मूवी रिव्यू: नशे के व्यापार में लिप्त पंजाब का सच – ‘उड़ता पंजाब’

1 min


रेटिंग***

किसी भी विषय में वास्तविकता भरने में माहिर निर्देशक अभिषेक चौबे की फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ भी उनके मनपसंद पैट्रन की ऐसी फिल्म है जिसमें पंजाब में फैले ड्रग का जाल और उसके शिकार आपके सामने जैसे सच में सामने आकर खड़े हो जाते हैं ।

udta-punjab-story_647_061316062909

कहानी

फिल्म की कथा मुख्य चार किरदारों में बटी है जैसे राॅक स्टार टाॅमी सिंह यानि शाहिद कपूर जो ड्रग की लत का शिकार है, डा.प्रीत साहनी यानि करीना कपूर जो नशे के शिकार लोगों के लिये हर प्रकार से लड़ रही है और उन्हें बचाने का भारी प्रयास कर रही है, आलिया भट्ट जो बनना कुछ और चाहती थी लेकिन किस्मत ने उसे बिहार बॉकस ऑफिससे पंजाब में दिहाड़ी मजदूर बनने पर मजबूर कर दिया और वो लालच के तहत किस प्रकार ड्रग माफिया के जाल में फंस जाती है। पंजाब पुलिस का ए एस आई सरताज यानि दलबीर सिंह दोसांझ जो पुलिस के बने तंत्र से निकल कर किस प्रकार करीना की मदद से ड्रग माफिया के साम्राज्य को नेस्तनाबूत करता है ।

ikk-kudi-from-udta-punjab-is-out-now

निर्देशन

इश्किया और डेढ़ इश्किया के बाद अभिषेक चौबे ने एक ऐसी फिल्म बनाई हैं जो खासकर पंजाब में बढ़ते नशे के तंत्र, उसके संचालकों और प्रशासन की उदासीनता को प्रभावशाली तरीके से उजागर करती है । उनकी सबसे बड़ी करामात रही कि उन्होंने बाॅलीवुड के चमकदार स्टार्स को मेकअप, लुक और अभिनय से पूरी तरह वास्तविक किरदारों के रूप में दिखाने को कारनामा कर दिखाया । नशे के शिकार शख्स के परिवारों का दर्द , नशे के व्यापार में लिप्त बाहरी आदमियों का समावेश तथा नशे के शिकार एक राॅक स्टार और मजबूरन नशेबाज बनी एक बिहार से आई लड़की तथा एक डाॅक्टर का प्रशासन और नशे के प्रति आक्रोश और एक मामूली पुलिस अधिकारी का अपने भाई के साथ साथ पूरी कौम को नामुराद नशे की लत और नशाखोरों के खिलाफ अभियान, सभी कुछ प्रभावशाली है जिसे रियल लोकेशन, भाषा, माहौल और ज्यादा प्रभावशाली बना देता है । बेशक फिल्म की गति बेहद धीमी है लेकिन वो सब कुछ दिखाने व बताने में पूरी तरह कामयाब हैं जो बताना या कहना चाहती थी ।फिल्म के जरिये निर्देशक, नशे में जकड़े पंजाब का सच दिखाने में पूरी तरह कामयाब है।

Udta-Punjab-Movie-Stills-06

अभिनय

शाहिद कपूर एक लकी स्टार हैं जो उन्हें लगातार अलग और प्रभावशाली भूमिकायें निभाने के लिये मिल रही हैं। हैदर के बाद नशखोर राॅक स्टार टाॅमी सिंह के तौर पर वे एक बार फिर अपने बढ़िया अभिनय से दर्शक का दिल जीतने में कामयाब रहे हैं । आलिया भट्ट छोटी सी उम्र में जिस तरह का काम कर रही है उसे देखकर हैरत होती है । यहां भी उसने एक अनुभवी अभिनेत्री की तरह बड़े कमाल के साथ अपनी भूमिका को अंजाम दिया हैं उसके अभिनय में उसके लुक और मेकअप ने भी पूरा साथ दिया। करीना कपूर डाॅक्टर के रोल में अच्छी रही लेकिन सबसे ज्यादा चैकाते हैं पंजाबी गायक और एक्टर दलबीर सिंह दोसांझ, उन्होंने शाहिद, आलिया और करीना के सामने पूर आत्मविश्वास से सधा हुआ अभिनय किया है ।

संगीत

फिल्म की तरह फिल्म में संगीत का भी एक खास स्ट्रक्चर है जिसे अमित त्रिवेदी ने बढ़िया तरह से खड़ा किया है जो कहानी में और ज्यादा निखार लाता है जंहा ‘चिट्टा वे’ गीत फिल्म के मिजाज को समझने में हेल्प करता है वहीं ‘इक कुड़ी’ भी काफी कुछ कह जाता है ।

क्यों देखें

संवेदनशील और सोचने पर मजबूर करने वाले विषयों पर बनी फिल्मों को पसंद करने वाले दर्शकों के लिये ‘उड़ता पंजाब’ किसी तोहफे से कम नहीं ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये