके रोज मुझे उनकी याद दिला देता है। मेरी आगामी फ़िल्में है ,”बैंक चोर , ग्रैंड मस्ती-2 और हाउसफुल-3

riteish-story_647_062215111053

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये