मूवी रिव्यू: जटिल लव यानि ‘Love Aaj Kal’

1 min


Love Aaj Kal 2 रेटिंग***

आज से करीब दस साल पहले इम्तियाज अली ने सैफ अली खान और दीपिका पादुकोण को लेकर लव आज कल बनाई थी। अब उसी फार्मेट को लेकर उन्होंने आज के यूथ आइकॉन कार्तिक आर्यन और सारा अली खान को लेकर फिल्म ‘ Love Aaj Kal 2’ का निर्देशन किया है। लेकिन यूथ पर आधारित हुये भी इस फिल्म के विषय को कुछ ज्यादा ही जटिल बना दिया गया है लिहाजा फिल्म दर्शकों से पूरी तरह नहीं जुड़ पाती।

कहानी

जुई (सारा अली खान) के बिंदास कॅरियर वूमन बनना चाहती है लिहाजा वो लड़कों के साथ तफरी करने में तो यकीन करती है लेकिन सीरियसली प्रेम प्यार के चक्कर से दूर रहती है। एक बार वो एक सीधे सादे लड़के वीर (कार्तिक आर्यन) से टकराती है तो वो उसे इतना पंसद आता है कि वो उसके साथ सेक्स रिलेशन तक बनाने को तैयार हो जाती है, लेकिन उसे उस वक्त बहुत अजीब लगता है जब वीर उसे स्पेशल कहते हुये उसके साथ सोने से इंकार कर देता है। हालांकि वीर बाद में सारा का लगातार पीछा करता रहता है। सारा के वर्किंग प्लेस का मालिक है रणदीप हुडडा, जो उसे बताता है कि वीर उसके लिये पूरी तरह सीरियस है। इसके बाद वो उसे अपनी लव स्टोरी बताता है। जिसमें रणदीप की युवा अवस्था रघू के तौर पर कार्तिक को ही दिखाया गया है। उदयपुर में रघू अपने स्कूल टाइम से ही लीना (आरूषि शर्मा) को चाहने लगता है। अपने प्यार के चक्कर में दोनों इस कदर बदनाम हो जाते हैं कि उन्हें उदयपुर छोड़ना पड़ जाता है। ये सब सुनकर जुई वीर के प्रति सीरियस हो जाती है, लेकिन एन वक्त पर उसे अपना कॅरियर याद आता है। लिहाजा वो वीर के साथ ब्रेकअप कर अपने काम में लग जाती है। बाद में क्या वो वीर के बिना रह पाती है और रघू और लीना के प्यार का क्या हुआ ? ये सब जानने के लिये फिल्म देखनी पड़ेगी।

अवलोकन

इम्तियाज अली रिश्तों को लेकर गढ़ी गई इमोशन जटिलता को दर्शाने में माहिर है लेकिन इस बार वे अपने पहली फिल्म वाले फॉर्मेट को दोहराने में प्यार की जटिलता को लेकर चूक गये। उन्होंने प्यार और करियर के बीच इतनी जटिलता दर्शा दी जो दर्शक के पल्ले नहीं पड़ पाती। इसके अलावा फिल्म की लंबाई भी चुभती है। विषय को दोबारा दिखाने के चक्कर में स्क्रीनप्ले काफी वीक हो गया। फिल्म के मुख्य किरदार भी कई जगह ओवर करते दिखाई देते हैं। संगीत की बात की जाये तो प्रीतम के कंपोज किये दो गीत ‘शायद’ और ‘हां मैं गलत’ अच्छे बन पड़े हैं। फिल्म में कुछ संवाद भी अच्छे हैं जैसे आना तो पूरी तरह आना आदि। कैमरावर्क काफी खूबसूरत है।

अभिनय

इस में कोई दो राय नहीं कि सारा अली खान एक प्रतिभावान अभिनेत्री है इस बार वो एक अति बोल्ड और बिंदास लड़की की भूमिका में बेहद खूबसूरत और ग्लैमरस लगी है, लेकिन निर्देशकीय गलती के कारण वो कई जगह ओवर कर जाती है। इसी प्रकार कार्तिक आर्यन को भी अपनी पूरी प्रतिभा दिखाने का अवसर नहीं मिल पाया। हां रघू के तौर पर वे स्माल टाउन के स्कूल ब्वाय के तौर पर अच्छे लगते हैं। रणदीप हुडडा ने पता नहीं क्यों इतनी बेजार भूमिका के लिये हां की। उनके अलावा आरूषि शर्मा ने पूरी सहजता के साथ अपनी भूमिका को सही अंजाम तक पहुंचाया। बाकी सहयोगी कलाकार भी ठीक रहे।

क्यों देखें

सारा अली खान और कार्तिन आर्यन जैसी फ्रेश जोड़ी और रणदीप के लिये फिल्म देखी जा सकती है।

और पढ़े: किन्नर बहू की सास Kamya Punjabi ने पति को किया लिप टू लिप किस, फोटो हुई वायरल

 


Like it? Share with your friends!

Shyam Sharma

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये