जाने क्यों हो रही है देर गोविंदा के बेटे की पहली फिल्म लॉन्चिंग में

1 min


बॉलीवुड में कई स्टार पुत्र अब पर्दे पर लॉन्चिंग पैड पाने की तैयारी में हैं।उन्ही में एक हैं गोविंद के पुत्र यश वर्धन! जिनको प्यार से यश बुलाते हैं। गोविंदा एक ज़माने के  सुपर स्टार हैशियत के कलाकार रहे हैं। वह सेल्फ मेड फिल्मस्टार तथा सेल्फ मेड पॉलिटिशियन रहे हैं। गोविंदा चाहते हैं उनके बेटे यश और बेटी टीना आहूजा दोनो अपने दम पर स्टार बनें। दोनो की कोशिश जारी है ।उनके दोनो बच्चे बाप के कदम पर ही चलना चाहते हैं और प्रयासरत भी हैं।यश के बारे में कहा जाता है कि वे दूसरे स्टार पुत्रों के मुकाबले अधिक स्मार्ट और प्रतिभावान हैं। फिर, क्यों उनकी लॉन्चिंग फिल्म का पैड तैयार नहीं हो पा रहा है एक सवाल है।

बताया जाता है कि यश को ब्रेक देने के लिए कई बड़े  बैनर तैयारी किए बैठे हैं। पहले कौन पहले कौन की प्रतीक्षा में बात बिगड़ रही है या और कोई बात है या किसी बड़े लॉन्चिंग की वजह देरी बनने का कारण है, इन अनुमानों पर पिछले दिनों यश की मां और गोविंदा की पत्नी सुनीता आहूजा ने चुप्पी तोड़ा है- “निश्चय ही हम सब चाहते हैं कि यश की शुरुवात है तो बड़ी शुरुवात ही होना चाहिए, एक वजह यह है और दूसरी सबसे बड़ी वजह यह है कि पिछले दो साल से कोविड के चलते कोई काम कहाँ होने पाया है। सबलोग तैयारी किए बैठे हैं। कई बड़े निर्माता हैं जो यशवर्धन को अपनी फिल्म से शुरुवात देने के इच्छुक हैं। अभी हम नाम नही बताएंगे लेकिन जल्द ही मालूम पड़ जाएगा।”

यश ने लंदन के मेट स्कूल से फिल्म मेकिंग की पढ़ाई किया है। साजिद नाडियावाला के साथ उनके सहायक के तौर पर जुड़े रहकर  उनके निर्देशन की 3 फ़िल्मों से हिंदी- फिल्म मेकिंग की तकनीक सीखा है। साजिद नाडियाड वाला के अपने बैनर से उनको ब्रेक मिलेगा यह अनुमसन है लोगों का। यश एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘बिहाइंड द इंक’ भी बना चुके हैं। अभिनय में वह रणवीर सिंह और सिद्धार्थ धवन को पसंद करते हैं।फैशन के वह आइकॉन हैं तथा इस मामले में वह अपने पिता गोविंदा से बिल्कुल ही अलग हैं। 23 साल के यश पर लड़कियां तबसे फिदा होने का दावा करती हैं जब वह 17 के थे, लेकिन वह कभी अपनी खास मित्र का जिक्र करना पसंद नहीं करते। यश की मां सुनीता आहूजा को बेटे के कैरियर की परवाह है इसलिए वह हर उस प्रस्तावपर नज़र रखती हैं जो यश वर्धन आहूजा के लिए आ रहे हैं।वह कहती हैं- “पहली फिल्म की बात है देर हो ठीक है लेकिन अछि हो।”

SHARE

Mayapuri