INTERVIEW!! ‘मैन्नू इश्क दा लग गया रोग’ रिमिक्स गाया तुलसी कुमार ने, मॉडल बनी खुशाली कुमार

1 min


‘मैन्नू इश्क द लग गया रोग, मेरे बचने की नईयों उम्मीद’ फिल्म ‘दिल हैं के मानता नहीं’ का ये गीत स्व. गुलशन कुमार को बहुत पंसद था। इसलिये इस गीत को उन्हें समर्पित करने के लिये इस बार इसका रिमिक्स गाया तुलसी कुमार ने और उस गीत में मॉडल बनी गुलशन कुमार की दूसरी बेटी खुशाली कुमार। इस सिंगल सॉन्ग एलबम को लेकर हाल ही में दोनों बहनों से हुई एक बातचीत।

इस सिंगल एलबम का प्रोग्राम कैसे बना। यहां खुशाली का कहना हैं कि रक्षा बंधन के अवसर पर भैया (भूषण कुमार) तुलसी के साथ डिस्कस कर रहे थे कि इस बार फिल्म ‘दिल हैं के मानता नही’ का पापा का फेवरेट गीत ‘मैन्नू इश्क दा लग गया रोग’ को हिट करना है। दरअसल हम जब छोटे थे तो पापा चुपचाप तुलसी को गाते हुये सुना करते थे, बाद में उन्होंने हम दोनों को ही संगीत की तालीम दिलाने के लिये म्यूजिक स्कूल में डाला लेकिन तुलसी बराबर क्लास अटेन्ड करती थी लेकिन मुझे म्यूजिक का जरा भी शौंक नहीं था इसलिये मैं क्लास बंक करके डांस और एक्टिंग करने की कोशिश में लगी रहती थी। तुलसी कहती हैं कि उन दिनों खुशाली शीशे के सामने तरह तरह के मुंह बनाती रहती थी और हर वक्त ठुमकती रहती थी। उन्हीं दिनों खुशाली और मैंने पापा के साथ एक मूवी की थी ‘जय मां वैष्णों देवी’ और जब पापा को खुशाली की रूचि के बारे में पता लगा तो उन्होंने कहा कि फिलहाल तुम्हें अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिये।

tulsi-and-khushali

खैर बात हो रही थी भैया के साथ इस गाने की। बीच में खुशाली बोलने लगती हैं कि मैं इन दोनों की डिस्कशन सुन रही थी तो मैने उस मीटिंग में शरीक होते हुये कहा कि भैया इस गाने के वीडियो का मेरे पास एक प्लान है। बाद में मैने उन्हें एक रफ स्टोरी बताई कि एक लड़की है जो हमेशा सपनों में खोई रहती हैं बाद में वो किस तरह अपने सपने पूरे करती है। भैया को मेरा आइडिया अच्छा लगा और उनके मुंह से निकला कि ये रोल तुम कर सकती हो। अब उन्होंने बोल तो दिया लेकिन फिर वे चुप हो गये । दरअसल उनका हमेशा ये कहना था कि कैमरे के पीछे तुम कुछ भी करो लेकिन ग्लैमर में कहीं भी समझौता नहीं किया जाता। मैने उन्हें कहा अब आपने कह दिया है तो मुझे ही करने दें। इस तरह तुलसी इस सिंगल सॉन्ग की गायिका बनी और मैं मॉडल। इस सिंगल रिलीज के बाद हम दोनों को ही ढ़ेर सारी फोन काल्स आ रही हैं। क्योंकि सभी को ये बहुत पंसद आ रहा है।

Khushali-Kumar-

लोगों का कहना कि लगता नहीं कि खुशाली ने पहली बार एक्टिंग की हैं। यहां खुशाली का कहना है कि ये आत्मविश्वास हमें पापा से ही मिला हैं वे जितने भी भजन वीडियो करते थे उनमें कहीं न कहीं मैं और तुलसी बैठे दिखाई देते थे। ये सब मेरे लिये नया नहीं है। तुलसी को आज म्यूजिक वर्ल्ड में सब जानते हैं लेकिन खुशाली के बारे में किसी को कुछ नहीं पता। यहां खुशाली का कहना हैं हर चीज का एक वक्त होता है दूसरे आपकी किस्मत में जब जो होना होता है वो तभी होता है। ऐसा भी नहीं कि मैं खाली बैठी थी मैं एक डिजाइनर हूं मैने अभी तक शकीरा, कामिन इलैक्ट्रा, जस्टिन के कपड़े डिजाइन किये है तथा बॉलीवुड में करीना कपूर,सोनम कपूर आलिया भट्ट, जैकलिन, बिपाशा बसु तथा तुलसी कुमार आदि मेरे क्लाइंट रहे है। वहां मैं अपना काम बराबर कर रही थी और आज भी मेरा डिजाइनिंग का काम जारी है लेकिन मुझे आज तक किसी ने डिजाइनर नही बल्कि मॉडल ही माना। कोई बोलता था कि आप मॉडल हैं या आपको मैंने शायद टीवी पर देखा है।

tulsi-kumar-wedding-ooo

तुलसी कहती हैं कि खुशाली को बचपन से ही अभिनय का शौंक रहा है लेकिन वो अब जाकर बाहर आ पाया है। म्यूजिक क्लास में पापा जब आते थे तो खुशाली वहां से नदारद रहती थी तो मैं उन्हें झूठ बोल दिया करती थी कि वो अभी उठकर गई हैं लेकिन बाद में पापा को पता चल गया था कि उसका ध्यान कहीं और है। खुशाली का कहना हैं कि मां वैष्णों देवी की बात की जाये तो एक दिन मैं सो कर उठी थी मेरे बाल इधर उधर बिखरे हुये थे तभी पापा ने मुझे देखा और कहा कि मुझे मेरी वैष्णों मां मिल गई है। लेकिन फिर उन्होंने कहा कि इसकी पढ़ाई डिस्टर्ब होगी। वहां मम्मी ने मेरा साथ देते हुये कहा आप फिकर न करें मैं सब मैनेज कर लूंगी। इस तरह मैं वो मूवी कर पाई थी। इस सिंगल सॉन्ग के वीडियों में खुशाली ने बहुत ही ग्लैमरस लुक के साथ अभिनय करते हुये जता दिया हैं कि उसमें एक खूबसूरत मॉडल और उम्दा अदाकारा के तमाम गुण मौजूद हैं। तो क्या मॉडलिंग और अभिनय आगे भी जारी रहेगा। जी हां आगे अगर एलबम या फिल्म में मुझे अच्छा कुछ करने को मिलता है तो मैं जरूर करूंगी।

SHARE

Mayapuri