INTERVIEW: ‘‘आज फिल्म स्टार से कहीं ज्यादा फेमस टीवी स्टार हैं’’ – निवान सेन

1 min


टीवी एक्टर निवान सेन बेसिकली बनारस से हैं उनकी पढ़ाई लिखाई काशी विद्या पीठ से हुई। वहां उन्होंने अपराध शास्त्र में एम ए किया। इसके बाद इलैक्ट्रॉनिक में आईबीएन से डिप्लौमा भी लिया। बकौल निवान इन सब के बावजूद बचपन से ही मेरा थियेटर करना जारी था। बनारस, इलाहाबाद,पटना तथा दिल्ली मेरे रंगमंच क्षेत्र थे।

निवान सेन दो हजार छह के जी सिने स्टार की खोज नामक रीयलिटी शो के  रनर रहे और वहीं उन्हें बेस्ट एक्टर का अवार्ड भी हासिल हुआ था। निवान का कहना है कि आप कह सकते हैं कि मेरी मुबंई में अभिनय की जर्नी उसी शो से शुरू हुई थी।

कुछ दिनों बाद निवान को एकता कपूर ने अपने धारावाहिक ‘कहानी घर घर की’ के लिये साइन किया। उस धारावाहिक में वो प्रणय नामक किरदार निभाते थे, जो साक्षी तंवर का पोता था। शो सुपर हिट रहा। इसके बाद निवान ने एक एक दो दो एपिसोड के कितने ही शो किये जैसे फुल टाइमपास, फिर कोई है तथा आहट इत्यादि। एक बार फिर निवान की एक मेजर शो में शुरूआत हुई। शो का नाम था ‘ दो हंसो का जोड़ा । राजश्री प्रोडक्षन द्धारा निर्मित वो शो दो भाईयों पर आधारित काफी हिट शो था। फिर वायरस के साथ यशराज का षो ‘खोटे सिक्के’ किया। राजश्री ने एक बार फिर निवान को अपने शो‘प्यार का दर्द है मीठा मीठा, प्यारा प्यारा’में लिया। उस शो में निवान एक नेगेटिव किरदार में दिखाई दिये। उस भूमिका में निवान को दर्शकों ने काफी पंसद किया।

निवान कहते हैं। मेरा टीवी का सफर दो हजार चार से शुरू हुआ था और वो दो हजार सोलह तक चला। क्योंकि उसके बाद मुझे इरोस की फिल्म मिल गई, जिसका नाम है ‘ सात कदम। फिल्म फुटबाल गेम पर आधारित है,  मेरे को एक्टर हैं रोनित राय और अमित साध। मेरे किरदार की बात की जाये तो वहां मेरा र्स्पोटिंग रोल है। लीडमैन अमित साध एक फुटबाल खिलाड़ी है, मैं उसका साथी होने के साथ साथ बेस्ट फ्रेंड भी हूं, रोनित राय हमारे कोच की भूमिका में हैं।

खेल की बात की जाये तो निवान फुटबाल के बहुत बढ़िया खिलाड़ी रहे हैं। स्पोर्ट में उन्होंने बतौर बॉक्सर शुरूआत की थी। फिर वे फुटबाल खेलने लगे। इसके अलावा निवान सो मीटर और दो सो मीटर दौड़ के एथलीट रहे हैं तथा डिस्ट्रिक और स्टेट लेबल के चैंपियन भी रहे हैं।

थियेटर से शुरूआत करने वाले निवान बाद में टीवी स्टार बने और अब फिल्म सात कदम से उन्होंने फिल्मों में भी कदम रख दिया है। यहां निवान का कहना है बेशक मैं फिल्म कर रहा हूं लेकिन टीवी का साथ बरकरार रहेगा।

टीवी और फिल्म के फर्क पर निवान का कहना है कि मुझे नहीं लगता कि दोनों में कोई फर्क बाकी रह गया है। दोनों ही आज एक दूसरे के पूरक बन चुके हैं  टीवी के बिना फिल्म नहीं,फिल्म के बिना टीवी अधूरा है। टीवी को लेकर निवान का कहना है कि अब वो जमाना नहीं रहा। एक वक्त था जब सास भी कभी बूह थी या कहानी घर घर की सरीखे शो बनते थे जो सालों साल चलते रहते थे लिहाजा एक्टर उनमें ट्रैप होकर रह जाता था, लेकिन आज कुछ शोज छोड़ दिये जाये तो तकरीबन हर शो की उम्र दो ढाई साल की होती है परन्तु इतने अरसे में उन शोज का एक्टर स्टार बन जाता है और अपने रोल सलैक्ट करने लायक हो जाता है कितने ही एक्टर तो ऐसे हैं जो पहले टीवी स्टार बने, फिर  टीवी प्रोडयूसर बन उन्होंने करोड़ों छाप लिये। आप कह सकते हैं कि टीवी आज प्रमोशन का बहुत बड़ा प्लेटफार्म बन चुका है। आज फिल्म स्टार्स की इतनी पहचान नहीं जितने टीवी स्टार पहचाने जाते हैं उनकी हद सिर्फ इंडिया तक नहीं बल्कि उन्हें तकरीब पचास देशों के दर्शक पहचानते हैं, वजह। क्योंकि टीवी शोज आज करीब पचास कन्ट्रीज में टेलीकास्ट हो रहे हैं।

निवान  फिल्मों के अलावा टीवी भी करेगें। यहां उनका कहना है कि आगे मुझे दो फिल्मों के ऑफर हैं लेकिन उनके बारे में कुछ भी बात करने पर प्रतिबंध है। अगर टीवी की बात की जाये तो आगे मैं अपनी फिल्मों के प्रमोशन के लिये टीवी पर दिखाई देता रहने वाला हूं।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये