बॉलीवुड में भाई- भतीजावाद पर कुमार सानू ने दी प्रतिक्रिया, कहा- ‘कौन किसको बनाएगा?’

1 min


कुमार सानू सुशांत

कुमार सानू ने वीडियो शेयर कर कहा, बिहार से आए ऐसे कई कलाकार हैं जिन्होंने इस इंडस्ट्री का नाम रोशन किया

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में नेपोटिज़्म और भाई- भतीजावाद को लेकर बहस शुरू हो गई है। अब हिंदी सिनेमा के मशहूर गायक कुमार सानू ने भी सुशांत सिंह राजपूत की मौत और भाई- भतीजावाद पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

भाई-भतीजावाद पर बोले कुमार सानू

सुशांत सिंह राजपूत

Source – Pinterest

गायक कुमार सानू ने अपने अधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो के जरिए कुमार सानू ने एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर दुख जताया है। साथ ही कहा कि भाई-भतीजावाद हर जगह है, लेकिन बॉलीवुड में कुछ ज्यादा है। कुमार सानू ने कहा, ‘सुशांत ने बहुत ही कम समय में हिंदी सिनेमा में अपनी बड़ी पहचान बना ली थी इसलिए किसी को यकीन नहीं हो रहा है कि उन्होंने इतना बड़ा कदम उठा लिया। जहां तक मैंने सुना था कि वह बहुत ही सकारात्मक व्यक्ति थे और एक बेहतरीन अभिनेता भी थे।’

कुमार सानू ने अपने वीडियो में कहा, बिहार से आए ऐसे कई कलाकार हैं जिन्होंने इस इंडस्ट्री का नाम रोशन किया है। इन कलाकारों में शत्रुघ्न सिन्हा, मनोज बाजपेयी, शेखर सुमन, उदित नारायण और सुशांत सिंह राजपूत एक हैं। सुशांत उम्र में मेरे बच्चे के जैसे थे लेकिन मानना पड़ेगा कि उन्होंने इतनी कम उम्र में भी इतनी अच्छी फिल्में देकर हमारा मनोरंजन किया।’

‘सुशांत सिंह राजपूत मर के भी अमर हो गए’

सुशांत के बारे में बात करते हुए कुमार सानू कहते हैं कि उनका मन अभी भी यह मानने को तैयार नहीं है कि सुशांत ने ऐसा कदम उठाया है। उन्होंने कहा, ‘उनके इस कदम से इस देश में एक अलग ही क्रांति दिखाई दे रही है। वंशवाद तो हर क्षेत्र में होता है लेकिन हिंदी सिनेमा में कुछ ज्यादा है। यह तो सिर्फ आप हैं जो हमें बनाते हैं। कौन किसको बनाएगा? कौन किसको इंडस्ट्री से निकाल देगा? यह फिल्म बनाने वाले या ऊपर के लोग तय नहीं कर सकते। यह आपके हाथ में है कि किसे रखना है और कैसे गिराना है। आप ही हैं जो सभी कलाकारों को बनाते हैं।’

कुमार सानू ने वीडियो में फिल्म इंडस्ट्री में आने वाले लोगों को खास सलाह भी दी है। कुमार सानू ने सलाह देते हुए कहा, ‘मुंबई में फिल्म इंडस्ट्री या म्यूजिक इंडस्ट्री में बाहर से आकर संघर्ष करने वालों को मैं यही सलाह दूंगा कि पहले आप कोई नौकरी पकड़ लो, उसके बाद संघर्ष करो। मैंने भी ऐसा ही किया था। ऐसा करने से आपको रहने-खाने की दिक्कत नहीं होगी और किसी के सामने झुकना नहीं पड़ेगा। इससे आप अपने हुनर को सकारात्मकता के साथ दिखा पाएंगे। मुझे उम्मीद है कि सुशांत सिंह राजपूत की वजह से आने वाली पीढ़ी को बराबर काम मिलेगा। मैं यही कहूंगा कि सुशांत सिंह राजपूत मर के भी अमर हो गए।’

और पढ़ेंः शूटिंग गाइडलाइन्स से परेशानी / नए नियम बने प्रोड्यूसर्स के गले की फांस, कई सीरियल मेकर्स ने नहीं की शूटिंग शुरु


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये