‘कुंडली भाग्य‘ के एक नाटकीय मोड़ में किन्नर बन गए प्रीता, सृष्टि और समीर!

1 min


ज़ी टीवी का टॉप-रेटेड शो ‘कुंडली भाग्य‘ अपनी शुरुआत से ही दर्शकों को कई चैंकाने वाले मोड़ दिखा रहा है। बीते कुछ महीनों से करण (धीरज धूपर) और प्रीता (श्रद्धा आर्य) की जिंदगी में चल रहे ड्रामा ने दर्शकों में भारी दिलचस्पी जगा दी है। असल में जब से इस शो में एक नाटकीय मोड़ आया है, जहां अक्षय (नवीन शर्मा) को मृत घोषित कर दिया गया था, तब से ही लूथरा परिवार पुलिस के निशाने पर हैं, जो इस कत्ल का रहस्य सुलझाने की कोशिश में जुटी हुई है। जहां शुरुआत में प्रीता को अक्षय की हत्या के जुर्म में गिरफ्तार किया गया था, वहीं इस कहानी ने तब एक नया मोड़ लिया, जब करण यह इल्जाम खुद पर लेकर जेल चला जाता है। तब से ही लूथरा परिवार का हर सदस्य करण को बेगुनाह साबित करने के लिए सबूत इकट्ठा करने में जुटा हुआ है ताकि अक्षय के असली कातिल का पता लगाया जा सके। दरअसल, इस बार प्रीता, सृष्टि (अंजुम फकीह) और समीर (अभिषेक कपूर) ने कातिल तक पहुंचने के लिए बिल्कुल नया अवतार लिया।

हाल ही में प्रीता को उस वक्त बड़ा आश्चर्य हुआ, जब उसे पता चला कि मेघा अक्षय के बच्चे की मां बनने वाली है। उससे भी ज्यादा चैंकाने वाली बात तो तब हुई, जब वो मेघा को किसी को यह धमकी देते हुए सुन लेती है कि वो अक्षय के कत्ल का राजफाश कर देगी। ऐसे में सच्चाई का पता लगाने के लिए प्रीता, समीर और सृष्टि वो महत्वपूर्ण सबूत ढूंढने के लिए एक योजना बनाते हैं, जिससे इस कत्ल का रहस्य सुलझ सके। वो सबूत है अक्षय का फोन। अपनी पहचान छुपाते हुए रुचिका और मेघा से यह फोन हासिल करने के लिए तीनों मेघा की गोद भराई की रस्म में किन्नर बनकर पहुंचते हैं। इसके लिए उन्होंने किन्नर के किरदार की बारीकियों पर भी बहुत ध्यान दिया।

इस तरह का किरदार निभाने और एक बिल्कुल नया अवतार अपनाने को लेकर अभिषेक कपूर बताते हैं, ‘‘एक शो के अलग-अलग सीक्वेंस के लिए अलग-अलग अवतार लेना हमेशा रोमांचक होता है। मैं शिद्दत से यह मानता हूं कि यही खूबी दर्शकों की नजरों में किरदार को दिलचस्प बनाए रखती है। शुरुआत में मैं यह किरदार निभाने में थोड़ा झिझक रहा था, लेकिन फिर मेरी क्रिएटिव टीम ने मुझे समझाया कि इससे मुझे अपने फैन्स से अच्छा रिस्पाॅन्स मिल सकता है। मैंने उन पर भरोसा किया और सच बताऊं तो दर्शकों को सोशल मीडिया पेज पर पोस्ट की गई मेरी एक झलक ही बहुत पसंद आई। इस शो में चल रही कहानी दर्शकों को बहुत पसंद आ रही है। कुंडली भाग्य के इस ट्रैक के लिए यह सीन बहुत महत्वपूर्ण था। अब दर्शक यह जानने को बेताब हैं कि प्रीता, सृष्टि और समीर अक्षय के कत्ल की गुत्थी सुलझाने के लिए वो सबूत हासिल कर पाते हैं या नहीं। इतना ही नहीं, दर्शक हमारे हावभाव और ह्यूमर को भी बहुत पसंद करेंगे। हमारी तिकड़ी को हमेशा ही सराहा गया है और हमें उम्मीद है कि इस बार भी दर्शक इस सीक्वेंस का भरपूर मजा लेंगे।‘‘

जहां यह तिकड़ी मेघा के घर में गुम हुआ फोन ढूंढने की कोशिश कर रही है, वही गोद भराई के दौरान इन तीनों के आने से मेघा को शक हो जाता है। क्या वो उन्हें पकड़ लेगी और उनका झूठ सामने लाएगी? क्या प्रीता को वो फोन मिल जाएगा ताकि वो करण को जेल से बाहर निकाल सके?

आगे क्या होगा, जानने के लिए देखिए ‘कुंडली भाग्य‘, हर सोमवार से शुक्रवार रात 9ः30 बजे, सिर्फ ज़ी टीवी पर।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये