राजेश खन्ना

1 min


राजेश खन्ना के जन्मदिन पर विशेष

ज़िदगी एक सफर है सुहाना यहां कल क्या हो किसने जाना……ये गाना सुन आपको समझ आ ही गया होगा की यहां बात बॉलीवुड के काका , बाबूमोशाय यानी की राजेश खन्ना की हो रही है। तो आज हम आपको बॉलीवुड के असली सुपरस्टार राजेश खन्ना के बारे में बताने जा रहे हैं। राजेश खन्ना का जन्म 29 दिसम्बर 1942 को जतिन अरोरा के नाम से हुआ। राजेश खन्ना के एक रिश्तेदार ने उन्हें गोद लिया और उन्हें पढाया लिखाया।

आपको एक बात जानकर हैरानी होगी की स्कूली दिनो में राजेश खन्ना और जितेंद्र क्लासमेट्स थे। और दोनो ने साथ ही में कॉलेज में भी ऐडमिशन लिया था। वहां भी राजेश खन्ना ने थियेटर और शोज में कई पुरस्कार अपने नाम किये। राजेश खनना शुरू से ही काफी स्टाइलिस्ट थे और वो ऑडिशन के लिए भी स्पोर्ट्स कार से जाते थे। जितेंद्र को कैमरे के सामने बोलना भी राजेश खन्ना ने ही सिखाया था और इसी वजह से वो उन्हें काका कहकर बुलाते थे।

राजेश खन्ना ने 1966 में पहली बार “आखिरी खत” नामकी फिल्म में काम किया था। इसके बाद राज़, बहारों के सपने, आखिरी खत – उनकी लगातार तीन सक्सेस फिल्म थी। उसके बाद बहारों के सपने पूरी तरह फ्लॉप हुई और उन्हें असली कामयाबी 1969 में आयी फिल्म “आराधना” से मिली जो उनकी पहली प्लेटिनम सुपरहिट फिल्म थी। आराधना के बाद हिन्दी फिल्मों के पहले सुपरस्टार का खिताब अपने नाम किया। उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और लगातार 15 सोलो सुपरहिट फिल्में दिया।

राजेश खन्ना की कुछ सुपरहिट फिल्मों में कटी पतंग,  आन मिलो सजना, आनन्द, अंदाज़, अमर प्रेम, जोरू का गुलाम, बावर्ची, मेरे जीवन साथी, अनुराग, नमक हराम, अज़नबी, प्रेम नगर, रोटी, प्रेम कहानी, अनुरोध, नौकरी, प्रेम बंधन, कुदरत, अवतार, आवाज़, आवारा बाप, स्वर्ग, आ अब लौट चलें, और क्या दिल ने कहा है।

आपको एक बात जानकर हैरानी होगी कि राजेश खन्ना ने मुमताज़ के साथ आठ फिल्मों में काम किया और ये सारी फिल्में सुपरहिट हुईं। राजेश खन्ना और मुमताज एक रोमांटिक कपल के तौर पर जानेजाते थे। उसके बाद राजेश खन्ना ने 15 फिल्में हेमा मालिनि के साथ की। राजेश खन्ना की पर्सनल लाइफ की बात करें तो उन्होंने डिम्पल कपाड़िया से मार्च 1973 में शादी कर लिया। शादी के आठ महीने बाद डिम्पल की फिल्म बॉबी रिलीज हुई।

इन दोनो कि दो बेटियाँ हुईं।बॉबी फिल्मकी सफलता के बाद ने डिम्पल को फिल्मों में एक्टिंग की ओर अट्रैक्ट किया। बस यहीं से उनके मैरेड लाइफ में दरार पैदा हुई जिसके चलते दोनों 1984 में अलग हो गये। 1984-1987 में राजेश खन्ना और टीना मुनीम के साथ रोमांस और विदेश चले जाने तक चलता रहा। काफी दिनों के बाद, 1990 में डिम्पल और राजेश में एक साथ रहने की सहमति बनती दिखायी दी। और दोनो 1990 से 2012 तक साथ मे फेस्टिवल्स सेलिब्रेट करते थे|

इनकी बड़ी बेटी ट्विंकल फिल्म एक्टर अक्षय कुमार से शादी की वहीं दूसरी बेटी रिंकी की शादी लन्दन के एक बैंकर समीर शरण से हुआ। अन्तिम दिनों में राजेश खन्ना की हेल्थ इश्यू की वजह से उनकी डेथ हो गई। उन्हें लो ब्लड प्रेशर की वजह से हॉस्पिटल में ऐडमीट करया गया था। डिंपल ने बताया कि वो बहुत कमोज़ महसूस कर रहे थे और 18  जीलाई 2012 को ये खबर आयी की वो नहीं रहे।

चलिए अब हम आपको राजेश खन्ना से जुड़ी ऐसी बात बतातें हैं जो शायद आपको पता नहीं होगा-

एक्टर राजेन्द्र ने अपने बंगले डिंपल को राजेश खन्ना को बेच दिया था क्योंकि वो उनके लिए अनलकी था वहीं राजेश खन्ना ने बंगले का नाम आशिर्वाद रखा और 15 और हिट फिल्म दिए।

राजेश खन्ना की डेब्यू फिल्म आखिरी खत को ऑसकर के लिए भेजा गया था।

राजेश खन्ना के जीगरी दोस्त में किशोर कुमार और आर डी बर्मन थे।

राजेश खन्ना एक बेहतरीन कुक भी थे उनके हाथ की दाल उनके देस्त बहुत प्रेम से खाते थे।

राजेश खन्ना और शर्मिला टैगोर का रोमांटिक सॉग रूप तेरा मस्ताना को सिंगल शॉट में शूट किया गया था।

राजेश खन्ना को सबसे पहले मिस्टर इंडिया फिल्म ऑफर की गई थी पर उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि एक इंविजीबल इंसान के कैरेक्टर के बारे में तो उसके बाद ये फिल्म अनिल कपूर के पास गई जो उस वक्त की हीट फिल्मों में थी।

राजेश खन्ना को ऐस्ट्रोलॉजी में बहुत दिलचस्पी थी और वो इसपर घंटों बातें कर सकते थे। उन्होंने अपने नवासे आरव के बारे में भी भविष्यवाणी की है वो एक सुपरस्टार बनेगा।

राजेश खन्ना अपने दामाद अक्षय कुमार को बहुत पसंद करते थे और वो उन्हें बडी कहकर बुलाते थे।

SHARE

Mayapuri