कंगना ने आंदोलनकारियों को बताया आतंकी, पॉप सिंगर रिहाना को दिया करारा जवाब

1 min


kangana Ranaut

मुद्दा कोई भी हो, कंगना रनौत उसपर अपनी प्रतिक्रिया न दें ऐसा हो ही नहीं सकता। फिर जब मामला किसान आंदोलन से जुड़ा हो और कोई उसपर टिप्पणी कर दे तो कंगना को रोकना इम्पॉसिबल है।

कंगना ने रेहाना को दिया मुहतोड़ जवाब

अमेरिकन पॉपस्टार और 32 साल की उम्र में सबसे ज़्यादा पैसा कमाने वाली सिंगर रिहाना (Rihanna) ने ट्वीट किया और पूछा कि “हम इस फार्मर प्रोटेस्ट पर बात क्यों नहीं कर रहे हैं?” उसके साथ ही उन्होंने सीएनएन की एक न्यूज़ लिंक शेयर किया था जिसमें हेडलाइन थी कि “दिल्ली में किसान आंदोलन के वक़्त किसानों और पुलिस के बीच क्लैश हुआ और उस एरिया का इंटरनेट बंद कर दिया गया”

इसको कंगना ने retweet कर Quote किया कि “कोई इनके बारे में इसलिए बात नहीं कर रहा है क्योंकि ये किसान हैं ही नहीं, ये आतंकवादी हैं और देश को अलग-अलग भागों में बांटने की कोशिश कर रहे हैं, इसका सीधा फायदा चाइना को होगा और वो हमारे टुकड़ों में बटे देश पर अधिकार जमा सकेगा और इसे चाइनीज कॉलोनीज़ बना देगा जैसे USA में कॉलोनीज़ बनी हुई हैं।
तो तुम बेवकूफ हो, चुप होकर बैठ जाओ, हमारा देश अभी की सेल नहीं लगी है।

कंगना के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर हंगामा खड़ा हो गया।

कोई कंगना को हर बात पर बोलने के लिए कोस रहा है तो बहुत से लोग memes बना रहे हैं।

बहुत से सपोर्टर्स का कहना है कि कंगना सही कह रही है, रेहाना को जिस बात के बारे में ठीक से नहीं पता है उसे उस बारें में बोलने से बचना चाहिए।

किसान आंदोलन के बारे में आपको अपडेट देते चलें तो आने वाले सोमवार को आंदोलनकारी चक्काजाम करने की तैयारी में हैं। दूसरी ओर सरकार का कहना है कि हम अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर चुके हैं, आगे भी वार्ता की कोशिश की जा रही है।

क्यों गाज़ीपुर को हुई इतनी बैरिकेडिंग?

बीते महीने की 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के दिन किसानों ने ट्रैक्टर रैली निकालने के बहाने पूरी दिल्ली में उपद्रव मचाकर, लाल किले में झंडा लहराकर पूरे देश को हैरान कर दिया था। उस दिन के बाद से आंदोलन ने एक अलग ही रूप ले लिया है। बहुत से लोगों की संवेदनाएं जो किसानों के साथ जुड़ी थीं, वो उस घटना के बाद नहीं रहीं। इसीलिए पुलिस बल ने गाज़ीपुर रोड को किले की तरह ब्लॉक कर दिया है।

ऐसे में सबसे मुश्किल सवाल ये है कि कब ये सारा सिलसिला खत्म होगा? क्या सरकार तीनों किसान बिल वापस ले लेगी या फिर किसान नेता थकहारकर वापस लौट जायेंगे?


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये