वो शख्सियत जिसने मुझे कभी झुकने नहीं दिया – अमिताभ बच्चन

1 min


AmitabhBachchan

मैंने हमेशा अपने और बिग बी के बीच क्या रिश्ता है उसे समझने की कोशिश की है, लेकिन आज तक व्यर्थ रहा। चलिए चलते हैं बहुत साल पहले, जब बिग बी ने फिल्ममेकर के ए अब्बास के साथ अपना फिल्मी करियर शुरू ही किया था और मैंने भी उनके साथ काम की शुरुआत की थी। वे उन्हें मामूजान बुलाते थे और मैं भी उन्हें यही कहता था। वे हमारी जान से बढ़कर थे और उन्होंने हमें एक नई जान भेंट में दी थी। मैंने उनके साथ काम करते वक्त कभी सैलरी या पैसों के बारे में नहीं सोचा। कभी नहीं सोचा कि उनसे मुझे क्या फायदा मिलेगा। अमिताभ मेगा स्टार बन गए,स्टार आफ द मिलेनियम बन गए। मैं एक पत्रकार बन गया, लेकिन हम दोनों आज भी जुड़े हैं। हमारा रिश्ता आज भी मजबूत है। उनके 72 वें जन्मदिन पर मुझे हमारी पुरानी सभी बातें बहुत याद आ रही हैं। वो यादें, वो पल। मुझे आज भी याद है वे मुझसे किया हुआ वादा पूरा करने के लिए किस हद तक चले गए थे। मैंने उनसे कुछ मांगा था और मुझे वो मिल गया था। पहली बार जब मुझे हमारे गुरु के ए अब्बास के बाद अवार्ड मिलना था। आयोजक चाहते थे कि मैं मुख्यमंत्री मनोहर जोशी के हाथों से पुरस्कार ग्रहण करूं, लेकिन मैं अड़ गया। मैंने कहा मुझे ये अवार्ड अमिताभ बच्चन के हाथों से लेना है। उन लोगों ने कहा मुझे खुद बिग बी से बात करनी होगी। मैंने बिग बी से बात की और व्यस्त होने के बावजूद वे मान गए। कार्यक्रम की सुबह मैं प्रतिक्षा के बाहर खड़ा हो गया। मुझे बताया गया कि वे सो रहे थे। उन्होंने बीती रात एक अवार्ड फंक्शन अटैंड किया था, जहां उन्होंने एक स्पीच भी दी। उस स्पीच में उन्हें अनिल कपूर का नाम लेना था। हम अनिल कपूर के घर चले गए। अनिल कपूर और बिग बी की एक मीटिंग होने वाली थी। सन एन सैंड होटल के बाहर भीड़ बिग बी का बेसब्री से इंतजार कर रही थी। वे जब होटल से बाहर निकले तो आलम देखने लायक था। उन्होंने एक स्पीच दी और उसमें मेरा नाम लिया यही नहीं उन्होंने जमकर मेरी तारीफ भी की। बतौर पत्रकार मैं आश्चर्यचकित हो गया। उन्होंने दर्शकों से कहा कि, उन्हें मेरे बारे में एक चीज समझ नहीं आती है कि मैं कैसे किसी इंटरव्यू को बगैर लिखे याद रख लेता हूं। मुझे पेन पेपर की जरूरत नहीं होती है और जब वो इंटरव्यू या लेख छपता है तो उसमें कोई गलती नहीं होती है। उन्होंने एक बार मुझसे इसका राज भी पूछा था मुझे बहुत अजीब लगा, सोचा जवाब क्या दूं। उस दिन की सुबह मैं आसमान में उड़ने लगा।

कुछ सालों बाद मुझे उन्हें किसी पार्टी के लिए न्यौता देना था। उस वक्त बोफोर्स केस चल रहा था। मैंने उन्हें बुलाया लेकिन उन्हें ताज होटल जाना था। पार्टी शुरू हो गई, सभी बड़े स्टार्स पार्टी में आने लगे। लेकिन मेरी नजरें तो बस उन्हें ही ढूंढ रही थी। मैं गेट के पास ही खड़ा था। मेरे कुछ दोस्तों ने मेरा मजाक उड़ाते हुए कहा कि, कहां गए तुम्हारे अमिताभ बच्चन। मैं चुप रहा लेकिन दिल से आवाज आती रही कि वे जरूर आएंगे। करीब दस बजे मैंने देखा कि एक लम्बा सा आदमी गेट के पास खडा है। मुझे अपनी आंखों पर यकीन नहीं हुआ। वो बिग बी ही थे। जैसे ही वे पार्टी में शामिल हुए पार्टी का माहौल खुशनुमा हो गया। सभी लोग उनके साथ फोटो खिंचवाने और उनका आटोग्राफ लेने के लिए उतावले हो गए।

एक बार और सेंटौर होटल में एक अवार्ड फंक्शन होना था और उसी शाम प्रीतिश नंदी भाई अपना अवार्ड फंक्शन करना चाहते थे। मेरे बॉस चाहते थे हमारे फंक्शन में तमाम बड़ी हस्तियों के साथ खासकर अमिताभ बच्चन आएं। होटल लीला में ये कार्यक्रम होना था। मुझे फिर से उन्हें बुलाने की जिम्मेदारी मिली। मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कैसे मैं उनसे कहूं। मुझे याद है नंदी के फंक्शन की पहली गेस्ट अभिनेत्री तनूजा ने हमारी पार्टी में आकर कहा था कि उस पार्टी में उन्हें पानी तक नहीं मिला। सभी स्टार्स हमारी पार्टी में आने लगे, लेकिन मेरी उम्मीद बिग बी के साथ टिकी रही। सभी लोगों ने रात 2 बजे तक इंतजार किया। मैंने सबसे कहा कि, बिग बी जरूर आएंगे। रात को ढाई बजे मैंने देखा वे अपनी गाड़ी से आए और पार्टी में शरीक हुए। उनके साथ जया बच्चन और डैनी भी थे। उसके बाद तो पार्टी में रंग आ गया। पूरी रात पार्टी चलती रही। सुबह तक सभी बिग बी के नशे में झूमते रहे।
गणतंत्र दिवस था और सभी पत्रकार दोस्तों के लिए वार्षिक अवकाश। मैं इससे एक दिन पहले ही बिग बी से मिला था और उनसे इस दिन पर अपने दर्शकों के लिए कुछ लिखने की गुजारिश भी की थी। उन्होंने कहा था लिखने की क्या जरूरत है। मैं खुद वहां आ जाऊंगा। मुझे यकीन नहीं हुआ लेकिन उन्होंने यकीन दिलाया कि वे जरूर आएंगे। मैंने सभी कर्मचारियों से कहा बिग बी आ रहे हैं। उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। लेकिन जब मेरे मालिक को इस बारे में पता चला तो उन्होनें बखेड़ा खड़ा कर दिया। उन्होंने कहा कि अगर बिग बी इस कार्यक्रम में आते हैं तो वे इसमें शामिल नहीं होंगे। वर्करस और मालिक के बीच एक अनचाही जंग छिड़ गई। मुझे समझ नहीं आया मैं क्या करूं। मैं बिग बी से कैसे कहता उन्हें यहां आने का प्लान कैंसल करना पड़ेगा। मैं पास के बूथ में गया और उन्हें फोन लगाया। उन्होंने मेरे कुछ भी कहने से पहले ही कहा कि अली मैं जानता था ऐसा ही कुछ होने वाला है। तुम चिंता मत करो। मेरी दुआएं बस उन वर्करस तक पहुंचा देना। ब्रीच कैंडी अस्पताल जहां वे तीन महीने तक जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे थे, मैं रोजाना उनसे मिलने वहां जाता था और घर आने के बाद रोज अकेले उनकी और खुदा की तस्वीर के सामने बैठकर दुआ मांगता था ऊपर वाले तू इस इंसान को मार नहीं सकता है। मैं रोजाना ये लाइन कम से कम हजार बार दोहराता था और फिर सो जाता था। मैं वहीं था जब प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी स्वयं अस्पताल उनसे मिलने आईं थी। उस वक्त ऐसी अफवाहें फैल गई थी कि उनकी मृत्यु हो गई है। अस्पताल के बाहर जबरदस्त भीड़ इकट्ठा हो गई थी। लेकिन सच तो ये है कि उस दिन के बाद उन्हें नया जीवन मिला था और ये सब एक चमत्कार जैसा ही लगता है।

