कंगना को नहीं पड़ता डायन कहने से कोई फर्क

1 min


kangana-ranaut.gif?fit=650%2C450&ssl=1

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनोट रितिक रोशन के साथ चल रहे अपने विवाद के बीच राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से नवाजी गईं। ये कंगना का तीसरा राष्ट्रीय पुरस्कार था और कंगना ने इससे ये साबित कर दिया कि वो बॉलीवुड की क्वीन हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस मौके पर क्वीन कंगना ने कई मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रखी उन्होंने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों के बारे में कहा कि ये आरोप उन्हें शर्मसार करने के लिए लगाए जा रहे हैं साथ ही कंगना ने ये भी कहा कि वे जो इस बारे में कहना चाहती थीं, वो कह चुकीं हैं। कगंना का कहना है कि उन्हें मनोरोगी, खून पीने वाली और डायन कहा गया लेकिन इन सब बातों से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता।

बता दें कि कंगना को फिल्म ‘तुन वेड्स मनु रिटर्न्स’ के लिए और बॉलीवुड माहानायक अमिताभ बच्चन को फिल्म ‘पीकू’ के लिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये