जूही चावला

1 min


 

खूबसूरत, चुलबली और जुदा अंदाज वाली जूही चावला का जन्म 13 नवंबर को 1967 को पंजाब के अंबाला में हुआ। बढ़ती उम्र के साथ जूही की खूबसूरती कम नहीं हुई है, बल्कि वह और निखरती जा रही हैं। 1984 में मिस इंडिया का खिताब पाने वाली जूही आज अभिनेत्री से लेकर फिल्म निर्माता तक का सफर तय कर चुकी हैं। करियर ही नहीं, बल्कि जूही पारिवारिक जिंदगी को भी पूरे लुत्फ के साथ जी रही हैं।

juhichawla-jpg_101011

जूही ने कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही फेमिना मिस इंडिया के लिए फॉर्म भरा और उन्होंने ही यह खिताब जीता। एक साक्षात्कार में जूही ने मिस इंडिया बनने का अपना किस्सा सुनाते हुए बताया कि मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं मिस इंडिया प्रतियोगिता जीतूंगी, वहां मुझसे ज़्यादा खूबसूरत लड़कियां थीं। जूही मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता के लिए भी गईं। वह जूही की पहली विदेश यात्रा थी। दुनिया भर की खूबसूरत और आकर्षक महिलाओं के बीच खुद को बेकार महसूस कर रही जूही ने मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में बेस्ट नेशनल कॉस्ट्यूम का पुरस्कार जीता।

उसके बाद जूही का पर्दे का सफर शुरू हुआ, जूही ने मल्टीस्टारर फिल्म ‘सल्तनत’ से अपना फिल्मी सफर शुरू किया। 1988 में आमिर खान के साथ आई जूही की फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ ने बड़े पर्दे पर सफलता हासिल की और रातों रात जूही की गिनती उस समय की हिंदी सिनेमा पर राज करने वाली श्रीदेवी, माधुरी दीक्षित और करिश्मा कपूर की श्रृंखलाओं में की जाने लगी। इस फिल्म को फिल्मफेयर में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का खिताब मिला और जूही को फिल्म के लिए बेस्ट न्यूफेस का पुरस्कार मिला। जूही ने मलयालम और कन्नड़ फिल्मों में भी काम किया।

1990 का दशक जूही के लिए काफी अच्छा रहा इस दशक में 1990 में प्रतिबंध और स्वर्ग, 1992 में बोल राधा बोल और राजू बन गया जेंटलमैन जैसी हिट फिल्में दीं। वर्ष 1993 जूही के नाम रहा इस वर्ष जूही की सन्नी देओल के साथ में आई लुटेरे जैकी श्रॉफ के साथ यश चोपड़ा की आईना, शाहरुख खान के साथ महेश भट्ट की रोमांटिक कॉमेडी हम हैं राही प्यार के और शाहरुख खान और सन्नी देओल के साथ यश चोपड़ा की डर बॉक्स आफिस पर हिट रहीं। 1994 में साजन का घर, 1997 में यशबॉस और इश्क, 1999 में अर्जुन पंडित जैसी फिल्में सफल रहीं। इतनी सफल फिल्में करने के बावजूद जूही को करियर में दिल तो पागल है, राजा हिंदुस्तानी फिल्मों से इंकार करने का पछतावा है।

जूही की विज्ञापनों में भी खास उपस्थिति रही उन्होंने डाबर आंवला केश तेल, डाबर आशोकारिष्ट, किसान केचअप, कीलॉग्ज चॉकोज जैसे उत्पादों के विज्ञापन किए। जूही का कुरकुरे के विज्ञापन काफी पसंद किए गए, जिनमें वह कई नए अवतारों में नजर आई थीं। जूही ने 1995 में व्यवसायी जय मेहता से शादी की। दोनों के दो बच्चे जाह्न्वी मेहता और अर्जुन मेहता हैं। जूही फिल्मों, विज्ञापनों, सामाजिक कार्यों, फैशन शो में सक्रिय रहते हुए अपने परिवार के साथ जिंदगी का पूरा लुत्फ उठा रही हैं।

वर्ष 1999 में जूही चावला ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भी कदम रख दिया और शाहरुख खान के साथ मिलकर ‘ड्रीम्स अनलिमिटेड’ बैनर की स्थापना की। इस बैनर के तहत सबसे पहले ‘फिर भी दिल है हिंदुस्तानी’, ‘अशोका’, ‘चलते चलते’ जैसी फिल्मों का निर्माण किया।

जूही चावला के सिने करियर में उनकी जोड़ी आमिर खान के साथ काफी पसंद की गयी। जूही चावला ने हिंदी फिल्मों के अलावे पंजाबी फिल्मों में भी अभिनय किया है। शहीद उधम सिंह, देश होया परदेस और वारिस साह जैसी सुपरहिट फिल्में शामिल हैं। इसके अलावा उन्होंने कन्नड़, मलयालम, तमिल फिल्मों में भी अपने दमदार अभिनय से दर्शकों को दीवाना बनाया।

जूही चावला ने अपने सिने करियर में लगभग 80 फिल्मों में अभिनय किया है।

SHARE

Mayapuri