रणबीर-आलिया संग मिले दीपिका-रणवीर रणथम्बोर में, क्या हो जायेगी अब दोनों की सगाई?

1 min


जहाँ ज़्यादातर फिल्मी कलाकार अपना नया साल (2021) मनाने के लिए मालदीव सरीखी विदेशी लोकेशंस की ओर रुख कर चुके हैं।
वहीं ए-लिस्ट में आने वाले रणबीर-आलिया और दीपिका-रणवीर सरीखे मेगा स्टार भारत में ही अपना नया साल मनाने के पक्ष में नज़र आ रहे हैं।
चैतन्य पडुकोण

कपूर और भट्ट परिवार के लिए ये फैमिली गेट-टुगेदर ज़्यादा है क्योंकि  उनके स्टार पेरेंट्स भी साथ मिल बैठकर आलिया-रणबीर की ‘जंगल में मंगल’ ट्रिप का हिस्सा बन गए

kapoor and Bhatt Family

आप इसे अनोखा संयोग कह सकते हैं कि जिस वक़्त दीपिका पडुकोण अपने जानदार-शानदार ‘पतिदेव’ रणवीर सिंह के साथ पहले से ही रणथम्बोर (राजस्थान) में थी।

वहीं पर रणबीर कपूर और उनकी स्टडी गर्लफ्रेंड आलिया भट्ट (अपने अपने परिवारों के साथ) भी उसी जगह पहुँच गए। कपूर और भट्ट परिवार के लिए ये फैमिली गेट-टुगेदर ज़्यादा है क्योंकि आलिया-रणबीर के साथ साथ उनके स्टार पेरेंट्स नीतू कपूर और सोनी राज़दान (आलिया भट्ट की माँ) ने भी साथ मिल बैठकर आलिया-रणबीर की ‘जंगल में मंगल’ ट्रिप का हिस्सा बन गए।

जब रणबीर-आलिया की फैमिली भी साथ हों तब ऐसा कैसे हो सकता है कि उन दोनों की सगाई की बात न हो। हर तरफ ये अफ़वाह फैल चुकी थी कि आलिया-रणबीर रणथम्बोर में ही सगाई भी करने वाले हैं।

हालांकि, रणबीर के ताऊजी, एक्टर-डायरेक्टर रणधीर कपूर ने इस सारी अफवाहों को सिरे से नकार दिया। उन्होंने बताया कि ऐसा कुछ भी सच नहीं है और अगर ऐसा सच में होता तो हमारी फैमिली भी तो उनके साथ ही होती। 

इतनी कड़कड़ाती ठण्ड के बावजूद टूरिस्ट फ्रेंडली रणथम्बोर ‘सफ़ारी-साइट-सीइंग’ के लिए बहुत मशहूर है जहाँ जंगल, वाइल्ड लाइफ और ख़ासकर दुनिया भर में  मशहूर भारतीय ‘बाघों’ (Tigers)  का रिज़र्व ज़ोन भी है।

अब जैसा कि कुछ ही समय नए साल के आने में रह गया है, पूरे देश में नए साल का जश्न मनाने के लिए आज रात का इंतज़ार हो रहा है।

वहीं भारतीय टूरिस्ट्स के लिए रणथम्बोर वो जगह जहाँ मुंबई की तुलना में कोरोना का ख़तरा बहुत कम है और रेस्ट्रिक्शन्स भी न के बराबर हैं।

ये देखना बड़ा मज़ेदार होगा कि क्या दीपिका संग रणवीर न्यू ईयर के बाद वापस मुंबई आती हैं या वहीं हसीन-ख़ूबसूरत और रोमांटिक रणथम्बोर में ही नए साल का पहला हफ्ता मनाना पसंद करती हैं क्योंकि आने वाली 5 जनवरी को दीपिका का जन्मदिन भी तो है।  

अनुवाद – सिद्धार्थ अरोड़ा ‘सहर’


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये