मधुर भंडारकर

1 min


कई सीरियस इशूज़ को फिल्मो के रूप मे दिखा चुके हैं मधुर भंडारकर

हीरोइन और फ़ैशन जैसी सफल और चर्चित फिल्मो के निर्माता मधुर भंडारकर का आज जन्मदिन है उनका जन्म आज के ही दिन यानि 26 अगस्त 1968 को मुम्बई मे ही हुआ था। मधुर भंडारकर एक भारतीय फिल्म निर्देशक, पटकथा लेखक और निर्माता हैं। वह फिल्म जगत में चांदनी बार, पेज 3, ट्रैफिक सिग्नल और फैशन जैसी सरीखी फिल्मों के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने ट्रैफिक सिग्नल के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।

यदि इनकी पर्सनल लाइफ के बारे मे कहा जाए तो 15 दिसम्बर 2003 को अपनी प्रेमिका रेणु नंबूदिरी भंडारकर से शादी के बाद उनकी एक बेटी है जिसका नाम सिद्धि है। एशियाई फिल्म और टेलीविजन अकादमी, नोएडा के अंतर्राष्ट्रीय फिल्म और टेलीविजन रिसर्च सेंटर के मधुर आजीवन सदस्य हैं। मधुर का बचपन बेहद संघर्षपूर्ण रहा। कहा जाता है की भंडारकर को स्कूल से निकाल दिया गया था। उनके पिता एक बिजली ठेकेदार थे, लेकिन जब वे लगभग बारह वर्ष के थे, तो व्यापार में भारी नुकसान हुआ और मधुर को अध्ययन के साथ-साथ काम भी करना पड़ा। उन्होंने चपरासी के रूप में एक वीडियो की दुकान पर काम किया और डांस बार लड़कियों से लेकर फिल्मी सितारे तक कई क्षेत्रों में लोगों को कैसेट देने जाते थे। साथ ही उन्होंने ट्रैफिक सिग्नलों पर च्विंग गम बेचने का काम किया और एक थोड़े समय के निर्देशक के साथ सहायक के रूप में काम किया और इस काम के लिए उन्हें वेतन के रूप में 1000 रुपए मिलते थे। उन्होंने दुबई की भी यात्रा की जहां उनके एकलौते भाई और बड़ी बहन काम की तलाश में थे। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत बतौर सहायक निर्देशक के रूप में की। मधुर भंडारकर को फिल्म इंडस्ट्री में सफलता 2001 में आई फिल्म “चांदनी बार” से मिली। इस फिल्म मे तब्बू, कुलकर्णी ने अभिनय किया किया था। इस फिल्म की सफलता ने उन्हें हिंदी सिनेमा के टॉप निर्देशकों में शुमार कर दिया। उन्हें इस फिल्म के लिए प्रथम राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया। उसके बाद उन्हें उनकी अगली फिल्मों जैसे पेज 3 और ट्रैफिक सिग्नल के लिए भी राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया। इसके अलावा हाल ही में, भारत का राष्ट्रीय फिल्म अभिलेखागार (एनएफएआई), जो कि सूचना और प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के मंत्रालय के अंतर्गत आता है, प्रसिद्ध भारतीय फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर की सभी फिल्मों को संरक्षित किया है। चांदनी बार, पेज -3, कॉर्पोरेट, ट्रैफिक सिग्नल, फैशन और जेल, इस फिल्म निर्माता की सभी यथार्थवादी फ़िल्में हैं जिन्हें अब सरकार के अभिलेखीय भण्डार में भारतीय फिल्मों की सूची में स्थान मिला है।

इनकी प्रमुख फिल्मे हैं ‘दिल तो बच्चा है जी, जेल, फैशन, ट्रैफिक सिग्नल,कॉर्पोरेट, पेज 3, आन – मैन एट वर्क, चांदनी बार, हीरोइन आदि जिसके लिए मधुर ने अपनी पहचान बॉलीवुड मे बनाई है जिसके लिए इन्हें कई अवार्ड्स से नवाज़ गया जैसे 2016 मे पद्म श्री, 2002 बेस्ट फिल्म न इतर सोशल इश्यूज: चांदनी बार, 2005 बेस्ट फिल्म फॉर पेज 3 , 2007 बेस्ट डायरेक्शन फॉर ट्रैफिक सिग्नल और सोफिया अवार्ड्स ऐट सायराक्यूज इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल 2014 आदि इसके अलावा भी इन्हें कई इंटरनेशनल और नेशनल अवार्ड्स मिल चुके हैं। अब ये अपने दो प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे हैं पहला मैडम जी और कॉरपोरेट 2 जो इनकी आने वाली फिल्मे हैं।

SHARE

Mayapuri