Ajitabh-Bachchan-Ramola

एक बार मुलूंद से कुछ युवक मेरे पास आए और कहने लगे कि वे अभी कोचिंग स्कूल के बच्चे हैं और इस कोचिंग स्कूल की दसवीं वर्षगांठ है। वे चाहते हैं कि बिग बी उनके इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहें। ये फंक्शन क्रिसमस पर होने वाला था। मुझे लगा ये मुश्किल है लेकिन मैं कोशिश करना चाहता हूं उन बच्चों के लिए। वे कांदीवली में शूटिंग कर रहे थे। मैं एक आटोरिक्शा ड्राइवर को जानता था और वो बिग बी का बहुत बड़ा फैन था। जब मैंने उसे बिग बी के बारे में बताया तो वो भी पागल हो गया। वो अपना काम धंधा सब भूलकर मेरे साथ हो लिया। मैंने बिग बी को फंक्शन के बारे में पूरा बताया और उन्होंने मुझे अपने सेक्रेटरी से बात करने को कहा।मैंने वैसा ही किया, मैं खरे के पास चला गया और फंक्शन की पूरी जानकारी दे दी। बच्चें मेरे घर पर सुबह नौ बजे तैयार होकर पहुंच गए। मैं प्रतीक्षा पहुंचा। बिग बी सो रहे थे। उन्हें मेरा संदेश मिला। वे दस मिनट में तैयार होकर नीचे आ गए। उन्होंने पजामा कुर्ता पहन रखा था। उन्होंने देरी के लिए माफी भी मांगी। उन्होंने मेरी गाड़ी के बारे में पूछा लेकिन मैंने बड़ी ही उदासी से उन्हें बच्चों की मारूति 800 दिखा दी। वे उस गाड़ी में बच्चों के साथ बैठ भी गए। जब सिक्योरिटी ने उन्हें इस गाड़ी में बैठा हुआ देखा तो वे मुझसे पूछने लगे मैं बिग बी को लेकर कहां जा रहा हूं। हम मुलूंद पहुंच गए। वहां हजारों की तादाद में बच्चें उपस्थित थे, उनके माता-पिता और शिक्षक भी थे। सब लोग बिग बी का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। उन्होंने एक शानदार स्पीच दी और कहा कि आज के दिन की शुरुआत इतनी अच्छी हुई है जिसकी कल्पना नहीं की जा सकती है। डांस और गानों के साथ फंक्शन खत्म हुआ। भीड़ बिग बी को देखकर मुग्ध हो गई। उनका मूड भी खूब अच्छा था जब तक हम ट्रैफिक जाम में नहीं फंसे। वो मेरे तनाव के हालातों की शुरुआत थी। उन्होंने कहाँ कि अली मैं बड़ी मुसीबत में हूं। प्लीज मेरे सिक्योरिटी गार्ड को फोन करो मुझे यहां से जल्दी निकलना है। मुझे अस्थमा का अटैक आया है। बाकी का सफर किसी हिंदी फिल्म का सीन लग रहा था। उन्होंने अपना आपा खोना शुरू कर दिया था। हम किसी तरह से प्रतीक्षा पहुंचे। मैं एक ही सुबह में इतना खुश और शाम को इतना डरा हुआ कभी नहीं हुआ।

एक बार उन्होंने फिल्म शराबी की शूटिंग भी रद्द कर दी थी। मेरे एक डॉक्टर दोस्त ने एक बार मुझसे अपने अस्पताल के उद्घाटन में बॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियों को बुलाने के लिए कहा था। धर्मेंद्र, सुनील दत्त और अमिताभ बच्चन। मुझे अजीब लग रहा था, लेकिन वो डॉक्टर मरने वाला था। बिग बी फिल्म सिटी में शूटिंग कर रहे थे। मैंने उस डॉक्टर की ख्वाहिश के बारे में बताया। बिग बी ने मुझे मढआईलैंड के बंगलो आने के लिए कहा। कई डॉक्टर्स भी मेरे साथ वहां गए। बिग बी का पूरा परिवार वहीं रहता था। बिग बी के भाई अजिताभ की पत्नी रमोला ने मुझे देखा और पूछा क्या चाहिए। उन्होंने कहा मैं अभी सुबह घर लौटी हूं, तुम मुझे जगाने आ गए। तुम जाओ और बैठो। मैं तुम्हारी कोई मदद नहीं कर सकती हूं। मैं उन्हें नहीं जानता था और मुझे उस वक्त बहुत दुख हुआ। मैंने जया जी को सीढि़यों से नीचे उतरते हुए देखा। उन्होंने मुझे देखा और कहा अली तुम यहां इस वक्त क्या कर रहे हो। मैंने उन्हें पूरी कहानी बताई। वे बिग बी के पास गईं और बिग बी 15 मिनट में तैयार होकर नीचे आ गए। उन्होंने पूछा गाड़ी कहां है? मैंने कहा मैंने ड्राइवर को छुट्टी पर भेज दिया है। आज रविवार है। हम उनकी व्हाइट अंबेसडर में बैठ गए। उन्हें डॉक्टरों ने गाड़ी धीरे चलाने को कहा है। हम उस दोस्त के अस्पताल पहुंच गए। वहां लोगों की भीड़ इकट्ठा थी। उन्हें बुहत गुस्सा आया, उन्होंने इस इवेंट को सार्वजनिक करने से मना किया था, लेकिन डॉक्टर ने उत्साह में पूरी अंधेरी में ये खबर फैला दी। उसके बाद पास की पुलिस की मदद से भीड़ को काबू किया गया। मैं भीड़ में फंस गया था लेकिन किसी तरह से वहां से बच निकलने में कामयाब रहा। दूसरे दिन सुबह उन्होंने मुझे फोन किया और कहा कमाल के आदमी हो तुम, मुझे छोड़ दिया और खुद भाग गए। मैं उन्हें कैसे कहता कि मुझे बचने के लिए क्या नहीं करना पड़ता है।

दीपावली का वक्त था और मुझे मैगजीन के लिए एक स्पेशल इशू निकालना था जिसमें मैं कुछ बड़े स्टार्स के इंटरव्यू लेना चाहता था, जो स्टार्स अस्पतालों में जाकर रोगियों के जीवन में रोशनी की किरण डाल सके। मैंने सोचा कि बिग बी को उसी अस्पताल का दौरा करने के लिए कहूं, जहां उन्होंने मौत को बहुत करीब से देखा और जिंदगी की जंग जीती। बिग बी ने तुरंत इसके लिए हामी भर दी। वे उस अस्पताल गए और रोगियों से मुलाकात भी की। मैं चाहता था हमारे गुरू के ए अब्बास के नाम पर जुहू के एक रोड का नामकरण हो, मैं जानता था कि ये फंक्शन बिग बी के बगैर अधूरा है। मैंने उन्हें इस फंक्शन के बारे में बताया और कहा किस तरह से लोग इस काम में शिद्दत से जुटे हैं। वे उस वक्त फिल्म सिटी में शूटिंग में व्यस्त थे। लेकिन उन्होंने वक्त निकाला और वे सही वक्त पर आए। वे पहले उसी रास्ते से अब्बास साहब के ऑफिस जाने लगे जिससे हमेशा जाते थे, ये उनके लिए एक यादगार सफर होता था। उन्हें बाद में ऋषि कपूर और अब्बास साहब के बीच के संबंधो के बारे में पता चला।

अब वैसा कुछ भी नहीं है। बिग बी बहुत बड़े स्टार हैं। उनके पास सांस लेने का वक्त नहीं है। लेकिन मैं उनसे मिलने की कोशिश करता रहता हूं। यही नहीं मैंने लता जी के अवार्ड फंक्शन में उन्हें मुख्य अतिथि के रूप में बुलाने का प्रयास किया। मैंने उनसे बात की और उन्होंने हरी झंडी दिखाई। वे जया के साथ आए लेकिन लता जी खुद किसी कारण से वहां पहुंच नहीं पाईं। बिग बी ने फोन पर लता जी से बात की और सुभाष घई जी के हाथों से पुरस्कार लिया।

अब मुझे उन्हें कहीं भी बुलाने के लिए सौ बार सोचना पड़ता है। उनके पास वक्त की बहुत कमी है। कुछ समय पहले जब मैंने उन्हें मेरी मैगजीन के लिए कुछ लिखने के लिए कहा तो उन्होंने साफ कह दिया कि उनके पास बिल्कुल वक्त नहीं है। कौन सा ऐसा स्टार है आज के समय में जो 72 साल की उम्र में भी इतना व्यस्त रहता है?


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये