लॉकडाउन – 2021ः छन छन करके आती खबरें

1 min


बॉलीवुड के तमाम रंगरूट छोरे-छोरियां टेलीफोनियाए हुए हैं। शहर में लॉकडाऊन का स्वरूप पसरा हुआ है। कहीं जा नहीं सकते। शूटिंग रुक गई हैं। ऐसे में वे करें क्या? खबरें सुनने सुनाने की आदत है। फोन करने पर रोक है नहीं, और ना ही सिनेमा की खबरों से वायरस फैलने के संक्रमण का डर रहता है। लिहाजा तमाम खबरें हैं जो निर्माता, निर्देशक, कलाकारों की बैठक से उनके चमचों तक फिर पीआरओ तक और फिर पीआरओ से पत्रकारों तक पहुंच रही हैं। आइए, कुछ जायकेदार खबरों का मज़ा आप भी लीजिए-

आलिया भट्ट को लेकर चर्चा थी कि वे कोविड संक्रमित थी। पापा महेश भट्ट ने बेटी का खूब ख्याल रखा। अपनी दुलारी बिटिया को कॉपी मास्टर भट्ट ने बहुत पहले गुलज़ार साहब की लिखी एक कविता को अपनी कहकर सुना दिया। और, फिर बाद में बताए कि यह उनकी लिखी नहीं है तो आलिया खूब हंसी। आप भी सुनिए वो कविता जो कोरोना से थोड़ी इत्तेफाक रखती है –
“बेवजह घर से निकलने की ज़रूरत क्या है
’मौत’ से आंख मिलाने की ज़रूरत क्या है
सबको मालूम है बाहर की हवा है कातिल
यूँ ही कातिलों से उलझने की ज़रूरत क्या है?“

सुना है यह कविता आलिया भट्ट ने अपनी लिखी हुई कहकर रणबीर कपूर को सुनाया है। अब रणबीर कपूर किसे सुनाएंगे … खबरी का फोन आने दीजिए!

लॉकडाऊन के दौरान धर्मेंद्र को लेकर खबर है कि वह इनदिनों ’’कम्प्लीट रिटायर हो चुके हैं’’- यह मानकर मज़े से दिन गुजार रहे हैं। सीनियर देओल अपने दो जवान पोतों (ग्रैंडसन) को अपने पास बिठाए रखने के लिए अपने फिल्मी जीवन की कहानियां  सुनाते रहते हैं। सनी – पुत्र करण के पास कम समय होता है क्योंकि वह हमेशा फोन पर बतियाने में लगे होते हैं अपनी दोस्तीनियों के साथ। बॉबी – पुत्र  आर्यमान दादू को पूरा समय देते हैं। आर्यमान बिजनेस मैनेजमेंट का कोर्स अमेरिका से करके आये हैं। पहले आईटी व्यवसाय में जुड़ कर बिजनेस करना चाहते थे, अब खानदानी फिल्मी व्यवसाय में खूब रुचि ले रहे हैं। फिल्मो में कामयाब होने का गुर दादू से पूछते रहते हैं। दादू सब कुछ तो बताते हैं लेकिन हेमा मालिनी के साथ के अपने रोमांटिक फिल्मों के किस्से सुनाना होता है तो बहका जाते हैं।

शाहरुख खान के घर से खबर है कि पुत्र आर्यन को दिन रात फ़ोन पर देख कर बादशाह खान को गुस्सा आने लगा है। वह पत्नी गौरी को कहते हैं कि हम अब तक पुत्रमोह में उसको ज्यादा लाड़ प्यार दिए हैं। शाहरुख ने दूसरे पुत्र अबराम पर ध्यान देने की ज़रूरत महसूस किया है। पता चला है आर्यन की गर्ल फ्रेंड्स की संख्या बहुत हो गई है सो फोन से उनको फुर्सत मिले भी तो कैसे?

कोरोना की दूसरी लहर और लॉक डाऊन से संजय दत्त को घर मे बच्चों के साथ समय बिताने का जैसे भरपूर मौका मिल गया है। जिस बचपन को वह अपने जीवन मे मिस किये हैं उसको जीने का जैसे अवसर पा गए हैं। खबर कैटरीना के फुसफुसीए के यहां से भी है। कैट और उनकी बहन इसाबेल तास के पत्ते फेंटकर दहला पकड़ खेलते हुए समय बिता रही हैं। हैरान हो रहे होंगे आप…हम भी हैरान हुए हैं इन खबरों पर। पर यह भी सच है कि कोरोना की दहशत ने सबको घर मे बंद कर दिया है। सबका एक ही मानना है कि इस समय जान है तो जहान है। घर पर हर किसी के लिए ’नो एंट्री’..! पर स्टार हैं खबरें तो बनती हैं।

SHARE

Mayapuri