दिलवाले की दुल्हनिया काजोल क्या कहती है इस इतिहास पर…

1 min


काजोल इस बात से खुश है कि जो फिल्म उसने आज से लगभग बीस वर्ष पहले गाहे बगाहे कर ली थी वह लोकप्रियता के पायदान पर आज आसमान छू रहा है। वह बताती है कि फिल्म ‘दिल वाले दुल्हनिया ले जायेंगे’ सिर्फ पैसे कमाने के खातिर बनाई गई थी, उसे बेहतरीन से बेहतरीन बनाने के लिए कोई खास माथा पच्ची नहीं की गई थी फिर भी आज मुंबई के दादर में स्थित मराठा मंदिर सिनेमा हाॅल में यह फिल्म एक हजार सप्ताह से चल रही है।

DDLJ-will-never-lose-its-relevance_-the-idea-of-not-compromising-on-love-makes-it-so-popular-even-today

काजोल कहती है, ‘‘यह फिल्म इतिहास में सब से लम्बा चलने वाला भारतीय फिल्म का जो नाम कमा रही है उसमें सब से ज्यादा क्रेडिट जाता है उन दर्शकों को जो हर रोज उस थिएटर तक जाकर फिल्म देखते हैं, उन लोगों ने एक धर्म बना लिया कि जाकर एक बार नहीं बार-बार इस फिल्म को देखने का।’’ काजोल इस फिल्म के एक हजारवें सप्ताह सेलिब्रेशनके मौके पर कहती है। कि ‘दिल वाले दुल्हनियां…’ से आदित्य, शाहरुख, करण,
मनीष मल्होत्रा ने जो उड़ान भरी थी आज वह कामयाबी का शिखर छू रहा है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये