उपलब्धियां पर कितनी? – मदन पुरी

1 min


Madan_Puri

मायापुरी अंक 51,1975

मदनपुरी से भंवर की शूटिंग में मुलाकात हुई। वहीं पर दादा मुनि (अशोक कुमार) भी बैठे अपने शॉट का इंतजार कर रहे थे। मदन पुरी पहले तो दादा मुनि को पहले याद दिलाता रहे कि सबसे पहले वह कब और कहा मिल थे और कौन-सी फिल्म में उन दोनों ने इकट्ठे काम किया था लेकिन जब दादा मुनि को याद न आया तो वह अपनी फिल्मी जीवन के बारे में बताने लगा।

उन्होंने बताया कि वह सबसे पहले हीरो के रूप में आये थे सन 1947 और 48 में उसने दो तीन फिल्मों में हीरो के रूप में काम किया लेकिन वह पिक्चरें बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से पिट गई तो किसी निर्माता ने भी उन्हें हीरो न लिया तो उन्होंने विलेन के रोल स्वीकार करने शुरू कर दिये और इसमें उन्हें सफलता भी मिली। आज तक वह कुल मिलाकर 150 फिल्मों के रूप में आ चुके हैं। इसके अलावा 10 फिल्में ऐसी हैं जिनमें उन्होंने चीनी आदमी के रोल किये हैं। और 50 एक फिल्में और हैं जिनमें उन्होंने तरह-तरह के कैरेक्टर रोल किये हैं।

और मुझे अफसोस इस बात का हो रहा था कि इतनी फिल्में करने के बाद भी मदनपुरी का वह ग्रेड नहीं बना है जो कि बनना चाहिए था। अब इसको क्या कहूं? किस्मत की कमी या..?


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये