INTERVIEW!! ‘‘मुझे संगीत से बड़ा लगाव है..’’ सारा जेन डायस

1 min


कई सौंदर्य प्रतियोगिताओं की विजेता सारा जेन डायस ने मॉडलिंग, एमटीवी के वीजे से होते हुए अभिनय जगत में कदम रखा था। अभिनय जगत में उनके दस साल पूरे हो चुके हैं इस बीच उन्होंने हिंदी फिल्मों के अलावा कुछ दक्षिण भारतीय फिल्मों में भी अभिनय किया। दस साल का उनका करियर धीमी गति से ही चलता आ रहा है मगर उनकी अपनी एक पकड़ बनी हुई है हर फिल्म में उनके अभिनय की तारीफ होती है। इन दिनों वह मोजेज सिंह निर्देशित फिल्म ‘जुबान’ को लेकर चर्चा में हैं, जो कि ‘बुसान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल’ सहित कई फिल्म समारोहों में धूम मचा चुकी है। ‘जुबान’ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत हो चुकी है। पिछले दिनों सारा जेन डायस से मुलाकात होने पर हुई बातचीत इस प्रकार रही।

आपका करियर जिस मुकाम पर होना चाहिए था, वहां तक नहीं पहुंच पाया.. कहाँ गड़बड़ी हुई ?

मेरा करियर ठीक ठाक ही चल रहा है देखिए ‘क्या सुपर कूल हैं’ के अलावा मेरी दूसरी फिल्में भले ही सफल न हुई हों, मगर हर फिल्म में मेरे काम की तारीफ हुई। हमने हर फिल्म में मेहनत की, पर हुआ वही जो ईष्वर को मंजूर था। मेरी ज्यादातर फिल्में इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में सराही गयी। गत वर्ष मेरी फिल्म ‘एंग्री इंडियन गॉडेसेस’ तथा ‘जुबान’ को कई इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में अवॉर्ड मिले फिर जब ‘एंग्री इंडियन गॉडेसेस’ भारत में रिलीज हुई तो इसे काफी सराहा गया अब मेरी फिल्म ‘जुबान’ रिलीज होने जा रही है इस फिल्म को लेकर मैं काफी उत्साहित हूं इसमें मैं सोलो हीरोईन हूँ।

sara-jain-dais

फिल्म ‘जुबान’ क्या है ?

यह संगीत के इर्द गिर्द घूमने वाली प्रेम कहानी वाली फिल्म है इसमें पंजाबी संगीत की बहुतायत है इस फिल्म में हीलिंग पावर है। यह फिल्म संगीत के माध्यम से लोगों को सुकून देगी।

फिल्म ‘जुबान’ के निर्देशक मोजेज सिंह नए हैं फिर उनके साथ इस फिल्म को करने की कोई खास वजह रही ?

निर्देशक नया है या नहीं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता मूल बात यह है कि निर्देशक का वीजन फिल्म को लेकर कितना साफ है। जब मोजेज सिंह ने मुझे फिल्म की स्क्रिप्ट सुनायी, तो उससे मुझे यह एहसास हो गया कि उन्होंने इस फिल्म को बहुत जिया है उनके साथ काम करने के बाद मेरा मन यह नहीं मानता कि यह उनकी पहली फिल्म है दूसरी बात यह फिल्म संगीत पर है और मैं खुद निजी जिंदगी में म्यूजीशियन हूं इसलिए भी इस फिल्म ने मुझे आकर्षित किया।

eeb617e0-36cd-48b0-9685-755f5478030e_cr_1330359864_600x450

फिल्म ‘जुबान’ के अपने चरित्र पर रोशनी डालेंगी ?

मैंने इस फिल्म में अमीरा माथुर का पात्र निभाया है जो कि एक फनी और स्प्रिच्युअल म्यूजीशियन है स्वतंत्र विचारों वाली लड़की है उसे विक्की के किरदार दिलशाद के मन में संगीत के प्रति जो नफरत है, वह समझ में नहीं आती अमीरा में बहुत सी खूबियां हैं जो जल्दी लोगों के समझ में नहीं आती। अमीरा के लिए संगीत बहुत मायने रखता है।

फिल्म के निर्देशक मोजेज सिंह को लेकर क्या कहना चाहेंगी ?

सभी को पता है कि मोजेज सिंह की बतौर निर्देशक ‘जुबान’ पहली फिल्म है खुद मोजेज सिंह भी यही बताते हैं पर उन्होंने जिस तरह से इस फिल्म को निर्देशित किया, उससे मुझे लगता है कि वह पहले भी काफी फिल्में निर्देशित कर चुके होंगे उनका वीजन बहुत साफ होता है जब निर्देशक का वीजन साफ होता है, तो कलाकार के लिए काम करना आसान हो जाता है। मजेदार बात तो यह है कि उसने मुझे प्रयोग करने के भी मौके दिए मोजेज सिंह ने फिल्म की शूटिंग शुरू करने से पहले हमारे साथ वर्कशॉप किया सेट पर भी हर सीन को फिल्माने से पहले हमारे साथ बैठकर विचार विमर्श करते थे।

sarah-jain-dias

विक्की कौशल को लेकर क्या कहेंगी ?

इस फिल्म के लिए सबसे पहले मेरा चयन हुआ था विक्की कौशल का चयन बाद में हुआ उससे पहले मैं दो तीन लड़कों के साथ ऑडिशन कर चुकी थी। एक दिन मुझे संदेशा मिला कि अगले हफ्ते विक्की कौशल के साथ फोटो शूट करना है तब तक मुझे विक्की के बारे में कुछ पता नहीं था। जब मैं फोटो शूट के लिए पहुंची, तो 6 फुट लंबा सरदार खड़ा हुआ था। हमारे बीच हैलो हाय हुई उस वक्त वह पूरी तरह से दिलशाद के किरदार में डूबा हुआ था मैं भी थोड़ी संकोची स्वभाव की हूं। सरदार के किरदार में जब विक्की होता है, तो उसका एटीट्यूड एकदम बदल जाता है। पता नहीं क्यों फोटोशूट वाले दिन भी मैं कुछ ज्यादा ही शर्मा रही थी जबकि विक्की नहीं शर्मा रहा था तो फोटोशूट के समय हमारे बीच जो केमिस्ट्री उभरी, वह ऐसी चली कि पूरी फिल्म में नजर आयी। फिल्म में भी अमीरा और दिलशाद दोनों अलग अलग समुदाय से आते हैं। इसलिए इन दोनों के बीच एक ऑक्वर्ड एनर्जी बनी रहती है।

Sarah-Jane-Dias

निजी जिंदगी में आप संगीत से जुड़ी हुई हैं पर आपने फिल्मों में पार्श्वगायन नहीं किया ?

संगीत मेरा पैशन है संगीत मेरा शौंक है मैं खुद गीत लिखती हूं फिर उसकी धुन बनाती हूं और उसे गाती हूं। मेरा पहला सिंगल गाना भी काफी लोकप्रिय हुआ था। मैंने अपना पहला वीडियो खुद निर्देशित भी किया था लेकिन मैं  कभी किसी निर्देशक से फिल्म के गीत को गंवाने के लिए नहीं कहती मगर ‘जुबान’ के प्रमोशन में मुझे अपने संगीत के पैशन को लोगों के सामने लाने का अवसर मिल रहा है। फिल्म के प्रमोशन के लिए ‘जुबान ए बैंड’ नामक म्यूजिकल बैंड बना है। फिल्म ‘जुबान’ के हर प्रमोशनल इवेंट में हम म्यूजिकल कंसर्ट कर रहे हैं। इन म्यूजिकल कंसर्ट में मैं फिल्म ‘जुबान’ के गीत गाती हूं। जिसका बहुत अच्छा रिस्पाँस मिल रहा है।

इसके अलावा कोई फिल्म कर रही हैं?

जी हाँ! गुरिंदर चड्ढा की फिल्म ‘वायसराय हाउस’ कर रही हूं दो तीन दूसरी फिल्में भी हैं।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये