INTERVIEW: विशाल श्रीवास्तव आटो ड्राइवर से सिंगर बनने तक का सफर  

1 min


कहते है ना अगर किसी के दिल में सच्चे मन से कुछ करने का जुनुन सवार हो तो वह कुछ भी कर सकता है। फिर चाहे व फुटपाथ पर सोने वाला आम आदमी, एक ढाबे में काम करने वाला एक लड़का और एक ऑटोरिक्शा चलाने वाला एक पति और पिता।

दिल्ली में जन्मे सिंगर विशाल श्रीवास्तव की जिंदगी इन्ही परेशानिया से गुजरी। लेकिन उन्होंने हार नही मानी बचपन से गाने का शौक रखने वाले विशाल ने सोनी टीवी के सिंगिग रियलिटी एक्स फैक्टर में हिस्सा लिया और जीवन में आए इस एक्स फैक्टर ने विशाल की जिंदगी पूरी तरह बदल दी। हाल ही में विशाल श्रीवास्तव से दिल्ली में मायापुरी पत्रिका के ऑफिस में हुई मुलाकात में उन्होंने अपने संघर्ष भरे जीवन के बारे में बताया

आपका बचपन किन परेशानियों में गुजरा?  

मेरा जन्म दिल्ली के आजापुर के में हुआ छोटी सी उम्र में मा का देहांत हो गया पारिवारिक कारणों के कारण 7 वर्ष की उम्र में ही घर छोड़ दिया था। शुरुआत में मैंने आजादपुर के बस स्टैंड के पास एक चाय की दुकान में काम किया और दिनभर की दिहाड़ी की मेरी कीमत थी एक चाय और ब्रेड। ऐसे में लोगो के छोड़े झूठन से भी मुझे पेट भरना पड़ता था। और कभी कभार तो ऐसा भी होता था कि भरभेट खाना भी नही मिलता था। दिनभर काम करने के बाद मैं वही बस स्टैंड की बैंच पर सो कर रात बिताता था । चाय की दुकान में काम करने के बाद मैने छोटी सी उम्र में ही साइकिल रिक्शा चलाना सीखा दिन को लाल बाघ की झुग्गियों में रिक्शा चलाने के साथ-साथ वहीं पहाड़ी अंकल के ढाबे में बर्तन धोने का काम करके अपना पेट भरा करता था। रात को ढाबे के काम से फ्री होने के बाद पास में ही एक अंकल का ऑटो धोने के बाद अंकल से ही ऑटोरिक्शा चलाना सीखा। इतना ही नही सब्जी, फल बसो में किताबे पेन बेचने का भी काम किया।

Vishal Srivastav, Shreya Ghoshal
Vishal Srivastav, Shreya Ghoshal

 एक्स फैक्टर ने कैसे आपकी जिंदगी बदल दी?

एक्स फैक्टर ने मुझे एक नयी जिन्दगी दी जो सपना लेकर मैं एक्स फैक्टर में गया था वो पूरा होने के कगार पर है। एक्स फैक्टर के करने बाद मुझे स्टेज शो मिलने लगे। मेरा जो सपना था पत्नी को टीचर बनाने का वो भी पूरा होने की दिशा में है पढ़ाने के साथ-साथ में उसे ब्यूटिशियन का भी कोर्स करा रहा हूं। इसके लिए मैं एक्स फैक्टर का बहुत बहुत शुक्रिया अदा करता हूँ साथ ही श्री मुकेश प्रमार जी का भी मै बहुत बहुत धन्यवाद करता हूँ और श्री सतीश दत्त जी का भी शुक्रिया अदा करता हूँ जिन्होंने मुझे काफी सपोर्ट किया आज में जहा हूं इन लोगों की वजह से हूं।

आपको गाने की प्रेरणा कहां से मिली किस सिंगर से आप इंस्पायर थे?  

बचपन से ही मैंने कुमार शानू और किशार दा के सुने है उनके गाने सुनकर ही मुझे गाने की प्रेरणा मिली मुझे लगता मेरी आवाज उनके गाने पर फिट बैठती थी कुमार शानू और किशोर दा मेरे आदर्श है।

एक्स फैक्टर में आपको तीनों जजो सोनू निगम श्रेया घोषाल, संजय जी का पूरा सपोर्ट मिला क्या वो सपोर्ट आपको अभी मिलता है?

जी बिल्कुल सोनू जी श्रेया दी और संजय सर मुझे आज भी उतना ही सपोर्ट करते जितना मुझे उन्होंने एक्स फैक्टर में किया इतना ही नही शानू दा, विवेक ओबरॉय,पॉलिटिशन अमर सिंह जी, जयाप्रदा मैम, यूडीएम इवेंट्स से धर्मेद कुमार जी डायरेक्टर बोनू कपूर जी मिनिस्टर शिवपाल यादव जी मुझे काफी सपोर्ट करते है।

Vishal Srivastav, Sonu Nigam
Vishal Srivastav, Sonu Nigam

आने वाले प्रोजेक्ट्स के बारे में बताइए

मेरे आनेवाले प्रोजेक्ट में बहुत जल्द एक सॉन्ग ‘सोचूं तुम्हे’, ‘सुकुं’ आनेवाला है जिसमें म्यूजिक दे रहे हैं म्यूजिक डायरेक्टर विनय कपूर इसके अलावा मुझे एक बहुत बड़े म्यूजिक डायरेक्टर ने अपनी फिल्म में गाने का मौका दिया फिलहाल में नाम नही लूंगा। लेकिन बहुत जल्द मैं फिल्मों में गाने वाला हूं।

अपने फैंस के के लिए क्या चाहेंगे आप

मैं यही कहना चाहूंगा कि अपने अंदर छुपे हुनर को काफी मरने ना दे उसको हमेशा जीवित रखे चाहे फिर वो जिंदगी का आखिरी पड़ाव ही क्यों ना हो मेहनत करते रहे सफलता आपके कदम एक दिन जरुर चूमेगी दोस्तों


Like it? Share with your friends!

Pankaj Namdev

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये