मूवी रिव्यू: अधकचरी डब फिल्म है – ‘लव यू आलिया’

1 min


रेटिंग*

बेशक आज साउथ इंडियन डब फिल्मों का हिन्दी चैनल्स पर बहुत क्रेज है। लेकिन इंन्द्रजीत लंकेश द्धारा निर्देशित साउथ की डब फिल्म ‘लव यू आलिया’ किसी भी स्तर पर सही फिल्म साबित नहीं हो पाती ।

 कहानी

नायिका संगीता चौहान की मां भूमिका चावला एक क्लासिक्ल डासं टीचर हैं जबकि पिता रवि चंद्रन बिजनेसमैन। लेकिन दोनो का तलाक हो चुका हैं इसलिये संगीता को शादी नाम से ही चिढ़ है। उसे चंदन नामक लड़का प्यार करने लगता है जो एक मैरीज ब्यूरो चलाता है । उसके अलावा उसे एक गुडां भी प्यार करने लगता है। बाद में लड़की किस प्रकार गुडें से पीछा छुड़ाने में कामयाब हो पाती है और हीरो किस प्रकार उसके दिल में प्यार जगाने में कामयाब हो पता है ।

sunny_kamakshi

निर्देशन, अभिनय, संगीत

फिल्म के ऑरिजनल वर्जन को साउथ की पैरस से काफी सराहना हासिल हुई थी,। शायद इसी बात से प्रेरित हो निर्माता ने फिल्म को डब कर हिन्दी में करने का फैसला किया जो पूरी तरह से गलत साबित हुआ। क्यों फिल्म अपने किसी भी भाग में प्रभावित नहीं कर पाती । न निर्देशन में, न ही अभिनय में। कहने को फिल्म का भूमिका चावला की वापसी प्रचारित किया है लेकिन भूमिका का बेस ही गलत हैं क्योंकि उसका क्लासिकल डांस से दूर दूर तक संबन्ध नहीं परन्तु फिल्म में उसे क्लासिकल डांस टीचर दिखाया गया है । बस फिल्म की लोकेषंस और कैमरा वर्क कमाल का है। इसके अलावा फिल्म की नामावली में सनी लियोनी और कन्नड स्टार सुदीप का नाम है जबकि सनी का एक आइटम है और सुदीप के दो सीन्स हैं ।

LUV-U-ALIA-4

क्यों देखें

इसमे कोई दो राय नहीं कि फिल्म में भूमिका चावला की वापसी जैसी बातें भी दर्शक को फिल्म तक लाने के लिये प्रभावित नहीं कर सकती। बेशक आप इसे अधकचरी डब फिल्म कह सकते हैं।

SHARE

Mayapuri