INTERVIEW!! “मुझे अथिया के इस फिल्मी परिवेश में जाने से कोई ऐतराज नहीं है” – सुनील शेट्टी

1 min


सुनील शेट्टी जिन्होंने अपने लम्बे  फिल्मी करियर  में बलवान,दिलवाले ,अंत ,मोहरा, रक्षक , बॉर्डर और धड़कन जैसी फिल्मो से अपना जलवा बॉक्स ऑफिस पर बखूबी फैलाया  था।

अथिया   की डेब्यू फिल्म ,”हीरो “के फर्स्ट लुक लांच पर पहुंचे तो लिपिक वर्मा से एक एक्सक्लूसिव भेंटवार्ता में  उन्होंने एक  पिता की हैसियत से बात की

मुझे इस बात की इतनी ख़ुशी हो रही है की सब सीनियर फोटोग्राफर्स एवं सीनियर पत्रकार भी मेरी बेटी की फिल्म हीरो के लांच पर आएं है और उन्होंने बड़ी शांति  पूर्वक करीब 2 घंटे ट्रेलर लांच  का इंतजार किया यह कह कर -अन्ना अपनी बेटी की फिल्म लांच हो रही है तो हमारा आना तो बनता ही है!” यह एक पिता के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण बात है। ”

“इससे भी ज्यादा यह मुझे अच्छा  लगा की हमारे बच्चे लांच नहीं हुए है – पर उनकी एक फिल्म लांच हो रही है।”

अथिया शेट्टी की आत्मविशेष की  कहानी हमे सुनील ने बतलायी -“अथिया पहले से ही यह जानती  है कि उसे फिल्मी दुनिया में ही कदम रखना है। कई लोगो ने मुझ से पूछा भी कि क्या आप  इस बात से सहमत है ? तो मैंने उन्हें कहा -यार मैं इसी इंडस्ट्री में पला बड़ा हुआ  हूं  और  इस इंडस्ट्री को मुझसे बेहतर कौन जनता  है। मेरी बेटी की चाह  है और वह  इस काम में जोश महसूस करती है तो मुझे भला क्या ऐतराज़ होने वाला है। हमारी फिल्मी दुनिया बहुत ही अच्छी है बस हर लड़की को सोच समझ कर अपनी आकांक्षा को हासिल करना चाहिए।  ”

sunil shetty, athiya shetty, salman khan, sooraj pancholi, aditya pancholi
sunil shetty, athiya shetty, salman khan, sooraj pancholi, aditya pancholi

कुछ और सोच कर अथिया के फिल्मी  पैशन (जोश) के बारे में सुनील ने हमे बतलाया – हमारे टाइम में हम लोग कुछ भी नहीं  थे। किन्तु मेरी बेटी में एक जबरदस्त पैशन देखा है मैंने. वह एक प्रशिक्षित कलाकार है। और आप यह बात समझ ले की उसने बहुत सारे ऑफर को आसानी से ,”ना ” बोल दिया है। आज के बच्चे हमारी तरह इमोशनल नहीं है। वह यह बात बखूबी समझते है कि उनके लिए क्या सही और क्या गलत है। बल्कि उसका पैशन इतना मजबूत है अपने काम को लेकर की वह समय समय पर अपने हिंदी गुरु से हिंदी की शिक्षा भी लेती रहती है। और मुझे समझाती  है कि – पापा मुझे बस एक दो फिल्म ही करनी है एक साल में. मुझे यूं ही बहुत सारी फ़िल्में एक साथ नहीं करनी है। मुझे तो इस बात को सुन कर ताजुब  हुआ कि मेरी बेटी मुझ से कहती है  – “पापा मुझे बहुत  ट्रैवलिंग (यात्रा) भी करनी है ताकि में अपना ज्ञान ट्रैवलिंग से बढ़ा पाऊं। यह  सब सुन कर एक पिता की छाती फूल ही जाएगी  ना ? अथिया बहुत ही हार्ड वोरिंग लड़की है मुझे उसे टिप्स नहीं देने  पड़े।  बल्कि वह अपना बुरा – भला खुद ही  समझती ।

मुझे बचपन से वह देखती आई है -किस तरह मैंने उनके साथ व्यव्हार किया ,मेरा अपने माता -पिता के साथ किस तरह का रिलेशनशिप रहा और मेरी पत्नी के साथ भी। और उसने अपने घर के तौर तरीके भी बखूभी देखें है। तो इस बात का मुझे बहुत ही विश्वास है की वह यह सारे  नैतिक मूल्यों को अपने साथ लेकर ही चलेगी। सो मुझे अथिया के  इस फिल्मी परिवेश में जाने से कोई ऐतराज नहीं है।

सलमान और मेरा साथ एक लम्बे अरसे से है। लोग शायद जो ऊपरी तौर से देखते है बस वही समझ पाते  है। सलमान ही एक ऐसा बंदा है जो मेरी शादी में शामिल हुआ था। उस वक़्त के हीरोज में काफी मेल जोल होता था। हम एक दूसरे को बाँध कर  रखते थे।  और मेरी बेटी अथिया – उनके प्रोडक्शन हाउस से लांच हो रही है फिल्म ,”हीरो “में जिसका निर्देशक निखिल अडवाणी है। इससे ज्यादा खुदा से – मै  और क्या मांगू ?? यह सब ईश्वर का आशीर्वाद ही तो है।

02-sunil-shetty

मेरी बेटी मुझे से कई गुना ज्यादा बेहतर है अभिनय में। उसने बाकायदा एक्टिंग सीखी है और वर्क शॉप्स भी की है। मैंने  तो  कभी 6 फ़ीट या फिर 7 फ़ीट कूद कर अपने स्टंट्स द्वारा अपना हीरोज्म साबित किया है। यह निश्चित है की अथिया  अपनी शिल्प को आगे बढ़ाने  के लिए बहुत  मेहनत  भी करती है। अभिनय करने के लिए उसका ध्यान केन्द्रित रखती है इस बात से मुझे यह समझ  है कि  वह अपने काम के प्रति बहुत ही  ईमानदार और साथ ही काम को एन्जॉय भी करती  है।

जी हाँ साउथ से फिल्मो के ऑफर्स तो बहुत  आये  थे मेरी बेटी को। किन्तु उसको हिंदी फिल्मों से ही शुरुआत  करनी थी सो उसने कोई भी साउथ फिल्मो के  ऑफर के लिए हामी नहीं भरी ।

मैंने उसे यह जतला दिया है कि हम भी साउथ को बिलॉंग करते है और और सब हीरोइन साउथ से हिंदी फिल्मो में प्रवेश लेती है तो उनके लिए यही  कहा जाता है की  ब्यूटी  के साथ साथ उन में टैलेंट भी है। अथिया का काम देख कर सब ने जब मुझे कहा कि  आपकी बेटी में एक्सप्रेशंस भी है और पर्दे पर भी खूबसूरत लगती है तो यह एक पिता के लिया बहुत ही गर्व की बात है। यदि आगे चलकर कोई अच्छी स्क्रिप्ट मिलेगी साउथ से तो वो जरूर उस पर विचार करेगी। ”

Sunil-shetty-hot-look

मैंने अपनी बेटी को सब से अच्छी तरह ही रहने की शिक्षा दी है. किन्तु साथ यह भी  कह दिया है की यदि कोई अपना गलत  रवाईया (एटिट्यूड) दिखलाये तो तुम उस वक़्त के अनुसार जो ठीक लगे कीजिये।

सारी गलतियां की है अपने दौर में सबसे बड़ी गलती तो बिना किसी की हैसियत सूची समझे उनके रिश्तों को भावे बिना फिल्म कर ली उनके साथ। पर आज जब में पलट के देखता हू तो मुझे  शिकवा नहीं होती। बस यही समझ में आता  है की  उनसब से मेरे बच्चो का फयदा ही होग.

अथिया के साथ फिल्मो  में आने के लिए मेरा  यही विचार है कि -अभी तो मेरी बेटी की शुरआत है मैं उस पर किसी भी  तरह का बोझ नहीं बनना चाहता हू।

अन्ततः  अपनी फिल्म “दो चहरे ” जो इतनी देर में रिलीज़ हुई  सुनील कहते है -देखिये हर निर्माता का हक़ है कि – वो अपनी फिल्म देर सवेर रिलीज़ करें। मेरी  फिल्म भी ,”पिक्चर अभी बाकि है” काफी सालों बाद रिलीज़ हुई उसके लिए भी मैने जी जान से प्रोमोशन्स किये थे।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये